वैलनेस
स्टोर

प्रेगनेंसी में पैर सूजने लगे हैं, तो इन 6 टिप्स को अपना कर पाएं इससे राहत

Published on:1 August 2021, 12:00pm IST
गर्भावस्था के दौरान पैरों में सूजन आना बेहद आम है। हालांकि, कुछ उपाय हैं जो आप इस स्थिति से बचने के लिए कर सकती हैं। चलिए पता करते हैं
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 84 Likes
प्रेगनेंसी के दौरान पैरों में सूजन बढ़ सकती है. चित्र : शटरस्टॉक

गर्भावस्था की अपनी कुछ समस्याएं हैं और कई वुड-बी-मॉम्स को इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी देखने को मिलते हैं। गर्भावस्था की शुरुआत से लेकर प्रसव तक की प्रक्रिया के दौरान एक मां को बहुत कुछ झेलना पड़ता है। इस समय के दौरान सबसे आम जटिलताओं में से एक है पैरों की सूजन, या जिसे विशेषज्ञ एडिमा कहते हैं।

पैरों में एडिमा गर्भावस्था के किसी भी चरण में हो सकती है, लेकिन तीसरी तिमाही के दौरान यह गंभीर हो सकती है। अमेरिकन प्रेगनेंसी एसोसिएशन के अनुसार, सूजन गर्भावस्था का एक सामान्य हिस्सा है, जो अतिरिक्त रक्त और तरल पदार्थ के कारण होता है। जो शरीर शिशु की जरूरतों को पूरा करने के लिए पैदा करता है।

हालांकि, कुछ तरीके हैं जो सूजन को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं। आइए उन पर एक नजर डालते हैं:

1. एप्सम सॉल्ट फुट सोक

आमतौर पर इस्तेमाल किया जाने वाला घरेलू उपाय है कि आप अपने पैरों को गर्म पानी के टब में भिगो दें। एप्सम सॉल्ट फुट सोक न केवल सूजन को कम करता है, बल्कि मांसपेशियों के दर्द में भी मदद कर सकता है।

एप्सम सॉल्ट फुट सोक बनाने के लिए:

अपने टब को गर्म पानी से भरें, जब तक कि यह आपके पैरों को ढकने के लिए पर्याप्त गहरा न हो जाए।

गर्म पानी में 1/2 कप एप्सम सॉल्ट मिलाएं।

सप्ताह में दो बार अपने पैरों को 20 से 30 मिनट तक डुबोकर रखें।

एसेंशियल ऑयल्स की कुछ बूंदें मिलाएं जैसे लैवेंडर, गुलाब या टी ट्री।

आप इसे अपने बाथटब में मिलाकर एक एप्सम सॉल्ट बाथ भी ले सकती हैं। बस यह सुनिश्चित करें कि पानी बहुत गर्म न हो!

गुनगुने पानी में पैर डुबोना आपकी नींद के लिए अच्‍छा हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
गुनगुने पानी में पैर डुबोना आपकी सूजन के लिए अच्छा हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

2. अपने पैरों को ऊपर उठाएं

बहुत देर तक खड़े रहने से आपके पैरों पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है, जिससे सूजन और बढ़ जाती है। इसलिए, जब भी आप आराम कर रही हों या लेट रही हों, तो अपने पैरों को तकिए पर रखें। इसे 20 मिनट, दिन में 3-4 बार करें। इससे निचले हिस्सों में सूजन से राहत मिलेगी।

3. भरपूर मात्रा में पोटेशियम लें

आप गर्भावस्था के दौरान अपने प्लेट में पोटेशियम युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करके सूजे हुए पैरों को कम करने का प्रयास कर सकती हैं। शरीर में पोटेशियम की कमी से वॉटर रिटेंशन और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाती है।

यह एक महत्वपूर्ण खनिज है क्योंकि यह शरीर में नमक और पानी के अनुपात को बनाए रखने में मदद करता है। कुछ पोटेशियम युक्त खाद्य पदार्थों में शामिल हैं:

शकरकंद
सामन मछली
केला
पिस्ता

4. कम्प्रेशन सॉक्स / आइस पैक

आपके स्थानीय दवा की दुकान पर उपलब्ध, कम्प्रेशन सॉक्स दर्द से राहत प्रदान करते हैं और रक्त प्रवाह को बनाए रखने में मदद करके आपके पैरों में द्रव संग्रह को रोकते हैं, जिससे असुविधा और सूजन कम होती है।

5. हाइड्रेटेड रहें

हैरानी की बात है कि हाइड्रेटेड रहने से आपके शरीर को कम पानी बनाए रखने में मदद मिलती है। बहुत सारे तरल पीने से सूजन को कम करने में मदद मिल सकती है। जब आपका शरीर डिहाइड्रेट होता है, तो यह उसके पास मौजूद तरल पदार्थ पर टिका रहता है, जो सूजन में योगदान देते हैं। इसलिए दिन में 7-8 गिलास पानी पिएं और हाइड्रेटेड रहें।

ज्यादा पानी पीना भी आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है. चित्र ; शटरस्टॉक
पानी कि कमी न होने दें. चित्र ; शटरस्टॉक

6. पैरों की मालिश

मालिश सूजन वाले पैरों के लिए बहुत अच्छी हो सकती है और विश्राम को भी बढ़ावा देती है। गर्भावस्था के दौरान सूजन होना आम बात है। अपने पैरों की मालिश करना सूजन वाले पैरों को राहत देने का एक प्रभावी तरीका है, क्योंकि यह तरल पदार्थ को दूर करके, सूजन को कम करेगा।

सूजन को कम करने या रोकने के लिए कुछ सरल उपाय:

अधिक प्रोटीन खाएं

थोड़ी देर टहलें

प्रतिदिन 20 मिनट व्यायाम करें

यदि आपका वज़न ज्यादा है तो वजन कम करने का प्रयास करें

मैग्नीशियम की खुराक मददगार हो सकती है

नमक का सेवन सीमित करें

डॉक्टर को कब दिखाना है:

सूजन के पीछे का कारण हर व्यक्ति में अलग-अलग हो सकता है, तो हो सकता है कि ये उपाय सभी के लिए प्रभावी न हों। यदि इनमें से कोई भी आपके सूजे हुए पैरों को कम करने में सक्षम नहीं है, तो आपको अपने डॉक्टर को देखना चाहिए।

जबकि पैरों में सूजन आम तौर पर मां को कोई नुकसान नहीं पहुंचाती है, कुछ मामलों में, यह एक गंभीर स्थिति विकसित होने का एक विशिष्ट संकेत है जिसे प्रीक्लेम्पसिया कहा जाता है। जब सूजन अचानक आती है, चाहे वह चेहरे में अत्यधिक सूजन, रक्तचाप, गंभीर सिरदर्द, और मूत्र उत्पादन में कमी के कारण हो; अपने डॉक्टर से परामर्श करना महत्वपूर्ण है।

यह भी पढ़ें : जी हां, एक्सरसाइज दे सकती है आपको पीरियड क्रैम्प्स में राहत, हम बता रहे हैं 6 प्रभावशाली व्यायाम

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।