फॉलो

हाइपोटेंशन को न करें नजरंदाज, इन 5 टिप्स से लो ब्लड प्रेशर करें मैनेज

Published on:9 June 2020, 12:00pm IST
हाई ब्लडप्रेशर यानी हाइपरटेंशन को हार्ट डिसीज का एक कारण हो सकता है, पर ऐसे में लो ब्लड प्रेशर को भी इग्नोर न करें।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 65 Likes
अगर लंबे समय तक ब्लड प्रेशर लो रहे तो यह कई गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है। चित्र : शटरस्टॉयक

 

क्या हाई बीपी की तरह हाइपोटेंशन (Hypotension) यानी लो बीपी (Low Blood Pressure) को भी सीरियसली लेना चाहिए? तो जवाब है, हां। पर लो ब्लड प्रेशर यानी हाइपोटेंशन को लेकर ज्यादा परेशान होने से बेहतर है कि अभी से अपने लाइफ स्टाइल में वे बदलाव लाएं, जो ब्लड प्रेशर (Low Blood Pressure) को संतुलित रखते हैं।

अच्छा एक बात बताइए, आपने अपना ब्ल्ड प्रेशर आखिरी बार कब चैक करवाया था? अगर आपको लग रहा है कि अभी आपकी वो उम्र नहीं हुई है जहां आप ब्लड प्रेशर की चिंता करें, तो वाकई आप गलत हैं। और अगर अभी आप इस मामले में लापरवाही बरत रहीं हैं, तो इसके लिए आपको बाद में भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है।

सर एचएन रिलायंस हॉस्पिटल में, कंसल्टेंट इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्टी डॉ.निमित शाह आपको हाइपोटेंशन को समझने और उससे बचाव के टिप्स जानने में मदद करेंगी।

लो ब्लड प्रेशर के लक्षण

डॉ. शाह के अनुसार, “लो ब्लड प्रेशर या हाइपोटेंशन उस स्थिति को कहा जाता है जब किसी के शरीर के अंगों तक रक्त प्रवाह कम या अपर्याप्त होता है। इसमें सांस फूलना, थकावट, उदासी, चक्कर आना और कभी-कभी बेहोशी के भी लक्षण दिखाई देते हैं। इसमें सीने में दर्द और मतली का अनुभव भी हो सकता है।

क्या हैं हाइपोटेंशन के कारण

डॉ शाह की मानें तो, हाइपोटेंशन में रक्त की कमी, हृदय संबंधी बीमारियां और कुछ दवाएं भी कारण हो सकती हैं। आप यह जानकार चौंक जाएंगे कि शरीर के सभी अंगों तक उचित मात्रा में ब्लड फ्लो न होने पर स्ट्रोक, हार्ट अटैक, किडनी फेल होने और शॉक जैसी गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

इसे कैसे संभाला जा सकता है?

खुशकिस्मती से आप अपने लाइफ स्टाइल में थोड़ से बदलाव करके इस समस्या से बच सकते हैं। डॉ. शाह के अनुसार इसके लिए जरूरी है कि आप दिन भर में अपनी जरूरत के अनुसार नमक जरूर लें, खूब सारा पानी पिएं और अगर जरूरत पड़े तो डॉक्टर के परामर्श पर जरूरी दवाओं का भी सेवन करें। विशेषज्ञ इस बारे में कुछ और सुझाव भी देते हैं, जिससे लो ब्लड प्रेशर को मैनेज किया जा सके –

लो ब्लेड प्रेशर को मैनेज करने के लिए आप ये 5 टिप्स फॉलो कर सकती हैं –

संतुलित और पोषण युक्त आहार लें

क्या आप जानती हैं कि शरीर में विटामिन बी -12, फोलिक एसिड और आयरन की कमी होने से आप एनीमिया की शिकार हो सकती हैं। डॉ. शाह के मुताबिक, “ हाइपोटेंशन की समस्या तब ज्यादा होती है जब आपके शरीर में पर्याप्त मात्रा में ब्लड न बन रहा हो। इतना ही नहीं, बल्कि एनीमिया भी लो ब्लड प्रेशर का कारण हो सकता है। इससे बचने के लिए जरूरी है कि ताजे फल और सब्जियां जरूर खाएं। ब्लड प्रेशर में अचानकर गिरावट को रोकने के लिए खाने में कार्ब्स इंटेक को सीमित करें और एक ही बार में ज्यादा खाना खाने की बजाए स्मॉल मील लें।”

शरीर में विटामिन बी -12, फोलिक एसिड और आयरन की कमी होने से आप एनीमिया की शिकार हो सकती हैं। चित्र : शटरस्टॉ्क

डॉक्टर के परामर्श पर आहार में नमक की मात्रा बढ़ाएं

हाँ, यह सही है। डॉ. शाह के अुनसार नमक में सोडियम पाया जाता है जो ब्लड प्रेशर को बढ़ाने में मददगार साबित होता है। इसके लिए, जरूरी है कि अपने डॉक्टर से परामर्श करें कि आपको किन खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल करना है, और किन्हें नहीं। उसी अनुसार अपने भोजन में नमक की उचित मात्रा को भी शामिल करें।

शराब से परहेज करें

शराब के सेवन से आपकी बॉडी में डिहाइड्रेशन का खतरा रहता है, जिससे लो ब्लड प्रेशर होने की संभावना रहती है। इसलिए लो बीपी से बचने के लिए जरूरी है कि शराब से परहेज करें।

लो बीपी से बचने के लिए जरूरी है कि शराब से परहेज करें।चित्र : शटरस्टॉक

हाइड्रेटेड रहें

अगर आपके रूटीन में आठ से दस गिलास पानी पीना शामिल नहीं है, तो आप कई बीमारियों को न्यौ्ता दे रहीं हैं। डिहाइड्रेशन से लो बीपी की समस्या हो सकती है। इसलिए, अपने रूटीन में लिक्विड डायट को पर्याप्‍त स्थान दें। अगर आपको हार्ट या किडनी संबंधी कोई बीमारी नहीं हैं तो डॉ शाह के अनुसार आपको हर रोज कम से कम तीन लीटर पानी जरूर पीना चहिए।

ड्राय वर्सेस हाइड्रेटेड स्किन : फल और सब्जियों का उचित मात्रा में सेवन करने से आपकी स्किन हाइड्रेटेड रहती है। चित्र : शटरस्टॉक।

ब्‍लड प्रेशर मैनेज करने के लिए एक्सरसाइज जरूरी है

हल्के व्यायाम करें, जिससे आपके शरीर को अतिरिक्तश तनाव न हो और ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर हो जाए। सैर या योगासन आपके लिए लाभकारी हो सकते हैं।

इसलिए, अपने स्वास्थ्य की अच्छी देखभाल करें और लो बीपी या हाइपोटेंशन के साथ नॉर्मल लाइफ जीने के लिए आप लगातार अपने डॉक्टकर के संपर्क में रहें।

अंग्रेजी में भी पढ़ें – Don’t take hypotension lightly. Follow these 5 tips to manage low blood pressure

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

संबंधि‍त सामग्री