ऐप में पढ़ें

रसोई में मौजूद ये 3 मसाले दिला सकते हैं आपको गैस, अपच और कब्ज से छुटकारा, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

Updated on: 10 November 2021, 14:34pm IST
फेस्टिवल के बाद अगर कोई सबसे ज्यादा परेशान होता है, तो वह है आपका पेट। मगर परेशान न हों, क्योंकि इनका समाधान भी आपकी रसोई में ही है।
heengh maithi aur lehsun aap ka theek kar sakte hain pait
हींग, लहसुन और मैथी दिला सकते हैं आपको गैस, अपच और कब्ज से छुटकारा

हमारे आसपास हर 5 में से दो व्यक्ति में बदहजमी, एसिडिटी, गैस आदि की समस्या है। क्या आपने कभी सोचा है कि आजकल पेट से संबंधित समस्याएं इतनी आम क्यों हो गई हैं? इसका एक ही जवाब है, हमारी अव्यवस्थित जीवन शैली। खानपान में होने वाली लापरवाही, भागदौड़ भरी जिंदगी, बाहर का खाना और बेवक्त सोने और उठने की आदतें। अस्वस्थ खाने की आदत व्यक्ति को पाचन संबंधित समस्याओं के घेरे में डाल सकती हैं।

जब आपको कई बार पेट से जुड़ी समस्याएं होने लगें, तो फिर आपके लिए यह समझना बहुत जरूरी है कि इसका बेहतर इलाज क्या है। 

क्यों होने लगती हैं पाचन संबंधी समस्याएं 

अनियमित जीवनशैली और बढ़ती उम्र के कारण पाचन शक्ति कमजोर पड़ जाती है। उसका संतुलन बिगड़ने लगता है, जिससे पेट भी कमजोर होता है। इसलिए बार-बार पेट संबंधी समस्याएं होने लगती हैं। 

kamzor paachan aur galat khaan- paan hai acidity ka kaaran
पाचन तंत्र का कमजोर पड़ना कई समस्या पैदा कर सकता है । चित्र: शटरस्टॉक

लेकिन रोज इस्तेमाल किए जाने वाले तीन मसाले आपके पाचन समस्याओं को दूर करने में सहायता कर सकतें है, जिसमें हींग, मेथी, और लहसुन आपके बेहद काम आएंगे। 

आयुर्वेद में क्या है भोजन और पाचन का संबंध 

आयुर्वेद मे कहा गया है कि खाना सही ढंग से पचने के लिए पाचन अग्नि का संतुलन रहना बहुत जरूरी होता है। अग्नि को आयुर्वेद विज्ञान में मूल तत्व माना गया है। इस पाचन अग्नि की तुलना ज्वलित अग्नि ( जलती हुई आग ) के साथ की जा सकती है। 

आप इसे इस तरह समझ सकते हैं कि यदि अग्नि कम हो जाए तो खाना पकने में समय लग जाता है और अगर अग्नि ज्यादा हो जाए, तो खाना समय से पहले ही जल जाता है। यही हाल हमारे भोजन और जठराग्नि यानी पाचन का भी है। 

आयुर्वेद में हमें इसी अग्नि को संतुलित बनाए रखने के लिए कई उपाय बताए गए हैं। जब हमारी जठराग्नि संतुलित नहीं होती, तो हमारे शरीर में एसिडिटी, गैस, बदहजमी जैसी पेट की तकलीफ हो सकती हैं। आयुर्वेद के अनुसार, ”स्वस्थ पाचन ही अच्छी सेहत की शुरुआत है।”

यहां जानिए पाचन संबंधी समस्याओं के लक्षण 

  1. जी मिचलाना
  2. पेट में गैस होना
  3. पेट फूलना
  4. दस्त होना
  5. कब्ज होना
  6. सीने में जलन की शिकायत
  7. मल में खून आना
  8. भूख बहुत कम लगना
  9. बवासीर जैसी समस्या होना
  10. काले रंग का मल होना

पाचन संबंधी समस्याओं से निजात दिला सकते हैं आपकी रसोई में मौजूद ये 3 मसाले 

paachan sambandhit samasya se bachne ke liye jane ye upaye
पाचन सम्बंधित समस्या से बचने के लिए जाने ये उपाय. चित्र : शटरस्टॉक

हींग 

केवल हमारे भोजन में स्वाद बढ़ाने के लिए ही हींग काम नहीं आती है, बल्कि हींग के अनेक औषधीय गुण भी मौजूद हैं। यह गुण हमारी पाचन समस्याओं को दूर करने में फायदेमंद साबित होते हैं। 

 

हींग में कैल्शियम, विटामिन, एंटी ऑक्सीडेंट, आयरन समेत एंटीवायरल व अन्य गुण मौजूद होते हैं। जो हमारे पाचन तंत्र के लिए बहुत आवश्यक हैं। इनमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण गैस, अपच की समस्या के साथ कब्ज से निजात दिलाने में मदद करते हैं। 

मेथी दाना 

पाचन से जुड़ी समस्या को दूर करने के लिए मैथी के दाने (Fenugreek seeds) बड़ा योगदान कर सकते हैं। इसका सेवन कई प्रकार से किया जा सकता है। खाने में लोग अक्सर मेथी के दानों का उपयोग करते हैं। 

हालांकि मेथी को पानी में भिगोकर और मेथी का चूर्ण बनाकर सेवन करने से भी पेट की समस्याओं से निजात पाया जा सकता है। मेथी के दाने शरीर के अंदर मौजूद सारी गंदगी को बाहर निकाल देते हैं। जिससे पेट से संबंधित किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं होती। 

लहसुन

लहसुन भारतीय व्यंजनों में कई तरह से इस्तेमाल किया जाता रहा है। यह खाने में अद्भुत टैंगी फ्लेवर जोड़ता है। आयुर्वेद के अनुसार यह आपके भोजन को आसानी से पचने में भी मदद करता है। 

सुबह खाली पेट लहसुन खाने से भी पाचन तंत्र को सुचारू बनाने में मदद मिलती है। इसके साथ ही यह वजन कम करने में भी आपकी सहायता करता है। ध्यान रहे कि आप लहसुन का उपयोग सुबह ताजा ही करें और उचित मात्रा में ही करें। ज्यादा मात्रा में लहसुन का सेवन भी आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। 

यह भी पढ़े : पोस्ट कोविड लक्षणों से उबरने में मदद कर सकते हैं विटामिन डी सप्‍लीमेंट, एक्सपर्ट बता रहे हैं कैसे

अक्षांश कुलश्रेष्ठ अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में