और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

जानना चाहती हैं क्‍यों खास होती है 40 की उम्र? तो हम आपको बता रहे हैं इसके 6 महत्‍वपूर्ण बदलाव

Updated on: 13 January 2021, 16:20pm IST
उम्र भले ही बस एक नंबर है, पर यह अपने साथ कई अच्‍छे और थोड़े बुरे बदलाव लेकर आती है। अगर आप इनके बारे में जानती हैं, तो इनसे निपटना आसान हो जाता है।
विनीत
  • 94 Likes
। चित्र-शटरस्टॉक।

उम्र बढ़ने का डर लोगों में होने वाली सबसे आम आशंकाओं में से एक है। मनोवैज्ञानिकों के अनुसार उम्र के साथ बूढ़े होने की समस्या से डरना स्वाभाविक है। लेकिन आपको अपने डर को दूर करना होगा और समझना होगा कि हर  उम्र के अपने फायदे और नुकसान हैं। इस लेख में, हम आपको बता रहे हैं कि जब आप 40 की उम्र में दाखिल होती हैं, तब आपको किन बदलावों का सामना करना पड़ सकता है।

हमने उम्र बढ़ने के नकारात्मक और सकारात्मक पहलुओं पर विचार करने का फैसला किया। और यह जरूरी नहीं है कि 40 की उम्र के बाद यह भी चीजें आपके साथ हों। क्योंकि यह आपके स्वास्थ्य और जीवन शैली पर निर्भर करता है।

जब हम 40 के करीब पहुंचते हैं, तो शरीर के साथ होते हैं ये 6 बदलाव 

  1. थोड़ा कम हो सकता है आपका कद

लोग 30 के बाद सिकुड़ने लगते हैं और 40 साल की उम्र होने पर आप इन बदलावों को देख सकती हैं। चिकित्सा विज्ञान के लिए अरकंसास विश्वविद्यालय द्वारा एकत्र आंकड़ों के अनुसार, पुरुष धीरे-धीरे 30 और 70 की उम्र के बीच 1 इंच तक सिकुड़ सकती हैं, और महिलाएं लगभग 2 इंच तक सिकुड़ सकती हैं।

अगर आप उम्र के साथ इस बदलाव को नहीं चाहती हैं, तो ऐसे फूड्स का सेवन करें जिसमें कैल्शियम और विटामिन-डी शामिल हो, साथ ही व्यायाम करना न भूलें।

  1. हमारा मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है

अगर 40 की उम्र में, आप वही खाना खाती हैं जो आप 20 साल की उम्र से खाती आ रही हैं, तो आपका वजन बहुत जल्दी और तेजी से बढ़ता है। समस्या यह है कि 40 के बाद, हमारा चयापचय धीमा हो जाता है और हम अधिक तेजी से अपनी मांसपेशियों को खोने लगते हैं।

 

माहवारी शुरू होने से पहले ही पेट फूलने लगता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
आपका वजन बढ़ने लगता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, औसतन महिलाएं 40 और 55 की उम्र के बीच लगभग 15 पाउंड तक वजन बढ़ा लेती हैं। इस अप्रिय समस्या से बचने के लिए, हमें स्वस्थ आहार और व्यायाम का पालन करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: ये 5 जीनियस हेल्थ लाइफ हैक्‍स करवाएंगे आपके शरीर को नया जैसा महसूस

दुर्भाग्य से, कोई जादुई नुस्खा नहीं है जो हमें फिट रखने में मदद कर सकता है। वास्तव में हमें खुद को सही स्थिति में रखने के लिए कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता होगी।

  1. आप ज्‍यादा आकर्षक और आत्मविश्वासी दिखने लगती हैं

मनोवैज्ञानिकों का कहना है कि 20 या 30 के दशक की महिलाओं की तुलना में 40 वर्ष की आयु के बाद महिलाएं अधिक आत्मविश्वासी होती हैं। यह तथ्य उन्हें एक-दूसरे से प्यार करने, छोटी चीज़ों की चिंता न करने, विषाक्त लोगों से छुटकारा पाने और वास्तव में खुश और आर्थिक रूप से स्वतंत्र होने में मदद करता है।

इस उम्र तक आते आपका आत्मविश्वास बढ़ जाता है। चित्र : शटरस्टॉक।उस उम्र में, लोग स्वयं और उनके आसपास के लोगों का पुनर्मूल्यांकन करते हैं। इसलिए महिला और पुरुष दोनों ही दूसरों की नजरों में ज्यादा आकर्षक बन जाते हैं।

  1. बदल सकती है आपकी पसंद-नापसंद

जब हम पैदा होते हैं, हमारे पास लगभग 9,000 स्वाद रिसेप्टर्स (taste receptors) होते हैं। बढ़ती उम्र के साथ, इन रिसेप्टर्स की संख्या कम हो जाती है और हम स्वाद की अपनी भावना खोना शुरू कर देते हैं। वैसे, पुरुषों की तुलना में महिलाओं में ये बदलाव पहले होते हैं।

दुर्भाग्य से, हम इस प्रक्रिया को बाधित नहीं कर सकते, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप विभिन्न स्वादों के बीच अंतर नहीं कर पाएंगे, वे बस कम तीव्र होंगे।

  1. कम हो सकती है दांतों की संवेदनशीलता

अगर आप युवा होने पर दांतों की संवेदनशीलता से पीड़ित हैं, तो जब आपकी उम्र बढ़ती है, तो यह समस्या दूर हो सकती है। यह डेंटिन (एक कैल्सीफाइड ऊतक) के कारण होता है जो समय के साथ बढ़ता है। इसलिए संवेदनशीलता कम हो जाती है।

हालांकि, इसका एक नकारात्मक पहलू भी है, इन परिवर्तनों के बाद, आप यह नहीं समझ सकती हैं कि आपके दांतों में कुछ गड़बड़ है। इसलिए, नियमित रूप से दंत चिकित्सक के पास जाने की सलाह दी जाती है।

दांतो की सेंसिटिविटी कम कम हो जाती है। चित्र- शटरस्टॉक।
  1. हो सकती है लैक्टोज असहिष्णुता

कुछ लोगों को बचपन से ही डेयरी उत्पादों को पचाने में समस्या होती है और कुछ अन्य लोग इस समस्या को उम्र के साथ विकसित करते हैं। लैक्टोज असहिष्णुता आम तौर पर अफ्रीकी अमेरिकी और एशियाई महिलाओं को 40 वर्ष की आयु से अधिक प्रभावित करती है।

इस उम्र में, लैक्टोज को पचाने में मदद करने वाले एंजाइम लैक्टेज का स्तर कम हो जाता है। नतीजतन, दूध पच नहीं सकता है और बड़ी आंत में समस्या का कारण बनता है। अगर आपको यह समस्या है, तो लैक्टोज मुक्त दूध पिएं और प्रोबायोटिक्स का सेवन करें।

यह भी पढ़ें: अगर आपको है अनिद्रा की समस्या, तो ये 5 ट्रिक करेंगी जल्दी सोने में आपकी मदद

हालांकि ये सारे बदलाव उम्र के साथ होने ही हैं। पर सबसे अच्‍छी बात ये है कि 40 की उम्र तक पहुंचते आपका नजरिया काफी मेच्‍योर हो चुका होता है। यही आपको हर परिवर्तन सकारात्‍मक तरीके से लेने में मदद भी करता है।

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।