#HeartMatter : जो आपके दिल के करीब हैं, उन्हें दीजिए ये 3 तरह के फूल, हार्ट हेल्थ होगी बेहतर 

वैज्ञानिक अध्ययनों में यह साबित हो चुका है कि कुछ खास तरह के फूलों को सूंघने और उनके ऑयल की मसाज से हार्ट हेल्थ को फायदा मिलता है। 

dil ke liye fool
दिल के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं लिली ऑफ़ वैली, रोज़ और लैवेंडर| चित्र : शटरस्टॉक
स्मिता सिंह Published on: 29 September 2022, 14:19 pm IST
  • 128

फूलों की खूबसूरती और खुशबू किसे पसंद नहीं होती। फूल से तनाव मिनटों में छूमंतर हो सकता है। पर क्या आप जानती हैं कि फूल आपके दिल को भी स्वस्थ रख सकता है। यदि आपको दिल संबंधी कोई दिक्कत है, तो यह उसे भी ठीक कर सकता है। फूल की पंखुड़ियों को सीधे तौर पर सलाद या माउथ फ्रेशनर के रूप में खाया जा सकता है। पर फूल की पंखुड़ियों की चाय, काढ़ा, फूल के तेल के रूप में भी इसे लिया जा सकता है। फूल की पंखुडियां  दिल को स्वस्थ रखती (Flowers for heart health) हैं।

यहां पर बताये जा रहे 3 फूल हैं हार्ट हेल्थ के लिए फायदेमंद  

कई स्टडीज बताती है कि फूल ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। कोलेस्ट्रॉल लेवल को घटाते हैं और मेंटल हेल्थ को भी मजबूत करते हैं। कुछ फूल जैसे कि जैस्मिन और मेरीगोल्ड पाचनतंत्र को भी दुरुस्त करते हैं। 

हालांकि फूलों पर और अधिक रिसर्च होना बाकी है, कि किस तरह ये शारीरिक अंगों पर काम करते हैं। पर यहां पर बताये जा रहे 3 फूलों के बारे में रिसर्च से यह साबित हो चुका है कि ये हार्ट हेल्थ के लिए फायदेमंद हैं।  

1 लिली ऑफ़ द वैली (Lily Of The Valley)

घंटी के आकार की होती है सफेद रंग की लिली ऑफ़ द वैली। यह फूल यूरेशिया और नार्थ अमेरिका में मुख्य रूप से पाया जाता है। लिली ऑफ़ द वैली छायादार जगहों में उगाई जाती है। 

दिल की अलग- अलग समस्याओं के निदान में इसका प्रयोग किया जाता है। यह ड्रॉप्सी के इलाज में भी मदद करता है। वर्ल्ड वार के दौरान जो सैनिक विषाक्त गैसों के कारण बेहोश हो जाते थे, उन्हें ठीक होने में मदद करने के लिए लिली ऑफ़ द वैली का प्रयोग किया जाता था।

जर्नल ऑफ़ न्यूरोलॉजी न्यूरो सर्जरी एंड साइकाइट्री में वर्ष 1995 में प्रकाशित शोध आलेख के अनुसार, लिली ऑफ द वैली से मेडिसिन बनाने के लिए जड़, जमीन के अंदर पाए जाने वाले तना (Rhizome) और सूखे फूलों के टिप्स का उपयोग किया जाता है। यह मुख्य रूप से हार्ट मसल्स पर काम करता है। यह बढ़े हुए हार्ट रेट को नियंत्रित करता है और दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

2 लैवेंडर (Lavender)

पब मेड सेंट्रल में वर्ष 2012 में शामिल की गयी रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार, लैवेंडर से तैयार तेल को सूंघने के बाद सेंट्रल नर्वस सिस्टम, ऑटोनोमिक नर्वस सिस्टम और मूड रेस्पॉन्स पर भी बढ़िया प्रभाव पड़ा। इस रिसर्च में 20 प्रतिभागियों को शामिल किया गया। जिसमें प्रतिभागियों की लैवेंडर के तेल से मसाज की गई।

लैंवेंडर ऑयल आपको मेंटली कूल रखता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
लैंवेंडर ऑयल आपको मेंटली कूल रखता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

उनकी कलाइयों और गर्दन पर इस तेल को लगाया गया। इससे एंग्जायटी के कारण जो उत्तेजना देखी गयी, उसमें कमी आई। रक्तचाप और बढ़ी हुई हृदय गति सामान्य हो पाई। लैंवेंडर ऑयल की मजाज ने त्वचा के तापमान को भी नियंत्रित करने में मदद की।

3 गुलाब (Rose)

वैज्ञानिक डगलस जी मेनुएल और रिसर्च कॉडीनेटर जेनी लिम के अनुसार, गुलाब विटामिन सी से भरपूर होता है। इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं। इसकी पंखुड़ियां दिल से जुड़ी कई बीमारियों के लिए लाभकारी होती हैं। 

इसमें मौजूद फ्लेवोनॉइड्स, बायोफ्लेवोनॉइड्स, साइट्रिक एसिड, फ्रक्टोज, मैलिक एसिड, टैनिन और जिंक हमारे दिल के लिए काफी फायदेमंद होता है।

rose day par khud ko pamper kerin is rose skincare routine ke sath
स्किन के साथ साथ दिल के लिए भी फायदेमंद है गुलाब. चित्र : शटरस्टॉक

यदि गुलाब की पत्तियों को अर्जुन के पेड़ की छाल के साथ लिया जाए, तो इसका फायदा दो गुना हो जाता है। दोनों को एक साथ उबाल कर काढ़ा तैयार कर लें। दिल को स्वस्थ रखने के लिए प्रतिदिन आधा कप काढ़ा रोज पिया जा सकता है। 

यह भी पढ़ें :-ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल कर सकता है चिरायता, जानिए इसके खास एंटीडायबिटिक गुणों के बारे में 

  • 128
लेखक के बारे में
स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory