वैलनेस
स्टोर

आपके किचन में मौजूद ये 4 चीजें PCOS के प्रबंधन में करेंगी मदद, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल 

Published on:28 January 2021, 14:36pm IST
पीसीओएस से ग्रस्‍त महिलाएं जानती हैं कि उनके लिए वे खास दिन मैनेज करना कितना मुश्किल होता है। हम यहां बता रहे हैं आपकी रसोई में मौजूद ऐसे उपाय, जो आपको इस दर्दनाक तकलीफ को मैनेज करने में मदद करेंगी। 
विनीत
  • 90 Likes
PCOS से वर्तमान समय में अधिकांश महिलाएं जूझ रही हैं। चित्र-शटरस्टॉक।

PCOS या पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम सबसे आम हार्मोनल विकारों में से एक है जिसका ज्‍यादातर महिलाओं को सामना करना पड़ रहा है। हैरानी की बात यह है कि महिलाओं का एक बड़ा प्रतिशत, इस विकार से गुजर रहा है और इससे लड़ रहा है। लेकिन हर बार एक दवाइयों का विकल्प चुनना वास्तव में हानिकारक साबित हो सकता है, जबकि हमारे आस-पास ऐसे कई घरेलू उपचार मौजूद हैं, जो PCOS को नेचुरली ठीक करने में मदद कर सकते हैं।

हम किचन में मौजूद ऐसी 5 चीजों के बारे में बता रहे हैं, जो PCOS का उपचार करने में बेहद मददगार साबित हो सकती हैं।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

यहां हैं PCOS के लिए 5 प्रभावी घरेलू उपचार

  1. दालचीनी

यह PCOS के लिए सबसे बेहतरीन घरेलू उपचारों में से एक है। एक ​​क्लिनिकल परीक्षण में यह साबित हो चुका है। दालचीनी का सेवन मासिक धर्म में सुधार करता है और PCOS वाली महिलाओं के लिए एक प्रभावी उपचार विकल्प हो सकता है।

दालचीनी मासिक धर्म में सुधार करती है। चित्र-शटरस्टॉक।

आपको कितना सेवन करना चाहिए?

आप प्रति दिन एक चम्मच पिसे हुए दालचीनी पाउडर या दालचीनी की एक छड़ी तक का सेवन कर सकती हैं। इसमें थोड़ा मीठा-तीखा स्वाद होता है। इसलिए आप इसे अपनी  स्मूदी, जूस में भी मिला सकती हैं या इसे आप अपनी ग्रीन टी में मिलाकर भी इसका सेवन कर सकती हैं।

आप रोजाना दिन में दो बार दालचीनी पाउडर का सेवन कर सकती हैं।

यह भी पढें: इग्‍नोर न करें शरीर के इन 6 संवेदनशील हिस्सों की हाइजीन, हम बता रहें इनकी देखभाल के आसान तरीके

यह कैसे मदद करता है?

दालचीनी आपके चयापचय को बूस्ट करती है और तेजी से कैलोरी बर्न करने में मदद करती है। साथ ही इंसुलिन संवेदनशीलता और ब्लड शुगर को स्थिर करने में भी मदद करती है।

  1. मेथी के बीज

मेथी PCOS के लिए सबसे उपयोगी घरेलू उपचारों में से एक है। अध्ययनों से पता चला है कि लगभग आठ हफ्तों तक मेथी के सेवन से PCOS वाली महिलाओं में इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार हुआ है। इसके अलावा, यह मासिक धर्म चक्र को विनियमित करने में मदद करती है!

मेथी ब्‍लड शुगर लेवल को कंट्रोल करती है। चित्र : शटरस्टॉक।
इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करते हैं मेथी के बीज । चित्र : शटरस्टॉक।

आपको कितना सेवन करना चाहिए?

3 चम्मच मेथी के बीज को रात भर पानी में भिगो दें और दिन में तीन बार इसका सेवन करें। आप सुबह खाली पेट इसका सेवन करें, लंच या डिनर से पहले भी इसका सेवन किया जा सकता है।

यह कैसे मदद करता है?

PCOS में अत्यधिक टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन होता है क्योंकि अग्न्याशय द्वारा स्रावित इंसुलिन शरीर में ऊतकों द्वारा उपयोग नहीं किया जाता है। मेथी इंसुलिन स्तर और ग्लूकोज सहिष्णुता को स्थिर करने में मदद करती है। यह हार्मोन को भी नियंत्रित करता है, जिससे टेस्टोस्टेरोन को नियंत्रित रखने में भी मदद मिलती है।

  1. नीरियल का तेल

नारियल तेल घर पर सबसे आसानी से उपलब्ध सामग्री में से एक है और यह PCOS के लिए एक बेहतरीन घरेलू उपाय है।

नारियल तेल बरसों से महिलाओं की ब्‍यूटी किट का हिस्‍सा है। चित्र: शटरस्‍टॉक
यह तेल बरसों से महिलाओं की ब्‍यूटी किट का हिस्‍सा है। चित्र: शटरस्‍टॉक

आपको कितना सेवन करना चाहिए?

आप प्रतिदिन एक चम्मच वर्जिन नारियल तेल का सेवन कर सकती हैं। आप सीधे तौर पर इसका सेवन कर सकती हैं या अपनी दैनिक स्मूदी या सलाद में भी शामिल कर सकती हैं।

यह कैसे मदद करता है?

चूंकि इसमें मध्यम श्रृंखला वाले फैटी एसिड होते हैं, तो यह ब्लड शुगर के स्तर और इंसुलिन स्राव को विनियमित करने में मदद करता है।

  1. ग्रीन टी

ग्रीन टी को आप पिछले दशक का सुपरफूड कह सकती हैं। ग्रीन टी को चाइनीज परंपरा के माध्यम से वर्षों से अपने एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों के लिए जाना जाता है और अब यह PCOS  के लिए प्रमुख घरेलू उपचारों में से एक है। वर्तमान अध्ययन के परिणामों से पता चला है कि ग्रीन टी के सेवन से अधिक वजन और PCOS से पीड़ित महिलाओं में इंसुलिन प्रतिरोध में काफी कमी आ सकती है। अध्ययन के मुताबिक ग्रीन टी PCOS वाले रोगियों में फ्री टेस्टोस्टेरोन लेवल को कम करती है।

वजन कम करने में भी मदद करती है ग्रीन टी। चित्र-शटरस्टॉक।

आपको कितना सेवन करना चाहिए?

उबलते हुए पानी में ग्रीन टी की पत्तियां डालें या एक कप गर्म पानी में टी बैग डालें। इसे 3-4 मिनट तक पानी में अच्छे से मिलाएं। सुनिश्चित करें कि आप पानी में तभी ग्रीन टी मिलाएं जब वह आंच पर न हो। आप इसमें स्वाद के लिए एक चम्मच शहद भी मिला सकती हैं।

आप दिन में तीन से चार बार ग्रीन टी का सेवन कर सकती हैं।

यह कैसे मदद करती है?

ग्रीन टी एक एंटीऑक्सिडेंट है, इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं और यह चयापचय को उत्तेजित करती है। जो इसे PCOS के लिए सबसे प्रभावी घरेलू उपचार में से एक बनाता है। ग्रीन टी में उच्च स्तर के पॉलीफेनोल होते हैं जो सेलुलर क्षति को रोकने में मदद करते हैं और बदले में महिलाओं के एंड्रोजन के स्तर को प्रभावित करता है।

यह भी पढें: जब आप नियमित गोल्डन मिल्क या हल्दी वाले दूध का सेवन करती हैं, तो आपके स्‍वास्‍थ्‍य को मिलते हैं ये 6 लाभ

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।