वॉटर रिटेंशन हो सकता है आपके वजन बढ़ने का कारण! हम बता रहे हैं इससे निपटने का तरीका

यह पता लगाने के लिए कि कहीं आपका वज़न वॉटर रिटेंशन के कारण तो नहीं बढ़ रहा है, इसके लिए आपको इन संकेतों और लक्षणों पर ध्यान देना चाहिए।
Is motape ka ilaaj hai liposuction
इस मोटापे का इलाज है लिपोसक्शन। चित्र : शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published: 8 Oct 2021, 07:45 pm IST
  • 123

क्या संतुलित आहार खाने और एक्सरसाइज़ करने के बाद भी आपका वज़न बढ़ रहा है? खैर लेडीज, आप अकेली नहीं हैं। आपने सुना होगा कि मानव शरीर में 50 से 60% पानी होता है, लेकिन कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जिनके शरीर में पानी की वजह से उनका वज़न बढ़ने लगता है।

अचानक वजन बढ़ना आमतौर पर हार्मोनल परिवर्तनों के कारण होता है, खासकर जब आपके पीरियड्स चल रहे हों या आप मां बनने वाली हों या आपको पीरियड्स हो रहे हों। यह कभी-कभी कुछ दवाओं के कारण भी हो सकता है। परंतु  यदि ऐसा नहीं है और आप अभी भी अचानक वजन बढ़ने का अनुभव कर रही हैं, तो यह वास्तव में पानी का वजन या वॉटर रिटेंशन हो सकता है, जिसे एडिमा वेट भी कहा जाता है।

इससे पहले कि हम इसके बारे में और जानें, आइए पहले समझते हैं कि क्या है वॉटर रिटेंशन 

“किसी का शरीर मुख्य रूप से पानी से बना होता है। यदि शरीर में जल का स्तर संतुलित नहीं है, तो आप सामान्य से अधिक भारी महसूस कर सकती हैं, क्योंकि शरीर उस पानी पर टिका रहेगा। वॉटर रिटेंशन को किसी के ऊतकों, या शरीर में गुहाओं में तरल पदार्थ के अत्यधिक निर्माण के रूप में वर्णित किया जा सकता है। यह हाथों, पैरों, टखनों और पैरों की सूजन पैदा कर सकता है। यह एक आम स्वास्थ्य समस्या है।

वॉकहार्ट अस्पताल, मुंबई के सलाहकार डॉ. प्रीतम मून ने हेल्थशॉट्स के साथ साझा किया कि – ”आपको यह जानकर हैरानी होगी कि लगातार वॉटर रिटेंशन होना डीप वेन थ्रॉम्बोसिस (डीवीटी), पल्मोनरी एडिमा, या आपके फेफड़ों के अंदर तरल पदार्थ का निर्माण, और यहां तक ​​कि महिलाओं में फाइब्रॉएड जैसी गंभीर स्थितियों का संकेत दे सकता है।”

वॉटर रिटेंशन असहज हो सकता है, लेकिन यह अस्थायी है। वास्तव में, यह वास्तविक वजन नहीं है!

लेकिन क्या है वॉटर रिटेंशन का कारण?

यदि आप वॉटर रिटेंशन से पीड़ित हैं, तो इसके कई कारण हो सकते हैं। यहां हैं डॉ मून के द्वारा बताए गए कुछ कारण

1. बहुत ज्यादा बैठना

हां, लंबे समय तक बैठने के कारण भी वॉटर रिटेंशन होता है, क्योंकि शरीर पानी को पकड़ कर रखता है।

water retention ke karan
ज़्यादा देर बैठ के काम करने से हो सकता है वॉटर रिटेंशन। चित्र : शटरस्टॉक

2. अधिक समय तक खड़े रहना

यह समस्याग्रस्त भी हो सकता है, क्योंकि पर्याप्त रक्त परिसंचरण नहीं है।

3. मासिक धर्म

यह हार्मोन के उतार-चढ़ाव, और वॉटर रिटेंशन का कारण बन सकता है।

4. कुछ दवाएं

यह दवा के दुष्प्रभाव के रूप में वॉटर रिटेंशन का कारण बन सकता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

5. हृदय रोग

क्या आप जानती हैं? कमजोर दिल के कारण भी वॉटर रिटेंशन हो सकता है।

6. गर्भावस्था

गर्भावस्था के दौरान वजन में उतार-चढ़ाव से वॉटर रिटेंशन हो सकता है।

7. गर्म मौसम की स्थिति

कभी-कभी, शरीर ऊतकों में जमा द्रव को समाप्त करने में असमर्थ होता है, और वॉटर रिटेंशन देखा जाता है।

water retention ke karan
नमक कम ही खाएं। चित्र : शटरस्टॉक

8. सोडियम की अधिक खपत

यदि आप दैनिक आधार पर सोडियम से भरे प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ खाने के अभ्यस्त हैं, तो आप वॉटर रिटेंशन देख सकते हैं।

इसके अलावा, आप यह जानकर चौंक जाएंगे कि वॉटर रिटेंशन अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का एक चेतावनी संकेत हो सकता है, जिसमें गुर्दे की बीमारियां जैसे नेफ्रोटिक सिंड्रोम, ल्यूपस, एलर्जी प्रतिक्रियाएं, गठिया, या यहां तक ​​​​कि वातस्फीति जैसी पुरानी फेफड़ों की बीमारियां भी शामिल हैं। डॉ मून ने सुझाव दिया कि वॉटर रिटेंशन के कारणों को निर्धारित करना और इससे निपटने के लिए उचित उपाय करना समय की आवश्यकता है।

पानी बहते रहने के लिए आप क्या कर सकते हैं?

1. अपना सोडियम सेवन कम करें: आलू के चिप्स, नमकीन, वड़ा, समोसा, ब्रेड, भजिया, डिब्बाबंद सब्जियां, आइसक्रीम, कैंडी, स्वाद वाले खाद्य पदार्थ, पास्ता, पिज्जा और बर्गर जैसे नमकीन खाद्य पदार्थों का सेवन न करें। विशेषज्ञ से पूछें कि आपको प्रतिदिन कितने नमक की आवश्यकता है।

2. पोटेशियम और मैग्नीशियम से भरपूर खाद्य पदार्थ खाएं: आप टमाटर, केला, एवोकाडो या पालक खा सकते हैं।

3. पर्याप्त प्रोटीन खाएं: संतुलित प्रोटीन का सेवन वाटर रिटेंशन को रोक सकता है।

4. अपने पैरों को ऊपर उठाएं: ऐसा करने से उचित रक्त प्रवाह सुनिश्चित हो सकता है, और आपको वाटर रिटेंशन से बचने में मदद मिलती है।

5. संपीड़न मोज़े: यह पैर को निचोड़ने में मदद करता है, और द्रव संचय से बचने में मदद करता है जिससे वाटर रिटेंशन होता है।

6. विटामिन बी6 से भरपूर खाद्य पदार्थ खाएं: सोयाबीन, ओट्स और मूंगफली वॉटर रिटेंशन को रोकने में आपकी मदद कर सकते हैं।

water retention
विटामिन बी एक जरूरी विटामिन है। चित्र: शटरस्‍टॉक

7. कार्ब्स न लें: वे उच्च रक्त शर्करा और इंसुलिन के स्तर का कारण बनेंगे। इसके अलावा, उच्च इंसुलिन का स्तर अधिक सोडियम बनाए रखेगा और वॉटर रिटेंशन होगा।

8. हाइड्रेटेड रहें: वाटर रिटेंशन से बचने के लिए पर्याप्त पानी पीने की कोशिश करें।

9. व्यायाम: पैदल चलने से आपको द्रव संचय से बचने और रक्त परिसंचरण को बढ़ाने में मदद मिल सकती है। और सूजन भी नहीं होगी। इसलिए रोजाना 30 मिनट एक्सरसाइज करें।

10. हेल्दी सही डाइट लें : वॉटर रिटेंशन बचने के लिए ताजे फल, सब्जियां और डेयरी उत्पाद खाएं।

11. अपने फाइबर का सेवन बढ़ाएं: यदि आपके आहार में फाइबर कम है, तो आप संचित पानी से प्रभावी तरीके से छुटकारा नहीं पा सकेंगी।

12. प्राकृतिक मूत्रवर्धक: पत्ता गोभी, खीरा और अजमोद का सेवन करें क्योंकि ये प्राकृतिक मूत्रवर्धक हैं। कॉफी और शराब का सेवन कम करें।

यदि आप वाटर रिटेंशन का अनुभव कर रही हैं, तो इसके इलाज के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श करना महत्वपूर्ण है।

यह भी पढ़ें : वेट लॉस बनाम फैट लॉस : जानिए दोनों में क्या है अंतर और क्या है बेहतर

  • 123
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख