आपके मेटाबाॅलिज़्म को प्रभावित कर वजन बढ़ा सकती हैं आपकी ये 5 गलतियां

एक एक्टिव मेटाबॉलिज्म आपको अधिक कैलोरी जलाकर वजन घटाने में सहायता करता है। इसके साथ ही यह आपके रक्त शर्करा, कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड और हाइ ब्लड प्रेशर के जोखिम को कम कर सकता है।
आपके मेटाबाॅलिज़्म को प्रभावित कर सकती हैं आपकी ये 5 गलतियां। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 6 October 2021, 12:30 pm IST
ऐप खोलें

हम सभी चयापचय यानी मेटाबॉलिज़्म को बढ़ावा देने के विभिन्न तरीकों के बारे में जानते हैं। मगर हम यह नहीं जानते कि हमारी कुछ आदतें मेटाबॉलिज्म को बिल्कुल धीमा कर सकती हैं, जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। आइए जानते हैं उन आदतों के बारे में जो अनजाने में हमारे मेटाबाॅलिज़्म को नुकसान पहुंचा रहीं हैं।

तो चलिये जानते हैं कि कौन सी आदतें हमारे मेटाबॉलिज्म को प्रभावित कर सकती हैं

1. बहुत कम खाना

बहुत से लोगों को यह गलतफहमी होती है कि कम कैलोरी खाने से उन्हें वजन कम करने में मदद मिलेगी। मगर आपको जानकर हैरानी होगी कि कैलोरी की मात्रा को जरूरत से ज्यादा सीमित करने से मेटाबॉलिज्म कम हो सकता है। हालांकि वजन कम करने के लिए आपको अपना कैलोरी इंटके कम करना पड़ सकता है, लेकिन बहुत कम कैलोरी खाने से उलटा असर पड़ सकता है।

कम खाना भी आपके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक है। चित्र- शटर स्टॉक।

2. गतिहीन जीवन शैली

एक गतिहीन जीवनशैली जीने से आपके द्वारा प्रतिदिन बर्न की जाने वाली कैलोरी की संख्या में कमी आ सकती है। कोरोनावायरस महामारी के कारण, हम में से अधिकांश घर से काम कर रहे हैं और पूरे दिन बैठे हैं, जिसका चयापचय और समग्र स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है।

शारीरिक गतिविधि जैसे खड़े रहना, सफाई करना, सीढ़ियां चढ़ना, खाना बनाना, सब कुछ आपको कैलोरी बर्न करने और मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने में मदद कर सकता है।

3. ज़्यादा मीठा खाना या स्वीट ड्रिंक्स का सेवन

मीठे पेय आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं। ज़्यादा मीठा खाना विभिन्न बीमारियों से जुड़ा हुआ है, जिसमें इंसुलिन प्रतिरोध, मधुमेह और मोटापा शामिल हैं।

मीठे पेय पदार्थों के कई नकारात्मक प्रभावों के लिए इसमें मौजूद फ्रुक्टोज को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। चीनी में 50% फ्रुक्टोज होता है, जबकि उच्च फ्रुक्टोज कॉर्न सिरप में 55% फ्रुक्टोज होता है। बार-बार मीठे पदार्थों का सेवन आपके चयापचय को धीमा कर सकता है।

ज़्यादा मीठा न खाएं। चित्र: शटरस्टॉक

4. प्रोटीन नहीं खाना

स्वस्थ वजन घटाने के लिए पर्याप्त प्रोटीन खाना महत्वपूर्ण है। प्रोटीन आपको लंबे समय तक भरा रखता है और उस दर को बढ़ाता है जिस पर आपका शरीर कैलोरी बर्न करता है। जब आप भोजन को पचाते हैं, तो चयापचय में वृद्धि होती है।

केवल प्रोटीन खाने से आपका मेटाबॉलिज्म 20-30 प्रतिशत तक बढ़ जाता है, जबकि कार्ब्स या फैट खाने से यह 5-10 प्रतिशत कम हो जाता है।

5. पर्याप्त नींद नहीं लेना

संपूर्ण स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए पर्याप्त नींद लेना महत्वपूर्ण है। कम घंटे सोने से हृदय रोग, मधुमेह और अवसाद सहित बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। अपर्याप्त नींद भी आपकी चयापचय दर को धीमा कर सकती है और वजन बढ़ा सकती है। समय पर न सोना भी आपके नींद के चक्र को बाधित कर सकता है और आपके शरीर की सर्कैडियन लय को बाधित कर सकता है।

यह भी पढ़ें : वेट लॉस करना है तो अपनी डाइट में जरूर शामिल करें सिंघाड़े का आटा

लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story