वैलनेस
स्टोर

मौसम बदल रहा है, ये 4 होम रेमेडीज देंगी आपको मौसमी संक्रमण से राहत

Updated on: 9 March 2021, 15:11pm IST
इस मौसम में सर्दी लगना, बुखार आना और गले में खराश आम बात है। पर घबराएं नहीं, कुछ घरेलू नुस्‍खे आपको इससे राहत दे सकते हैं।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 74 Likes
जानिए वायरल संक्रमण से बचने के घरेलू नुस्खे. चित्र : शटरस्टॉक

सर्दियों का मौसम जा चुका है और गर्मियां आने वाली हैं। इस बदलते मौसम में ज्‍यादातर लोग सर्द-गर्म, जुकाम और बुखार से ग्रस्‍त हो रहे हैं। उस पर कोविड महामारी ने हर बुखार से डरा दिया है। ऐसे में यह जरूरी है कि आप बुखार के बारे कुछ जरूरी बातों को जान लें।

ऐसे मौसम में बुजुर्गों, बच्‍चों और उन लोगों को, जिनकी इम्‍युनिटी कमजोर है खास तौर पर सतर्क रहने की जरूरत है। इन्ही बीमारियों से बचने के लिए आपको चिकित्सीय सलाह के साथ कुछ घरेलू उपाय अपनाने की ज़रुरत है जिससे आप खुद की और अपने परिवार की देखभाल कर सकें।

पहचानिए वायरल फीवर के ये सामान्‍य संकेत

बुखार
सिरदर्द
बदनदर्द
खांसी आना
नाक बंद होना
गले में खराश
मांसपेशियों में खिंचाव
ज्यादा थकान महसूस करना

सिरदर्द हो सकता है वायरल संक्रमण का लक्षण ।चित्र- शटरस्टॉक।
सिरदर्द हो सकता है वायरल संक्रमण का लक्षण ।चित्र- शटरस्टॉक।

अगर ऐसे लक्षण 2-3 दिन से ज्यादा रहते हैं, तो चिकित्सीय सलाह ज़रूर लें। क्योंकि कोविड-19 के भी कुछ ऐसे ही लक्षण होते हैं। लेकिन, बदलते मौसम के बुखार से बचने के लिए ये घरेलू उपाय ज़रूर करें।

1 हल्दी वाला दूध पिएं

हल्दी दूध सेहत के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। इसे सिर्फ चोट लगने पर ही नहीं बल्कि ऐसे भी पी सकते हैं, क्योंकि ये बीमारियों को दूर भगाने का एक अच्छा उपाय है। ये एंटीबायोटिक होता है और इसमें कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट्स भी मौजूद होते हैं, जो शरीर की इम्युनिटी बढ़ाते हैं। रात को सोने से पहले आपको बस एक गिलास दूध में आधी छोटी चम्मच हल्दी मिलाकर उबाल आने तक पकाना है। आपका हल्दी दूध तैयार है!

2 तुलसी का काढ़ा

आपने तुलसी के फायदों के बारे में बहुत सुना होगा क्योंकि यह एक आयुर्वेदिक औषधि है और स्वास्थ्य के लिये बेहद फायदेमंद भी है। खांसी और जुकाम के लिए तुलसी का काढ़ा एक राम बाण औषधि है।

तुलसी में एंटी-बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं, जो आपको इंफेक्शन से लड़ने में मदद करती है। रोज़ सुबह तुलसी के 4 से 5 पांच पत्तों को पानी के साथ उबाल लें। चाहें तो इसमें थोड़ा शहद और दालचीनी भी डाल सकती हैं। शहद और दालचीनी दोनों ही सर्दी और खांसी से रहत दिलाते हैं।

3 अदरक और शहद

सर्दी-खांसी और कफ की वजह से छाती में जकड़न महसूस हो सकती है और गला भी खराब हो सकता है। दिन में एक दो बार थोड़ी सी अदरक को घिस कर शहद के साथ मिलाकर खाएं। इससे न सिर्फ संक्रमण से राहत मिलेगी, बल्कि सर्दी खांसी भी दूर हो सकती है। साथ ही अदरक और शहद लेने से गले की खराश में भी राहत मिलेगी।

गुनगुने पानी मे शहद और अदरक मिलाकर पीने से वायरल संक्रमण से बच सकते हैं । चित्र : शटरस्टॉक
गुनगुने पानी मे शहद और अदरक मिलाकर पीने से वायरल संक्रमण से बच सकते हैं । चित्र : शटरस्टॉक

4 गर्म पानी की भाप

अगर आपको बंद नाक की समस्या है और सिरदर्द है तो गर्म पानी की भाप लें। चाहें तो इसमें तुलसी और पुदीने के पत्ते डाल लें। पुदीने और तुलसी में एंटी-बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं, जो बंद नाक को खेलेंगी और सिर दर्द से राहत दिलाएंगी।

इसके साथ ही बुखार से बचने के लिए ये सावधानियां बरतें:

ठंडी चीजों को खाने से परहेज करें
ठंडा पानी और कोल्ड ड्रिंक न पिएं
पूरी बाजू के कपड़े पहनें
एसी व कूलर चलाने से बचें।

यह भी पढ़ें : कार्डियक अरेस्ट में जरूरी है 6 मिनट के भीतर कार्रवाई करना, यहां जानिए इसका प्राथमिक उपचार

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।