इन फूड्स के साथ आप बिना दवाओं के भी रह सकती हैं डायबिटीज से दूर

Published on: 7 July 2022, 20:24 pm IST

खराब लाइफस्टाइल के कारण हम में से बहुत सारे लोग डायबिटीज की बॉर्डर लाइन पर पहुंच गए हैं। इसलिए जरूरी है कि आप अपने खानपान के बारे में और भी ज्यादा जागरुक हो जाएं।

in foods se diabetes rhegi control
इन फूड्स के साथ कण्ट्रोल में रख सकती हैं अपनी डाइबिटीज। चित्र: शटरस्टॉक

डायबिटीज की समस्या दिन प्रतिदिन बहुत कॉमन होती जा रही है। खराब लाइफ़स्टाइल, शारीरिक रूप से सक्रिय न रहना, बहुत ज्यादा स्ट्रेस लेना, बदलता वातावरण और स्वस्थ भोजन न करने की आदत से कम उम्र में ही लोगों को डायबिटीज की शिकायत होने लगी है। इसके साथ ही असंतुलित रूप से मीठे का सेवन डायबिटीज का एक सबसे बड़ा कारण हो सकता है। डायबिटीज में सबसे पहले अपने खानपान की आदतों पर ध्यान देने की आवश्यकता है। अन्यथा आपकी समस्या काफी तेजी से बढ़ती हुई नजर आएगी। इसलिए हम यहां उन फूड्स के बारे में बात कर रहे हैं जो आपकी डायबिटीज (Foods to control diabetes) की समस्या को कंट्रोल कर सकते हैं।

उपचार से बेहतर है परहेज

डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए ज्यादातर मरीज हाई पावर दवाओं का सेवन करते हैं। जिसकी वजह से एक समस्या तो नियंत्रित रहती है, परंतु कई अन्य समस्याएं पैदा हो जाती हैं। खासकर यदि आपके घर के किसी बुजुर्ग को डायबिटीज है, तो उनके लिए दवाइयां और भी ज्यादा हानिकारक हो सकती हैं। इसलिए हमने कुछ ऐसे सुपरफूड्स का पता लगाया जिनके साथ बिना दवाओं के भी आप अपनी डायबिटीज की समस्या को नियंत्रित रख सकती हैं।

Diabetes ke rogiyon ko vrat mein rakhna chahiye khyal
डाईबिटीज के रोगियों को खानपान का रखना चाहिए खास ख्याल। चित्र: शटरस्टॉक

डायबिटीज को कैसे कंट्रोल करते हैं कुछ खास फूड्स

इन सुपरफूड्स में एंटी डायबिटिक प्रॉपर्टी पाई जाती है, जो शरीर में ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में मदद करती है। यदि आपको डायबिटीज की समस्या नहीं है, तो भी भविष्य की संभावनाओं को देखते हुए अपनी डाइट में इन सुपरफूड्स को जरूर शामिल करना चाहिए।

ये 5 सुपरफूड्स कंट्रोल कर सकते हैं डायबिटीज की समस्या

1. आंवला

आंवला ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखता है। इसमें क्रोमियम मौजूद होता है, जो कार्बोहाइड्रेट और मेटाबॉलिज्म को रेगुलेट करने में मदद करता हैं। आंवला में मौजूद विटामिन सी एक पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है।

रिसर्च गेट द्वारा इस विषय पर किए गए एक अध्ययन के अनुसार आंवला में एंटी हाइपोग्लाइसेमिक और लिपिड लोवरिंग प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं। इसलिए डायबिटीज पेशेंट्स इसे प्राकृतिक रूप से इस्तेमाल में ला सकते हैं।

इसके लिए आंवला का जूस काफी ज्यादा फायदेमंद रहेगा। यदि आप चाहें तो आंवला को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर नमक के साथ भी खा सकती हैं। आंवला कैंडी भी एक बेहतर विकल्प रहेगा।

methi ke dane ke fayade
डायबिटीज में फायदेमंद है मेथी दाना। चित्र : शटरस्टॉक

2. मेथी

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉरमेशन द्वारा किए गए शोध के अनुसार मेथीदाना डायबिटीज पेशेंट में ब्लड ग्लूकोज लेवल को नियंत्रित रखने का काम करता है। मेथी फाइबर का एक अच्छा स्रोत है, जो डाइजेशन प्रोसेस को नियंत्रित रखता है। साथ ही कार्बोहाइड्रेट और शुगर को अच्छी तरह रेगुलेट करता है।

उचित परिणाम के लिए मेथी दाने का पाउडर और हल्दी को पानी के साथ कम से कम दिन में तीन बार लेने का प्रयास करें, यह आपके ब्लड शुगर लेवल को संतुलित रखेगा।

3. करेला

करेला शरीर में ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद करता है। करेला में इंसुलिन की प्रॉपर्टीज पाई जाती है, जो सेल्स में ग्लूकोज ट्रांसफर करने में मदद करती हैं। ताकि हमें पर्याप्त ऊर्जा मिल सके। एक्सपर्ट्स की मानें तो करेला शरीर में इंसुलिन को एक्टिव कर देता है। जिसके कारण शुगर पूरी तरह से प्रयोग हो जाती है, और फैट में कन्वर्ट नहीं हो पाती। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन द्वारा प्रसारित एक रिपोर्ट के अनुसार करेला ग्लाइसेमिक कंट्रोल को इंप्रूव करता है।

बेहतर परिणाम के लिए करेला के टुकड़ों को मिक्सर में डालें, उसमें हल्का नमक और नींबू निचोड़ कर जूस तैयार कर लें। करेला स्वाद में कड़वा होता है, इसलिए इसमें शहद या गुड़ का इस्तेमाल कर सकती हैं। साथ ही यदि सादा करेला जूस नही पी पातीं, तो सेब के जूस के साथ इसे मिक्स करके इस्तेमाल में ला सकती हैं।

diabetes friendly hai curry leaves
करी पत्ता डायबिटीज के जोखिम को कम करता है। चित्र-शटरस्टॉक।

4. करी पत्ता

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन के अनुसार करी पत्ता ब्लड कोलेस्ट्रॉल और ब्लड ग्लूकोज लेवल को संतुलित रखने में मदद करता है। कड़ी पत्ता में मौजूद फाइबर भी ब्लड शुगर लेवल को कम करने का काम करता हैं। साथ ही यह शरीर में पर्याप्त इंसुलिन रिलीज करके शुगर लेवल को कम करता है। इसलिए डायबीटिक पेशेंट प्राकृतिक रूप से डायबिटीज को संतुलित रखने के लिए करी पत्ते कल से माल कर सकते हैं।

दाल, करी जैसे खाद्य पदार्थों में तड़का लगाते वक्त कड़ी पत्ता का इस्तेमाल करें। यदि चाहे तो इसे कच्चा चबा कर सीधा पानी की मदद से निगल सकती हैं।

5. हल्दी और काली मिर्च

पब मेड सेंट्रल द्वारा 2013 में डायबिटीज और हल्दी को लेकर किए गए एक शोध में देखा गया कि हल्दी में मौजूद करक्यूमिन नामक एक्टिव कंपाउंड शरीर में ब्लड ग्लूकोस लेवल को कम करने में मदद करता हैं। यह कंपाउंड अन्य डायबिटीज कॉम्प्लिकेशंस को को भी नियंत्रित रखता है।

डायबिटीज के मरीज दूध में हल्दी मिलाकर पिएं। दालचीनी और हल्दी को गर्म पानी में घोलकर भी पी सकती हैं। उसके साथ हल्दी और काली मिर्च का कॉन्बिनेशन भी डायबिटीज को नियंत्रित रखने में काफी मददगार साबित होगा। हल्दी और गोलकी में मौजूद फाइटोकेमिकल ब्लड वेसल्स को डैमेज होने से बचाते हैं। क्योंकि डैमेज ब्लड वेसल डायबिटीज का एक सबसे कॉमन इफेक्ट है।

यह भी पढ़ें :  आपकी स्किन और बालों के लिए कमाल कर सकती हैं सहजन की पत्तियां, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी- नई दिल्ली में जर्नलिज़्म की छात्रा अंजलि फूड, ब्लॉगिंग, ट्रैवल और आध्यात्मिक किताबों में रुचि रखती हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें