फॉलो
वैलनेस
स्टोर

डियर लेडीज, आपके स्‍वास्‍थ्‍य को साइलेंट तरीके से नुकसान पहुंचाती है आयरन डेफिशिएंसी, जानें इसके बारे में सब कुछ

Published on:26 August 2020, 11:30am IST
आपने कभी कल्‍पना भी नहीं की होगी कि पैची स्किन और असमय आने वाली झुर्रियों की वजह आयरन की कमी भी हो सकती है। महिलाओं में आयरन की कमी पुरुषों से ज्यादा होती है, इसलिए आपको रखना है अपना खास ख्याल।
विदुषी शुक्‍ला
क्यों होती है महिलाओं में आयरन की कमी। चित्र- शटरस्टॉक।

हम महिलाओं के शरीर में आयरन की कमी एक आम समस्या है। मगर आम का मतलब यह नहीं कि यह गम्भीर नहीं है। आयरन की कमी से एनीमिया हो जाता है।
दरअसल हमारे खून में हीमोग्लोबिन होता है जो ऑक्सीजन को पूरे शरीर में पंहुचाता है। आयरन की कमी में हीमोग्लोबिन नहीं बन पाता जिसके कारण शरीर में ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाता है।

ज्‍यादातर महिलाओं में आयरन की कमी होती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

क्या हैं एनीमिया के लक्षण-

· थकान
· बेजान या बेरंग त्वचा
· जीभ में सूजन रहना
· सांस फूलना
· हर वक्त नींद आना लेकिन सोने के बाद भी थका महसूस करना
· मिट्टी,चॉक जैसी चीजें खाने की क्रेविंग
· तलवे और हथेली ठंडे रहना
· अक्सर सर दर्द होना
· नाखून टूटना
· अनियमित पीरियड्स

महिलाओं में क्यों होती है आयरन डेफिशिएंसी

अमेरिकन सोसाइटी ऑफ हेमाटोलॉजी के अनुसार महिलाओं में आयरन की कमी होने के तीन प्रमुख कारण हैं।

1. पीरियड्स के दौरान ब्लड लॉस

पीरियड्स में सामान्य तौर पर आपका 80 मिलीलीटर खून निकलता है। अच्छी डाइट से इस लॉस को रिकवर किया जा सकता है। लेकिन अगर आपको ज्यादा ब्लीडिंग होती है, पीरियड्स 5 से 7 दिन के होते हैं या डाइट में आयरन युक्त भोजन की कमी होती है तो यह ब्लड लॉस रिकवर नहीं हो पाता।

अगर आपको 5 या उससे ज्यादा दिन फ्लो होता है तो आप के एनीमिक होने की सम्भावना ज्यादा है।चित्र: शटरस्‍टॉक

2. गर्भावस्था

गर्भावस्था में अगर आप पौष्टिक भोजन नहीं लेती हैं, तो एनीमिया हो सकता है। यह आपके और शिशु दोनों के स्वास्थ्य के लिए चिंता की स्थिति है।

3. यूटेराइन फाइब्रॉइड्स

सेंटर ऑफ डिसीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के अनुसार यूटेराइन फाइब्रॉइड यूटेरस में ट्यूमर होते हैं जो कैंसर की तरह फैलते नहीं हैं। लेकिन अगर यूटेरस में ट्यूमर है तो आपको पीरियड्स में अत्यधिक ब्लीडिंग होगी। यही नहीं, अगर समय पर डिटेक्ट नहीं हुआ तो यह आपको गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है।

इन फूड्स को अपने आहार में करें शामिल-

आयरन की कमी को पूरा करने के लिए आयरन के महत्वपूर्ण स्रोत अपनी डाइट में शामिल करें।
· चिकन, मटन इत्यादि रेड मीट आयरन का बेहतरीन स्रोत है।

· शाकाहारी हैं तो भी आपके लिए आयरन के कई स्रोत हैं। पालक, राजमा, छोले, सोयाबीन और चने आयरन के अच्छे स्रोत हैं।

· कद्दू के बीज में आयरन का भंडार है। इसे अपने आहार का हिस्सा हर महिला को बनाना चाहिए।

कद्दू के बीज आपके लिए मैजिकल इफेक्‍ट देते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

· बादाम, अंजीर, मुनक्का और किशमिश भी आयरन का अच्छा स्रोत हैं।

· आयरन युक्त भोजन के साथ साथ विटामिन सी भी अपने आहार में शामिल करें, क्योंकि विटामिन सी आयरन को अब्सॉर्ब करने में सहायक है। कई बार विटामिन सी की कमी से भी आप एनीमिक हो सकते हैं।

· अगर आयरन के सप्लीमेंट ले रही हैं तो उसके साथ संतरे का जूस लेना चाहिए।

अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखें जिसके लिए अपनी डाइट के साथ साथ व्यायाम भी रूटीन में शामिल करें।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।