फॉलो
वैलनेस
स्टोर

क्‍या आप जानती हैं कि एंटीबायोटिक प्रतिरोध भी आपको बीमार कर सकता है, जानिए कैसे

Published on:26 September 2020, 13:40pm IST
हर साल दुनिया भर में लाखों लोग एंटीबायोटिक-प्रतिरोधी संक्रमण से ग्रस्त होते है और हजारों लोग इसकी वजह से मर जाते हैं। यही कारण है कि एंटीबायोटिक प्रतिरोध को समझना बेहद महत्वपूर्ण है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
एंटी बायोटिक प्रतिरोध आपको बीमार कर सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

यह सर्वविदित तथ्य है कि एंटीबायोटिक दवाओं की खोज ने चिकित्सा के क्षेत्र को पूरी तरह से बदल दिया है। आखिरकार, एंटीबायोटिक्स ने मनुष्यों की जीवन प्रत्याशा को एकल रूप से बढ़ा दिया है, जो हमारे जीवन को खतरनाक बैक्टीरिया संक्रमण से बचा रहा है। लेकिन कल्पना कीजिए, अगर यूटीआई जैसे संक्रमण का विकास होता हैं और एंटीबायोटिक्स का इस पर कोई असर नहीं पड़ता हो तो क्या करेंगे?

डरने की बात है ना? खैर, ऐसी स्थिति को एंटीबायोटिक प्रतिरोध कहा जाता है। यह तब होता है जब बैक्टीरिया या संक्रमण, अब निर्धारित एंटीबायोटिक दवाओं के प्रति प्रतिक्रिया नहीं करते हैं और आपके शरीर में बढ़ते रहते हैं। ऐसी स्थिति का इलाज करना मुश्किल हो जाता है और यह घातक भी हो सकता है।

आपको एंटीबायोटिक प्रतिरोध की परवाह क्यों करनी चाहिए?

यह बैक्टीरिया है न कि मानव शरीर जो एंटीबायोटिक दवाओं के लिए प्रतिरोधी बन जाता है। इसलिए दुनिया को एंटीबायोटिक्स का उपयोग करने के तरीके को बदलने की आवश्यकता है। आप देखते हैं, जब हम एंटीबायोटिक दवाओं को बार-बार लेते हैं-स्वयं-निर्धारित करके और वायरल बीमारियों के लिए उनका उपयोग करते हैं – हम अंत में बैक्टीरिया का एक प्रकार पैदा करते हैं, जिसे खत्म करना मुश्किल है।

वायरल बुखार से लड़ने में गिलोय आपकी मदद कर सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक
कभी-कभी एंटी बायोटिक उपचार में मदद नहीं कर पाते। चित्र: शटरस्‍टॉक

क्योंकि बैक्टीरिया लगातार एंटीबायोटिक दवाओं के प्रभाव से खुद को बचाने के लिए नए तरीके खोज रहे हैं और विकसित कर रहे हैं। यदि एंटीबायोटिक्स संक्रमण फैलाने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने की क्षमता खो देता है, तो स्वास्थ्य सेवा प्रणाली के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरों का इलाज और नियंत्रण पाना कठिन हो जाएगा।

एंटीबायोटिक प्रतिरोध पहले से ही दुनिया भर में फैल गया है और निमोनिया जैसे रोगों का इलाज करना मुश्किल होता जा रहा है। यह प्रतिरोध न केवल इलाज मुश्किल कर रहा है, बल्कि पुरानी बीमारी वाले मरीजों की देखभाल करना भी मुश्किल बनाता है।

एंटीबायोटिक प्रतिरोध को रोकने के लिए आप क्या कर सकते हैं?

अब जब आप समझ गए हैं कि एंटीबायोटिक प्रतिरोध एंटीबायोटिक दवाओं के दुरुपयोग और अति प्रयोग के कारण होता है, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने व्यक्तियों को एंटीबायोटिक प्रतिरोध के प्रभाव को कम करने और नियंत्रण को नियंत्रित करने के लिए निम्नलिखित दिशानिर्देश दिए।

• आपको हमेशा एंटीबायोटिक्स तभी लेना चाहिए जब आपका डॉक्टर उसे लेने के निर्देश दे।

• अपने डॉक्टर से कभी भी एंटीबायोटिक्स न मांगे और न ही मांग रखे अगर उन्हें लगता है कि आपको इसकी आवश्यकता नहीं है।

• एंटीबायोटिक्स का पूरा कोर्स पूरा करें, भले ही आपको इलाज के दौरान बेहतर महसूस होने लगे।

• कभी भी अपने बचे हुए एंटीबायोटिक दवाओं का उपयोग या किसी और के साथ साझा न करें।

बेशक, एंटीबायोटिक दवाओं पर अपनी निर्भरता को कम करने का एक तरीका है कि शुरुआत में ही संक्रमण को रोकना। यह आप अच्छी स्वच्छता बनाए रखने, स्वच्छ भोजन खाने और एक संतुलित आहार लेने से कर सकते हैं जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत और कारगर बनाए रखता है।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।