बहुत ज्यादा सब्जियां और बहुत ज्यादा वर्कआउट भी है सेहत के लिए खराब, जानिए ऐसी ही 5 हेल्दी आदतों के साइड इफेक्ट

आपका स्वास्थ्य तभी बेहतर रह सकता है, जब हर चीज का संतुलन बैठाना सीख जाएं। किसी भी चीज की अधिकता उतनी ही नुकसानदेह है, जितनी कमी। यहां जानते हैं कैसे।
workout
कई बार अधिकता भी हेल्थ साइड इफेक्टस का कारण बन सकती हैं, जानते हैं कैसे। चित्र : एडॉबीस्टॉक
ज्योति सोही Published: 27 May 2023, 08:00 am IST
  • 141

शरीर को सेहतमंद बनाए रखने के लिए हम कई गुड हैब्टिस को अपने जीवन में सम्मिलित कर लेते हैं। कई बार वहीं अच्छी आदतें, हमारे शरीर के लिए कब बुरी साबित हो जाती हैं, हम खुद भी नहीं जान पाते। सुबह जल्दी उठने से लेकर हेल्दी डाइट फॉलो करने तक हम जीवन में कई परिवर्तन करते हैं। मगर इनमें से कई अच्छी आदतें हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाने का भी काम करती है। आइए जानते हैं। ये आदतें कैसे करती हैं आपके शरीर को अफे्क्ट (side effects of good habits)।

कई बार अच्छी आदतों की अधिकता भी हेल्थ साइड इफेक्टस का कारण बन सकती हैं, जानते हैं कैसे

1.ज्यादा देर तक ब्रश करना

बहुत से लोग खाना खाने के एक दम बाद दांतों की सफाई करने में व्यस्त हो जाते हैं। सुबह और शाम दोनो वक्त दांतों को साफ करने वाले लोगों के दांत तो अक्सर सफेद हो जाते हैं। वही खाना खाने के एकदम बाद ब्रश करना दांतों के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। इस बारे में दांत रोग विशेषज्ञ डॉ रेशमा सुरेश का कहना है कि खाना खाने के एकदम बाद ब्रश करने की जगह आधे घंटे बाद ब्रश करें। दरअसल, माउथ में स्लाइवा को अपना वर्क करने के लिए समय चाहिए होता है। ऐसे में भोजन के बाद कुल्ला कर लें और दांतों की सफाई के लिए आधे घण्टे की प्रतीक्षा करें।

daant kaise safed kare
खाना खाने के एकदम बाद ब्रश करना दांतों के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

2. बार-बार पानी पीना

जहां कम पानी हमारे शरीर को निर्जलीकरण, यूटीआई और डाइजेशन संबधी समस्याओं से जकड़ सकता है। तो वहीं अत्यधिक पानी पीना भी शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकता है। ज्यादा पानी पीने से ब्लड में सोडियम की मात्रा तरल होने लगती है। इसे हाइपोनेट्रेमिया कहकर पुकारा जाता है। ज्यादा पानी पीने से किडनी और हार्ट पर प्रैशर बनने लगता है। बिना प्यास लगे पानी पीने से बचें। अगर आपका यूरिन पीला आ रहा है या गला बार बार सूख रहा है, एस वक्त आप गिलास भरकर पानी पी सकते हैं।

3. एक साथ ढेर सारी सब्जियों को शामिल करना

इसमें कोई दोराय नहीं कि सब्जियां हमारे शरीर को कई पौष्टिक तत्व प्रदान करती है। पोषण से समृद्ध सब्जियों का प्रयोग सलाद से लेकर स्मूदीज़ तक हम हर चीज़ में बढ़चढ़ कर करते हैं। फाइबर से भरपूर वैजीज़ का ज्यादा इनटेक इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम यानि आईबीएस का कारण बन सकता है। सेम की फली, ब्रोकोली, पत्ता गोभी और फूल गोभी जैसी सब्जियां का ज्यादा सेवन शरीर में इस समस्या को बढ़ा सकता है। इससे पेट में ऐंठन, दर्द, डायरिया और एसिडिटी की समस्या पनपने लगती है।

4. ज्यादा देर तक वर्कआउट करना

बॉडी मसल्स को लचीला बनाने और मज़बूती प्रदान करने के लिए वर्कआउट ज़रूरी है। अगर आप इसे ज्यादा देर तक करती हैं, तो कई बार इसके दुष्प्रभाव भी शरीर को झेलने पड़ते हैं। अगर आप इसे ज्यादा देर तक करते हैं, तो कई बार शरीर के चोटिल होने का खतरा रहता है। इसके अलावा शरीर बहुत अधिक थक जाता है। लगातार कई घंटों तक किया जाने वाली एक्सरसाइज़ चिड़चिड़ापन, गुस्सा और अनिद्रा का कारण बन सकता है।

zyada workout karne se bachna chahiye
अत्यधिक वर्कआउट आपके दिल को बीमार कर सकता है।चित्र: शटरस्टॉक

5. ज्यादा सप्लीमेंटस लेना

जहां फोलिक एसिड शरीर में आयरन की कमी को पूरा करते हैं, तो वहीं विटामिन ई स्किन, आंखों और मस्तिष्क के लिए फायदेमंद साबित होते हैं। अगर आप शरीर को हेल्दी रखने के लिए विटामिन्स, प्रोटीन और कैल्शियम के सप्लीमेंटस ले रही हैं, तो वो आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी साबित हो सकते है। सप्लीमेंट हेल्दी डाइट और लाइफ स्टाइल का विकल्प नहीं हो सकते हैं। अगर आप कोई भी सप्लीमेंट ले रही हैं, तो डॉक्टरी जांच के बाद ही लें। कई बार खुद को हेल्दी और स्वस्थ्स रखने के आपकी आदत आपके शरीर के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है।

ये भी पढ़ें- दिन भर भूख लगते रहना हो सकता है पोषण की कमी का संकेत, यहां जानिए भूख को ट्रिगर करने वाले 5 कारण

  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख