सर्दियों के मौसम में इन 7 गलतियों से बचना है जरूरी, वरना बढ़ सकता है ब्लड शुगर लेवल

मधुमेह एक खतरनाक स्वास्थ्य स्थिति है, जो कई और खतरनाक बीमारियों का कारण बन सकती है। इसलिए इन सर्दियों में उन गलतियों से बचें, जो आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ा सकती हैं।
high blood sugar retina ko nuksaan pahunchaata hai
टाइप 1 डायबिटीज और टाइप 2 डायबिटीज के शुरुआत में कुछ चेतावनी संकेत मिलने लगते हैं। चित्र : शटरस्टॉक
  • 116

डायबिटीज के रोगियों के लिए ठंड के मौसम में अपना ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करना काफी मुश्किल टास्क हो सकता है। क्योंकि इस मौसम में खानपान हमारे शुगर लेवल को प्रभावित करता है। इस बात को हम सब जानते हैं कि मीठा खाने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ता है, लेकिन डायबिटीज का सिर्फ यही अकेला कारण नहीं है। खराब दिनचर्या और कुछ ऐसे फूड्स जिनके तत्वों के बारे में हमें जानकारी नहीं है, हमारी शुगर लेवल को प्रभावित कर सकते हैं।

सर्दियों के मौसम में डायबिटीज के मरीज कई बार जाने अनजाने कुछ ऐसी गलतियां कर जाते हैं, जो उनके स्वास्थ्य पर भारी पड़ सकती हैं। ठंड के मौसम में आलस हमें शारीरिक गतिविधियां करने से रोकता हैं। वहीं मनचाहे व्यंजन से दूर रह पाना भी मुश्किल हो जाता है। जिसका असर आपकी सेहत पर पड़ता है। पर सिर्फ यही नहीं, यहां वे 7 सामान्य गलतियां हैं, जो ज्यादातर मधुमेह रोगी सर्दियों के दौरान कर बैठते हैं। 

सर्दियों में और भी ज्यादा जरूरी है डायबिटीज पर ध्यान देना 

शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए परहेज और समय पर दवाइयां लेना अत्यंत आवश्यक है। डायबिटीज के मरीजों के लिए बढ़ते ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए यह जरूरी है।  एक स्वस्थ, संतुलित आहार खाने से डायबिटीज के रोगियों को हृदय रोग, गुर्दे की बीमारी और अन्य स्वास्थ्य संबंधी जटिलताओं से बचने में मदद मिलती है।  

यह आपका शुगर लेवल कंट्रोल रखता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
यह आपका शुगर लेवल कंट्रोल रखता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

खान-पान और जीवनशैली संबंधी ये 7 गलतियां बढ़ा सकती हैं शुगर लेवल 

1 रात में मीठे का सेवन करना

ज्यादातर भारतीयों को खाना खाने के बाद मीठा खाने की आदत होती है। लेकिन ठंड के मौसम में डायबिटीज के मरीजों के लिए मीठा खाना काफी नुकसानदायक होता है। खाने के बाद कैलोरीज बर्न करने के लिए हमारे पास ज्यादा वक्त नहीं होता। ऐसे में यह हमारे ब्लड शुगर लेवल को काफी प्रभावित करता है। 

2 ट्रांस फैट वाले फूड्स का सेवन 

ट्रांस फैट से भरपूर फूड सेहत के लिए बहुत ही नुकसानदायक होते हैं। यह डिब्बा बंद और अन्य बेक्ड फ़ूड में पाए जाते हैं। हालांकि ट्रांस वसा आपके रक्त शर्करा को सीधे प्रभावित नहीं करती है। मगर यह सूजन, इंसुलिन प्रतिरोध का कारण बनता है, जो मधुमेह वाले लोगों को हृदय रोगों के निरंतर जोखिम में रखता है। 

3 एक्सरसाइज न करना 

सर्दियों के मौसम में सुबह उठना थोड़ा मुश्किल होता है। ऐसे में कई लोग अपने रोजाना कसरत के रूटीन को छोड़ने लगते हैं। डायबिटीज के मरीजों के लिए सर्दियों की यह आदत और भी ज्यादा नुकसानदेह साबित हो सकती है। एक्सरसाइज रूटीन को छोड़ना आपके स्वास्थ्य को कई दूरगामी नुकसान दे सकता है। 

exercise n karne ke nuksaan
आप के ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा देता है एक्सरसाइज न करने की आपकी आदत. चित्र : शटरस्टॉक

डायबिटीज के रोगियों को नियमित एरोबिक व्यायाम करना चहिए। यह आपके रक्त शर्करा को कम कर सकता है और आपके शरीर को इंसुलिन के प्रति बेहतर प्रतिक्रिया करने में मदद कर सकता है। 

बेहतर स्वास्थ्य के लिए सर्दियों में ऐसा होना चाहिए आपका वर्कआउट रुटीन 

 1 विशेष रूप से भोजन के 15 मिनट बाद टहलें।

 2 बॉडीवेट एक्सरसाइज करें।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

 3 वजन उठाना भी आपके व्यायाम का हिस्सा होना चाहिए।

4 स्वादिष्ट भोजन की ओवरडोज 

ठंड का मौसम आपके आहार को कई तरह से प्रभावित कर सकता है। सर्दी के मौसम में लोग अपनी खुराक से ज्यादा खाना खाते हैं। अपनी विंटर डायबिटीज प्लान को ध्यान में रखें। ओवर ईटिंग आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ा सकती है। 

5 प्रोसेस्ड और कार्बोहाइड्रेट फूड्स 

वैसे तो कार्बोहाइड्रेट हमारे शरीर में ऊर्जा का एक अच्छा स्रोत है, लेकिन डायबिटीज की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए यह लाभदायक नहीं है। डायबिटीज वाले व्यक्तियों को कार्बोहाइड्रेट्स से सावधान रहना चाहिए। सफेद ब्रेड,पास्ता और अन्य परिष्कृत-आटे के खाद्य पदार्थों को टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज के लिए जिम्मेदार माना गया है। 

6 कम पानी का सेवन

जब आपको डायबिटीज होती है, तो आपका शरीर ज्यादा पानी खो देता है। सर्दियों के मौसम में वैसे भी लोगों को प्यास कम लगती है। जब आप सर्दियों के मौसम में पर्याप्त पानी नहीं पीते हैं, तो ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। इससे ज्यादा यूरीन डिस्चार्ज होता है। 

7 खाली पेट कॉफी पीना

यूनिवर्सिटी ऑफ बाथ द्वारा किए गए एक शोध के अनुसर खाली पेट कॉफी पीने से ब्लड शुगर के स्तर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इससे न केवल डायबिटीज बल्कि हृदय रोगों का खतरा भी बढ़ता है। शोध के मुताबिक  जिन लोगों ने सबसे पहले ब्लैक कॉफी का सेवन किया था, उनका नाश्ते के समय ब्लड शुगर लेवल तकरीबन 50 प्रतिशत ज्यादा हो गया।

इसलिए इन 7 गलतियों का ध्यान रखें और इन्हें करने से बचें।

यह भी पढ़े : विटामिन ए कोविड-19 के बाद सूंघने की शक्ति वापस पाने में मदद कर सकता है

  • 116
लेखक के बारे में

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में ...और पढ़ें

अगला लेख