वैलनेस
स्टोर

क्या सर्दी-जुकाम आपको कर रहा है परेशान? तो राहत पाने के लिए अपनाएं ये 5 घरेलू उपाय

Updated on: 15 September 2021, 11:00am IST
अक्सर बदलता मौसम अपने साथ सर्दी-जुकाम ले आता है। आप कितना भी बचने की कोशिश करें, एक छोटी सी चूक आपको सर्दी-जुकाम से पीड़ित कर देती है। पर शुक्र है कि हमारे पास इससे निपटने के कुछ घरेलू उपाय हैं।
अदिति तिवारी
  • 99 Likes
cold and cough ke liye kaali mirch hai raambaan ilaaj
सर्दी और जुकाम के लिए काली मिर्च है रामबाण इलाज। चित्र: शटरस्टॉक

बंद नाक, गले में खराश और खांसी! ये वे लक्षण हैं, जिन्होंने कोविड-19 (Covid-19 symptoms) के दौरान सबसे ज्यादा डराया है। असल में कोविड-19 संक्रमण और मौसमी संक्रमणों (Seasonal Flu) दोनों में ही ये लक्षण समान रूप से नजर आते हैं। शुक्र है कि कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामलों में कमी आई है। पर बदलते मौसम में आप सर्दी-जुकाम (Cold and cough) से अब भी बच नहीं पा रहे। यह स्थिति खासी तकलीफेदेह हो सकती है। शरीर में दर्द, बुखार, ठंड लगना और नाक बंद होना किसी को भी दुखी करने के लिए काफी है।

इन परेशानियों से झटपट राहत देने के लिए हम बता रहे है कुछ विशेष घरेलू उपचार (Cold and cough home remedies)। आइए जानते हैं इन होम रेमेडीज के बारे में। 

सर्दी-जुकाम से लड़ने के इन 5 घरेलू उपायों पर कर सकती हैं भरोसा 

1. शहद की चाय 

खांसी के लिए एक लोकप्रिय घरेलू उपाय शहद को गर्म पानी में मिलाना है। कुछ शोधों के अनुसार शहद खांसी से राहत दिला सकता है। बच्चों में रात के समय होने वाली खांसी के उपचार पर एक अध्ययन किया गया। इसके अनुसार गहरे रंग के शहद की तुलना खांसी को दबाने वाली दवा डेक्स्ट्रोमेथोर्फन (dextromethorphan) से की गई थी। शोधकर्ताओं ने बताया कि शहद ने खाँसी से सबसे ज्यादा राहत प्रदान की और उसके बाद डेक्सट्रोमेथॉर्फ़न (dextromethorphan) ने। 

खांसी के इलाज में प्रभावी, इस शहद के चाय को बनाने के लिए 2 चम्मच शहद को गर्म पानी या किसी हर्बल चाय के साथ मिलाएं। इस मिश्रण को दिन में एक या दो बार पियें। 1 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को शहद न दें।

shehed ki chai de sardi jukaam se raaht
शहद की चाय दे सर्दी-जुकाम से राहत। चित्र: शटरस्टॉक

2. नमक-पानी के गरारे

गले में खराश और गीली खांसी के इलाज के लिए यह सरल उपाय सबसे प्रभावी है। नमक का पानी गले के पिछले हिस्से में कफ और बलगम को कम करता है जिससे खांसी ठीक हो सकती है।एक कप गर्म पानी में आधा छोटा चम्मच नमक तब तक मिलाएं जब तक वह घुल न जाए। गरारे करने के लिए इस्तेमाल करने से पहले घोल को थोड़ा ठंडा होने दें।

मिश्रण को थूकने से पहले कुछ क्षण के लिए गले के पिछले हिस्से पर लगा रहने दें। खांसी ठीक होने तक दिन में कई बार नमक के पानी से गरारे करें।

छोटे बच्चों को नमक का पानी देने से बचें क्योंकि वे ठीक से गरारे करने में सक्षम नहीं होते हैं और नमक का पानी निगलना खतरनाक हो सकता है।

3. अजवायन के फूल (Thyme)

अजवायन के खाने में और उपचार दोनों उपयोग हैं और यह खांसी, गले में खराश, ब्रोंकाइटिस (bronchitis) और पाचन संबंधी समस्याओं के लिए एक सामान्य उपाय है। एक अध्ययन में पाया गया कि अजवायन के फूल (thyme) और आइवी के पत्तों (ivy leaves) से युक्त कफ सिरप तीव्र ब्रोंकाइटिस वाले लोगों में प्रभावी ढंग से और अधिक तेजी से खांसी से राहत देता है।

इसके पौधे में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट इसके लाभों के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। अजवायन के फूल का उपयोग करके खांसी का इलाज करने के लिए, एक कप गर्म पानी में 2 टीस्पून सूखे अजवायन डालकर थाइम चाय बनाएं। चाय बनने के बाद इसे 10 मिनट छोड़ दे और फिर छानकर पी लें। 

4. अदरक 

अदरक सूखी खांसी या दमा की खांसी को कम कर सकता है, क्योंकि इसमें एंटी- इन्फ्लैमेटरी (anti-inflammatory)  गुण होते हैं। यह दर्द से भी छुटकारा दिला सकता है। एक अध्ययन से पता चलता है कि अदरक में कुछ ऐसे एंटी- इन्फ्लैमेटरी गुण है जो गले को आराम दे सकते हैं, जिससे खांसी कम हो जाती है। शोधकर्ताओं ने मुख्य रूप से मानव टिशू और जानवरों पर अदरक के प्रभावों का अध्ययन किया है। 

इसे बनाने के लिए एक कप गर्म पानी में 20-40 ग्राम (g) ताजा अदरक के स्लाइस डालकर उबाल लें और अदरक की चाय बनाएं। पीने से पहले कुछ मिनट के लिए इसे छोड़ दें । स्वाद में सुधार के लिए शहद या नींबू का रस मिलाएं और खांसी को शांत करें। ध्यान रखें कि कुछ मामलों में अदरक की चाय पेट खराब या सीने में जलन पैदा कर सकती है।

haldi waala doodh ke chamatkaari faydo se sardi-jukaam ki chutti
हल्दी वाला दूध के चमत्कारी फायदों से सर्दी-जुकाम की छुट्टी। चित्र-शटरस्टॉक

5. हल्दी का दूध 

लगभग सभी भारतीय रसोई में पाया जाने वाला एक आवश्यक चीज है हल्दी।  हल्दी में एक मजबूत एंटीऑक्सीडेंट होता है जो कई स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज में मदद करता है। गर्म दूध में हल्दी मिलाकर पीना, सर्दी और खांसी से लड़ने का एक लोकप्रिय और प्रभावी तरीका है। सोने से पहले एक गिलास गर्म हल्दी वाला दूध पीने से सर्दी और खांसी से जल्दी ठीक होने में मदद मिलती है।

सर्दी-जुकाम से बचने के कुछ एहतियाती उपाय 

सर्दी से पीड़ित होने पर आपको कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। कुछ तरह की चीजें खाने से स्थिति बढ़ सकती है और लक्षण बिगड़ सकते हैं। जैसे:

  1. डेयरी उत्पादों से बचें
  2. कैफीन से दूर रहें
  3. मसालेदार और तले हुए खाद्य पदार्थ न खाएं
  4. अपने तरल पदार्थ का सेवन बढ़ाएं
  5. भाप लें
  6. आराम करें 

तो यदि आपको अगली बार सर्दी-जुकाम होता है तो बिना देर किए इन उपचारों को अपनाएं और तुरंत अपनी परेशानियों से राहत पाएं। 

यह भी पढे: स्कूल खुलने लगे हैं, तो इन 5 चीजों से बढ़ाएं अपने बच्चे की इम्युनिटी

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !