वैलनेस
स्टोर

स्तनपान कराने वाली मां को कोविड -19 वैक्सीन लेनी चाहिये या नहीं, एक्‍सपर्ट दे रहीं हैं इन सभी सवालों के जवाब

Published on:28 May 2021, 19:30pm IST
डियर ब्रेस्टफीडिंग मॉम्स, एक स्तनपान विशेषज्ञ की इस सलाह पर ध्यान दें और खुद को कोविड -19 वैक्सीन लगवाएं।
Dr Vanshika Gupta Adukia
  • 71 Likes
कई बार स्तनपान करवाने के दौरान भी आप इस दर्द का सामना कर सकती हैं। चित्र : शटरस्टॉक
कई बार स्तनपान करवाने के दौरान भी आप इस दर्द का सामना कर सकती हैं। चित्र : शटरस्टॉक

भारत सरकार ने हाल ही में स्तनपान कराने वाली माताओं को कोविड -19 वैक्सीन देने के लिए अपनी आधिकारिक मंजूरी दे दी है। यह उन असंख्य माताओं के लिए एक राहत के रूप में आता है, जो वर्तमान में अपने शिशुओं को स्तनपान करा रही हैं। इनमें से अधिकांश ने संभवतः अपनी पूरी गर्भावस्था यात्रा को स्वयं और अजन्मे बच्चों को वायरस से सुरक्षित रखने के लिए सेल्फ आइसोलेशन में बिताया है।

वैक्सीन की मंजूरी को फेडरेशन ऑफ ऑब्स्टेट्रिक एंड गायनेकोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया (FOGSI) और द नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप ऑन वैक्सीन एडमिनिस्ट्रेशन फॉर कोविड -19 (NEGVAC) जैसे संगठनों ने मंजूरी दे दी है।

स्तनपान कराने वाली माताओं का टीकाकरण कैसे सहायक होगा?

कहा जाता है कि बहुप्रतीक्षित भविष्य की तीसरी लहर शिशुओं और बच्चों को काफी हद तक प्रभावित कर सकती है। माना जाता है कि स्तनपान कराने वाली माताओं को स्तनपान कराने वाले बच्चों को सापेक्ष प्रतिरक्षा प्रदान करने में मदद मिलती है। स्तन के दूध से उनमें जाने वाले एंटीबॉडी वायरस के खिलाफ उनकी प्रतिरक्षा बनाने में मदद कर सकते हैं।

स्तनपान कराने वाली माताओं को कोविड -19 संक्रमण के लिए माताओं के वाहक बनने और इसे अपने बच्चों तक पहुंचाने की संभावना को कम करने में मदद मिलेगी।

टीके के संबंध में स्तनपान कराने वाली माताओं की कुछ सामान्य चिंताएं क्या हैं?

कई स्तनपान कराने वाली महिलाओं के बीच एक आम चिंता यह है कि क्या उन्हें जैब लेने से पहले अपने बच्चों को दूध पिलाना चाहिए। हालांकि, यह ध्यान में रखा जाना चाहिए कि 6 महीने की उम्र तक, मां का दूध शिशुओं के लिए पोषण का प्राथमिक स्रोत है। वर्तमान में यह सुझाव देने के लिए कोई डेटा नहीं है कि टीके से मां के स्तन के दूध या शिशुओं के स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को टीकाकारण करवाना चाहिए. चित्र : शटरस्टॉक
स्तनपान कराने वाली महिलाओं को टीकाकारण करवाना चाहिए. चित्र : शटरस्टॉक

स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए कोविड -19 वैक्सीन लेने के बाद सुनिश्चित करें कि स्वस्थ भोजन का सेवन करें। यह ध्यान में रखा जाना चाहिए कि स्तन के दूध का उत्पादन मुख्य रूप से मांग और आपूर्ति के सिद्धांत पर निर्भर करता है।

इसलिए जितना अधिक बच्चा स्तनों को पकड़ता है और स्तनपान करता है – दूध की आपूर्ति उतनी ही बेहतर होती है। इसके अतिरिक्त, टीके का कोई हार्मोनल प्रभाव भी नहीं है।

स्तनपान कराने वाली माताएं अपने शॉट से पहले टीके की तैयारी कैसे कर सकती हैं?

सुनिश्चित करें कि आप बच्चे को दूध पिलाना जारी रखें। यदि आप टीकाकरण के बाद के सामान्य लक्षणों के बारे में चिंतित हैं और इसलिए सावधान रहना चाहती हैं – तो ब्रेस्ट मिल्क को स्टोर करने पर विचार कर सकती हैं। यह स्‍टोर किया गया दूध बच्चे को उस समय दिया जा सकता है, जब आप टीकाकरण के बाद के लक्षणों का सामना कर रहीं हों।

स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए टीकाकरण के बाद के लक्षणों को कम करने के उपाय

पेरासिटामोल आधारित दवाएं सुरक्षित हैं और ये स्तन के दूध को प्रभावित नहीं करती। यदि आप टीकाकरण के बाद बुखार, शरीर में दर्द, सिर दर्द, और हाथ की जकड़न जैसे लक्षणों का सामना कर रही हैं, तो 6 घंटे के अंतराल पर एक पेरासिटामोल दवा का सेवन स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए सुरक्षित है।

सुनिश्चित करें कि आप वैक्सीन के बाद पौष्टिक स्वस्थ भोजन करें। आप टीकाकरण के बाद एंटीबॉडी बनाने की प्रक्रिया में है। साथ ही, अपने भोजन में पर्याप्त तरल पदार्थ के साथ प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और वसा शामिल करें, ताकि प्रक्रिया को तेज करने में मदद मिल सके।

Dr Vanshika Gupta Adukia Dr Vanshika Gupta Adukia

Dr Vanshika Gupta Adukia is the founder of TherHappy. She is a pregnancy/childbirth and lactation specialist and a pelvic floor physiotherapist.