फॉलो

नींद पूरी करने के बाद भी दूर नहीं होती थकान? तो इन 7 चीजों को जरूर चैक करें

Published on:28 September 2020, 10:21am IST
हर व्‍यक्ति के लिए 6 से 8 घंटे की नींद जरूरी है, लेकिन अगर आठ घंटे की नींद पूरी करने के भी आप सुबह को थकी हुई उठती हैं तो आपको कुछ चीजों पर तुरंत ध्‍यान देना होगा।
प्रेरणा मिश्रा
  • 79 Likes
व्रत थकान का कारण बन सकते है जाने यहाँ सही तरीका व्रत करने के।: शटरस्‍टॉक

रात भर सोने के बाद सुबह को सिर भारी, दिन भर एनर्जी की कमी और हर समय थकान का अनुभव किसी हैक्टिक डे के आद के इफैक्‍ट हो सकते हैं। पर अगर आपके साथ हर रोज यही हो रहा है तो आपको इस पर तुरंत ध्‍यान देने की जरूरत है। हर समय रहने वाली थकान और एनर्जी की कमी आपके स्‍वास्‍थ्‍य और जीवन शैली संबंधित स्थितियों की ओर संकेत करती है। 

आज पूरा विश्व पैंडेमिक से लड़ रहा है, ऐसे में तनाव का हर घर और हर व्यक्ति से संबंध है। यह न सिर्फ आपको मानसिक रूप से, बल्कि शारीरिक रूप से भी कमजोर करती है। आज के समय पर लोग मानसिक और शारीरिक दोनों रूप से थके हुए रहते हैं। यह अब एक आम समस्या बन गया है, परन्तु क्या आपको हर समय थकान महसूस हो रही है? क्या आपका किसी भी काम को करने में मन नहीं लग रहा है? तो आइए हम आपको बताएं कुछ ऐसे कारण जिससे आप महसूस करते है थकान

1.अधूरी डायट

एक अधूरी डायट आपकी दिन भर की थकान के लिए जिम्‍मेदार हो सकती है। किसी भी समय का मील स्किप करना आपके लिए कैलोरी कट करने का आसान और कूल रास्‍ता लग सकता है, परंतु यह आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद नुकसानदायक है।

अधूरी डाइट आपको मानसिक और शारीरिक दोनों रूपों से करती है कमजोर। चित्र: शटरस्‍टॉक
अधूरी डाइट आपको मानसिक और शारीरिक दोनों रूपों से करती है कमजोर। चित्र: शटरस्‍टॉक

एक प्रॉपर डायट आपके शरीर को कार्य करने की ऊर्जा देती है। ऐसे में आपका मील स्किप करना शरीर को उसकी ऊर्जा स्किप करना होगा। इसीलिए अपने डायट चार्ट को हमेशा मेंटेन रखें।

2.चैक करें पोषण

अगर आपको लगातार थकान महसूस हो रही है तो आपको अपने शरीर में पोषण का स्‍तर चैक करना होगा। हो सकता है कि भरपूर खाना खाने के बावजूद आपके आहार में वे उन सूक्ष्‍म पोषक तत्‍वों की कमी हो जो आपको तरोताजा बनाए रखने के लिए जरूरी हैं। विटामिन डी और आयरन की कमी भी इसके लिए जिम्‍मेदार हो सकती है। विटामिन बी 12, मैग्नीशियम और पोटैशियम जैसे पोषक तत्‍वों की कमी भी आपको थकान महसूस करवा सकती है। 

3.नींद में कमी

रात को लेट सोना और सुबह जल्दी उठने का प्रचलन काफी पहले से था, परन्तु यह कोविड-19 महामारी के समय से यह और अधिक बढ़ गया है।

कम नींद लेना आपको बना सकता है आपको थकान के साथ साथ टाइप 2 डायबिटीज का शिकार, कहती है यह स्टडी. चित्र- शटरस्टॉक।
कम नींद लेना आपको बना सकता है आपको थकान के साथ साथ टाइप 2 डायबिटीज का शिकार, कहती है यह स्टडी. चित्र- शटरस्टॉक।

लोग रात तक देर तक जागते हैं और  सुबह अपने क्लासेज और वर्क फ्रॉम होम करने के लिए जल्दी उठना पड़ता हैं। ऐसे में आपकी नींद पूरी नहीं हो पाती है, जो आपको पूरे दिन थकाए रखती है। 

4.तनाव

तनाव हालांकि जीवन का हिस्‍सा बन गया है। पर इसे मैनेज करना सबसे ज्‍यादा जरूरी है। जब आप अधूरी नींद और अधूरी डायट लेती हैं तो यह तनाव को और भी ज्‍यादा बढ़ा देता है। तनाव न केवल आपके मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए खराब है, बल्कि यह आपके शारीरिक स्वास्थ्य के लिए भी बेहद हानिकारक है। तनाव के कारण, थकान,पेट दर्द, सर दर्द जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है।

कोरोनावायरस ने एक नए तनाव को जन्‍म दिया है, पर इसके सामने हार नहीं माननी है। चित्र: शटरस्‍टॉक
अगर चिंता के कारण भूख और नींद पर असर पड़ने लगे तो आपको इसे गंभीरता से लेना चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक

तनाव के समय मानसिक और शारीरिक दबाव दोनों महसूस होता है, जिसके कारण आप लगातार थकान का अनुभव करती हैं। यही स्थिति लंबे समय तक रहे तो यह आपके लिए खतरनाक हो सकती है। 

5.डायबिटीज 

हर समय नींद आने का कारण मधुमेह भी हो सकता है, ऐसी स्थिति में थकान होना स्वाभाविक है।

 मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति थकान जैसी समस्या से भी पीड़ित रहता है।चित्र: शटरस्‍टॉक
मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति थकान जैसी समस्या से भी पीड़ित रहता है।चित्र: शटरस्‍टॉक

अगर आप मधुमेह का शिकार होते है तो, आपकी बॉडी में सही मात्रा में इंसुलिन नहीं बन पाता, जिससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। इसका सीधा असर आपको थकान और इरीटेशन जैसी स्थिति के रूप में नजर आता है। 

6.एंग्जायटी

एंग्जायटी अक्सर थकान जैसी स्थिति पैदा कर देती है, इसीलिए जब भी आप डिप्रेस्ड महसूस करते हैं, तो थकान, ऊर्जा की कमी और चिड़चिड़ापन महसूस होने लगता है। एंग्‍जायटी शारीर‍िक और मानसिक दोनों तरह के दबाव के कारण हो सकती है। बेहतर है कि आप अपने रूटीन में योग, व्‍यायाम और प्राणायाम को शामिल करें। ध्‍यान आपको तनाव,एंग्‍जायटी और अवसाद से बचाने का एक और तरीका है। 

7.असं‍तुलित जीवनशैली

वर्क और लाइफ के बीच संतुलन स्‍थापित करना बेहद जरूरी है। कोविड-19 महामारी के कारण ज्‍यादातर लोगों को वर्क फ्रॉम होम करना पड़ रहा है। अगर आप भी वर्क फ्रॉम होम की स्थिति में वर्क और पर्सनल लाइफ के बीच संतुलन नहीं बना पा रहीं हैं, तो आप पर थकान हावी हो सकती है। जरूरत है कि आप घर में रहते हुए भी अपने काम के घंटे तय करें। साथ ही परिवार को भी यह समझाने की जरूरत है कि घर में होने के मतलब ये नहीं हैं कि आप इसे होलीडे समझकर सारा दिन किचन में ही लगी रहें। 

व्यस्त जीवनशैली मे भी निकाले खुद के लिए समय वरना शिकार हो जाएगे गंभीर बीमारी के: शटरस्टॉक
व्यस्त जीवनशैली मे भी निकाले खुद के लिए समय वरना शिकार हो जाएगे गंभीर बीमारी के: शटरस्टॉक

लेडीज ये आपकी लाइफ है, इसी खुशी से एन्‍जॉय करें। सारा काम खुद पर ओढ़कर अपने आप को थकान के सुपुर्द न कर दें। 

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रेरणा मिश्रा प्रेरणा मिश्रा

हेल्‍दी फूड, एक्‍सरसाइज और कविता - मेरे ये तीन दोस्‍त मुझे तनाव से बचाए रखते हैं।