फॉलो

मैडम, जिसे आप ब्‍यूटी प्रोब्‍लम समझ रहीं हैं, वे हो सकते हैं पोषण की कमी के संकेत

Published on:2 September 2020, 16:00pm IST
जब भी हम पोषण की कमी या कुपोषण के बारे में सुनते-पढ़ते हैं तो हमारा ध्‍यान एक खास वर्ग या देश के बच्‍चों की तरफ ही जाता है। लेकिन क्या आप जानती हैं कि हर रोज रिच फूड लेने के बाद भी आप में पोषण की कमी हो सकती है।
विदुषी शुक्‍ला
  • 75 Likes
नजरअंदाज ना करें यह संकेत जो बताते हैं कि आप में पोषण की कमी है. चित्र- शटरस्टॉक।

क्या आप जानती हैं कि पोषण की कमी का भूखे रहने से कोई लेना देना नहीं है। और आप जो खुद को स्वस्थ समझती हैं, आप भी पोषण की कमी से ग्रस्त हो सकती हैं?

यूनिसेफ के अनुसार पोषण की कमी या कुपोषण का अर्थ है प्रोटीन, कैलोरी या माइक्रो न्यूट्रिएंट की कमी। यह कमी सिर्फ तभी नहीं होती जब भरपेट भोजन न मिले, यह तब भी हो सकती है जब आप खाना तो खा रहे हैं, लेकिन उस खाने में पौष्टिक तत्व नहीं हैं। अधिकांश लोग आज इस कुपोषण का शिकार हैं। WHO के सर्वेक्षण के अनुसार दुनिया भर में लगभग 2 बिलियन वयस्क ओवरवेट होने के बावजूद कुपोषण का शिकार हैं।

जाने कैसे आप हो सकती हैं कुपोषित।Gif- giphy।

आयरन, कैल्शियम, जिंक, विटामिन ए और आयोडीन वह मुख्य पोषक तत्व हैं जिनकी कमी अधिकतर लोगों में पाई जाती है।
2011 की एक स्टडी जिसमें 1500 एडल्ट्स का डेटा पढ़ा गया, उसमें पाया गया कि 2 से 10 प्रतिशत ओबीस व्यक्तियों में विटामिन ए और विटामिन ई की कमी होती है।

लेकिन आपको कैसे पता चलेगा कि आप कुपोषित हैं? इसके कुछ आम लक्षण हैं जो आपके शरीर में नजर आते हैं। अगर आपको खुद में ये लक्षण दिखते हैं, तो आप भी पोषण की कमी से ग्रस्त हैं।

1. अनियोजित वेट लॉस या वेट गेन

जरूरी नहीं कि पोषण की कमी में वजन कम ही हो, यह बढ़ भी सकता है। आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमी है, फैट की नहीं। अगर यह अनियोजित वेट लॉस या गेन एक महीने से अधिक समय तक जारी रहे, तो डॉक्टर की सलाह ले लेना ही उचित होता है।

2. आंखों के नीचे काले घेरे

आपके शरीर में पोषण की कमी सबसे पहले आपकी आंखों को ही प्रभावित करती है। आपकी आंखों के नीचे गड्ढे पड़ना, आंखों में दर्द होना या कम दिखाई पड़ना पोषण की कमी के ही लक्षण हैं। विटामिन ए की कमी से आपको दिखना कम हो जाता है, खासकर अंधेरा होने के बाद। कमी ज्यादा समय तक रही तो आपको नाईट ब्लाइंडनेस भी हो सकती है।

विटामिन ए की कमी का सबसे पहला असर आपकी आंखों पर ही पड़ता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

3. घाव भरने में समय लगना

अगर आपकी चोट आसानी से हील नहीं होती, तो यह जिंक की कमी की निशानी है। हालांकि आपके शरीर को क्या आवश्यकता है यह डॉक्टर टेस्ट के बाद ही बता सकते हैं। लेकिन इस लक्षण को इग्नोर करने के बजाय गंभीरता से लें।

4. हर वक्त थकान और कच्ची नींद

गहरी नींद सोना हमारे लिए बहुत आवश्यक होती है क्योंकि उस दैरान दिमाग आराम करता है और तभी सुबह उठने के बाद आपको फ्रेश महसूस होता है। अगर आपकी नींद पूरी नहीं होती तो आपको दिन भर थकान और चिड़चिड़ापन महसूस होगा। लेकिन अगर आप 6 से 8 घण्टे की नींद ले रही हैं मगर फिर भी थकान महसूस हो रही है, तो आप में विटामिन डी की कमी हो सकती है।

5. गले मे सूजन महसूस होना

अगर आपको अपने गले में लगातार सूजन या दर्द महसूस होता है तो यह गोइटर का शुरुआती चरण हो सकता है। गोइटर आयोडीन की कमी से होता है जिसमें थायराइड ग्लैंड सूजने लगती है। महिलाओं में यह समस्या पुरुषों के मुकाबले ज्यादा देखी जाती है। इसलिए गले में दर्द है तो उसे इंफेक्शन मानकर नजरअंदाज न करें।

6. बाल झड़ना

झड़ते बाल शरीर के अस्वस्थ होने की पहली निशानी है। आपके शरीर में प्रोटीन, विटामिन ई या विटामिन सी की कमी होने पर बाल अत्यधिक झड़ने लगते हैं। बालों का झड़ना किसी हॉर्मोनल समस्या का लक्षण भी हो सकता है। इसलिए अगर आपके बाल सामान्य से अधिक झड़ रहे हैं और एक महीने तक गिरते बालों में कोई कमी नहीं आयी है तो डॉक्टर से मिलना ही सबसे बेहतर उपाय होगा।

झड़ते बाल शरीर के अस्वस्थ होने की पहली निशानी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

इन माइक्रोन्यूट्रिएंट की कमी लम्बे समय में काफी गम्भीर समस्या खड़ी कर सकती है। डायबिटीज, ओबेसिटी, इनफर्टिलिटी और हृदय रोग इत्यादि की संभावना कुपोषण के कारण बढ़ जाती है।

एक गंभीर स्थिति जब आपका शरीर नहीं अब्‍सॉर्ब नहीं कर पाता

अगर आप पौष्टिक आहार लें रही हैं तो भी आप में पोषण की कमी हो सकती है। कई ऐसी बीमारी हैं जिसमें शरीर पोषक तत्वों को अब्सॉर्ब नहीं कर पाता जिसके कारण शरीर में पोषण की कमी हो जाती है। क्रोहस डिसीज और सेलिएक डिसीज होने पर आपका पाचनतंत्र आपके खाने से पोषण को सोख नहीं पाता। यही नहीं, आंतो में बैक्टीरिया इंफेक्शन होने पर भी भोजन में मौजूद पोषक तत्वों को शरीर सोख नहीं पाता जो कुपोषण का कारण बनता है।

इसलिए इन छोटे-छोटे लक्षणों पर खास ध्यान दें और इसमें से दो या उससे अधिक लक्षण होने पर जल्द से जल्द डॉक्टर से सलाह लें। बिना डॉक्टर से पूछे कोई भी सप्लीमेंट न लें। अपने शरीर का ख्याल रखें।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।

संबंधि‍त सामग्री