आपके एजिंग पेरेंट्स के लिए खतरनाक हो सकता है यूरिक एसिड का बढ़ना, यहां हैं इसे कंट्रोल करने के 5 उपाय

जब आपके पेरेंट्स जोड़ों में दर्द या मूवमेंट में असहजता की शिकायत करते हैं, तो इसकी वजह उनके शरीर में यूरिक एसिड का बढ़ना भी हो सकता है।
जानिए कैसे कंट्रोल करे यूरिक एसिड। चित्र : शटरस्टॉक
अक्षांश कुलश्रेष्ठ Published on: 19 February 2022, 17:30 pm IST
ऐप खोलें

अगर आपके जोड़ों, घुटनों और पैरों की उंगलियों में अक्सर दर्द बना रहता है तो यह वक्त है कि आप अपने यूरिक एसिड के स्तर का जांच कराएं। शरीर में यूरिक एसिड कई प्रकार की समस्याओं को जन्म देता है और हमारे शरीर में इसके बढ़ जाने का मुख्या कारण हमारी ख़राब जीवनशैली है। हमारे शरीर में प्यूरिन नामक तत्व के टूटने से यूरिक एसिड बनता है जिसे हमारी किडनी छानकर अलग कर देती है। लेकिन कई बार जब इसकी मात्रा शरीर में बढ़ने लगती है तो यह कई समस्याएं उत्पन्न करने लगता है इस को संतुलित करने के लिए कई चीजें हैं।

चलिए पहले यूरिक एसिड को अच्छे से समझते हैं

यूरिक एसिड हमारे शरीर द्वारा निकाला गया एक वेस्ट है। यह तब बनता है जब हम प्यूरीन युक्त भोजन करते हैं,और यह भोजन पचता है। कुछ फूड्स ऐसे होते हैं जिनमें भारी मात्रा में प्यूरीन पाया जाता है। हमारे शरीर में प्यूरीन भी बनते और टूटते हैं। आमतौर पर यूरिन के माध्यम से यूरिक एसिड फिल्टर हो जाता है। लेकिन कई बार जब यह जरूरत से ज्यादा बनने लगता है, तो हमारी किडनी इसे साफ नहीं कर पाती और समस्याएं होने लगती हैं।

शरीर का वेस्ट है यूरिक एसिड । चित्र : शटरस्टॉक

इस स्थिति में, हमारी हड्डियों के हर जोड़ में यूरिक एसिड जमने लगता है। जिससे कई बड़ी बीमारियां जैसे अर्थराइटिस, गठिया और गाउट हो सकती है। यूरिक एसिड बढ़ने से किडनी की समस्याएं भी हो जाती हैं। शरीर में बढ़े हुए यूरिक एसिड की स्थिति को हाइपरयूरिसीमिया के रूप में जाना जाता है। 

जानिए किन कारणों से शरीर इकट्ठा करता है यूरिक एसिड 

  1. आहार
  2. जेनेटिक्स
  3. मोटापा या अधिक वजन होना
  4. तनाव

यूरिक एसिड का बड़ा स्तर इन बीमारियों के जोखिम में डाल सकते है

  1. हाइपोथायरायडिज्म
  2. कुछ प्रकार के कैंसर 
  3. सोरायसिस
  4. गुर्दे की बीमारी
  5. मधुमेह

जानिए यूरिक एसिड कंट्रोल करने के 5 नेचुरल टिप्स 

1.अपने भोजन में शामिल करें फाइबर

एनसीबीआई के एक रिपोर्ट के अनुसार फाइबर आपके शरीर में यूरिक एसिड से बचने में मदद कर सकते हैं। यदि आपके शरीर में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ चुका है उस स्थिति में भी फाइबर आपके काम आएंगे। दरअसल फाइबर आपके ब्लड शुगर लेवल और इंसुलिन के स्तर को संतुलित करने में सहायता देता है। ज्यादा फाइबर होने से अधिक खाने के जोखिम भी कम होते हैं। आप फाइबर की मात्रा लिए अपने न्यूट्रीशनिस्ट से संपर्क कर सकती हैं। हालांकि आमतौर पर 5 से 10 ग्राम घुलनशील फाइबर आहार में होने चाहिए।

2.तनाव को करें दूर

स्ट्रेस बन सकता हैं ज्यादा यूरिक एसिड का कारण। चित्र : शटरस्टॉक

तनाव मुक्त रहने से आप बढ़े हुए यूरिक एसिड को आसानी से काबू में कर सकती हैं। ज्यादा तनाव लेना, सोने की खराब आदतें और बहुत कम व्यायाम करना सूजन को बढ़ावा देता है। एक नियमित जीवन शैली, अच्छी नींद और सांस के कुछ व्यायाम आपकी सहायता कर सकते हैं।

ऐसे रह सकते हैं तनाव मुक्त

  1. सोने से पहले दो से तीन घंटे तक डिजिटल स्क्रीन से परहेज करें
  2. हर दिन लगातार समय पर सोना और जागना
  3. दोपहर के भोजन के बाद कैफीन से परहेज करें

3.प्यूरीन युक्त खाद्य पदार्थों को सीमित करें

प्यूरीन युक्त खाद्य पदार्थों का कम सेवन आपको यूरिक एसिड के बढ़े स्तर को कम करने में आपकी मदद कर सकता है। क्योंकि प्यूरीन के टूटने से ही यूरिक एसिड बनता है। ऐसे बहुत से फूड हैं जिनमे भारी मात्रा में प्यूरीन होता है। जिसमें मांस, समुद्री भोजन और सब्जियां शामिल हैं।  ये सभी खाद्य पदार्थ पचने पर यूरिक एसिड छोड़ते हैं।

4.ज्यादा पानी पिएं 

यदि आपके पेरेंट्स का यूरिक एसिड बढ़ा हुआ है, तो उन्हें ज्यादा पानी पीने के लिए प्रेरित करें।  दरअसल हमारा शरीर यूरिक एसिड को यूरिन के माध्यम से बाहर निकालने का काम करता है। जब हम ज्यादा पानी पीते हैं तो यूरिनेशन का प्रोसेस ज्यादा होता है और ज्यादा मात्रा में यूरिक एसिड बाहर आता है। हर घंटे उन लोगों को पानी पीने की सलाह दी जाती है जिनका यूरिक एसिड ज्यादा बढ़ा होता है।

5.आज ही बंद करें शराब का सेवन 

शराब का सेवन है हानिकारक । चित्र-शटरस्टॉक

शराब का सेवन,उच्च यूरिक एसिड के स्तर को भी ट्रिगर कर सकता है।  ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आपके गुर्दे को पहले यूरिक एसिड और अन्य अपशिष्टों के बजाय अल्कोहल के कारण रक्त में होने वाले उत्पादों को फ़िल्टर करना पड़ता हैं कुछ प्रकार के मादक जैसे बीयर में भी प्यूरीन की मात्रा अधिक होती है।

यह भी पढ़े : आपकी रीढ़ की हड्डी में परेशानी आपके मानसिक स्वास्थ्य पर डाल सकती है प्रभाव

लेखक के बारे में
अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story