वैलनेस
स्टोर

क्‍या आप भी पार्टनर के खर्राटों से परेशान हैं? यहां हैं इससे राहत पाने के 7 आसान तरीके

Published on:18 January 2021, 19:46pm IST
अगर आपके पार्टनर के खर्राटों ने आपकी रातों की नींद हराम कर दी हैं, तो हम आपको इससे निपटने के लिए कुछ सरल उपाय बता रहे हैं। निश्चित ही ये आपको गूगल किए जाने वाले उपायों से ज्‍यादा राहत देंगे।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 71 Likes
खर्राटे रोकने में ये टिप्‍स कारगर हो सकते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

अगर आप अपने साथी के खर्राटों से बीमार या थका हुआ महसूस कर रही हैं, तो हम आपको दो चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं- एक, कि यह एक प्रमुख स्वास्थ्य समस्या का संकेत हो सकता है और दूसरा, आप इससे पूरी तरह से निपट सकती हैं।

पर इससे पहले आपको जानना चाहिए कि आखिर ये परेशान कर देने वाले खर्राटे उन्‍हें आते ही क्‍यों हैं। असल में, जब हम सोते हैं तो हमारी गर्दन की मांसपेशियां शिथिल हो जाती हैं। लेकिन कई बार, वे बहुत अधिक शिथिल हो जाती हैं, जिसके कारण नाक और गले में हवा का मार्ग संकीर्ण हो जाता है। इसके कारण, हवा फेफड़ों तक नहीं पहुंच पाती है। इस वजह से, आसपास के ऊतकों में कंपन होता है या ध्वनि पैदा होती है, जिसे खर्राटे के रूप में जाना जाता है।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

अब खर्राटों के आठ अन्य कारणों पर नजर डालते हैं:

नाक का मार्ग अवरुद्ध होना

यदि आपकी नाक का मार्ग में अवरुद्ध होता है, तो आप निश्चित रूप से खर्राटें लेते हैं। इसका संभावित कारण एक एलर्जी या डेविएटिड सेप्टम (deviated septum) भी हो सकते हैं।

शरीर का ज्‍यादा वजन

क्या आप जानती हैं कि अगर आपका वजन अधिक है, तो खराब मांसपेशियों की टोनिंग, गले और गर्दन के आसपास ऊतक की बढ़ी हुई मात्रा, खर्राटों का कारण बन सकती है। ऐसे में अपने वजन को कंट्रोल में रखना आवश्यक है। साथ ही एक आवश्यक जीवनशैली का पालन करना भी जरूरी है।

बढ़ा हुआ वजन कई बीमारियों को न्‍यौता देता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
बढ़ा हुआ वजन कई बीमारियों को न्‍यौता देता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

बुढ़ापा

मुंबई के ज़ेन मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल से पल्मोनोलॉजिस्ट, डा. अरविंद केट के अनुसार,
जैसे-जैसे लोगों की उम्र बढ़ती है, उनकी नींद की आदतें बदल जाती हैं। कुछ लोग सोने के लिए सामान्य से अधिक समय लेते हैं। उम्र बढ़ने से खर्राटों पर असर पड़ता है, क्योंकि गले की मांसपेशियां और जीभ उम्र के साथ नींद के दौरान अधिक आराम करती हैं, जिससे श्वास पर कंपन होता है, जो खर्राटों का कारण बनता है।

सोने का गलत तरीका

कई लोग जब पीठ के बल सोते हैं तो खर्राटें लेते हैं, लेकिन अपनी तरफ या करवट लेकर सोते समय वे खर्राटें नहीं लेते हैं। तो ऐसे में अपनी तरफ करवट लेकर या पेट के बल सोने की कोशिश करें, जो आपको खर्राटों की आवृत्ति को कम करने की अनुमति दे सकता है।

अल्कोहल

डॉ. केट द्वारा खर्राटों के लिए दिया गया एक अन्य कारण शराब का सेवन है। सोने से पहले शराब पीने से खर्राटे हो सकते हैं। अल्कोहल एक मांसपेशी रिलैक्सेंट है और इसके कारण, नींद के दौरान गले और वायु मार्ग के आसपास के क्षेत्र सुस्त हो जाते हैं। जब आप सांस लेते हैं, तो इससे कंपन हो सकता है।

जरूरत से ज्‍यादा शराब पीना सेहत के लिए खतरनाक होता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

महिलाओं की तुलना में पुरुष अधिक खर्राटे लेते हैं

महिलाओं की तुलना में पुरुषों का वायु मार्ग अधिक संकीर्ण होता है। इसलिए वे बहुत अधिक खर्राटे लेते हैं।

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (OSA)

यह एक गंभीर स्थिति है जिससे आपको सांस लेने में समस्या हो सकती है। जब आप सो रहे होते हैं तो इससे आपके गले में मौजूद नरम ऊतक टूट जाते हैं। जो वायु मार्ग में अवरोध उत्पन्न करते हैं। स्लीप एपनिया से डायबिटीज, बीपी और दिल से संबंधित समस्याएं भी हो सकती हैं।

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप का निदान और उपचार ब्लड शुगर नियंत्रण, बीपी नियंत्रण और अंततः वजन घटाने में मदद करेगा। ऑब्सट्रक्टिव स्लीप चीनी और बीपी नियंत्रण के लिए एक संभावित जोखिम कारक है।

मुंह की संरचना

यहां तक ​​कि मुंह, नाक या गले की संरचना भी एक समस्या है जो आपके खर्राटों के लिए जिम्मेदार हो सकती है।

इन 5 तरीकों के जरिए आप खर्राटों से राहत पा सकती हैं

आप ये छोटे-छोटे उपाय करके खर्राटों से राहत पा सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
आप ये छोटे-छोटे उपाय करके खर्राटों से राहत पा सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

1. धूम्रपान करने से आपकी खर्राटे की समस्या बदतर हो सकती है। इसलिए, धूम्रपान बंद करने वाली चिकित्सा के लिए चयन करके इसे तुरंत छोड़ दें।

2. सोने से पहले शराब न पिएं

3. एक उचित और भरपूर नींद लें, हर एक दिन में अधिकतम आठ घंटे की नींद जरूर लें।

4. अपनी एलर्जी को नजरअंदाज करने के बजाय, सही तरह से इलाज करवाएं। एलर्जी आपकी नाक के माध्यम से वायु प्रवाह को कम कर सकती है और आप अपने मुंह से सांस लेने के लिए मजबूर हो सकते हैं। डॉक्टर द्वारा बताई गई दवा लें।

5. यदि आप खर्राटों को रोकने की इच्छा रखते हैं, तो आपको अपने वायु मार्ग को खुला रखने के लिए एक मौखिक उपकरण का उपयोग करना चाहिए। ऑब्सट्रक्टिव स्लीप होने पर निरंतर सकारात्मक वायु मार्ग दबाव मशीन (Continuous positive airway pressure machine) सहायक हो सकती है, और यह आपको शांति से सोने में मदद कर सकती है।

ये टिप्स आपकी खर्राटें की समस्या को दूर करने और शांति से सोने में आपकी मदद कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें – चाय से लेकर अलाव तक, एक एक्‍सपर्ट से जानिए कितने सुरक्षित हैं ये विंटर केयर टिप्‍स

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।