फॉलो

पोस्टपार्टम डिप्रेशन बेबी ब्लूज से कहीं ज़्यादा है, यहां है 4 संकेत जिन पर ध्‍यान देना है जरूरी

Published on:10 October 2020, 15:00pm IST
पोस्टपार्टम डिप्रेशन एक मां के मानसिक स्वास्थ्य और उसके बच्चे की देखभाल करने की क्षमता पर असर डाल सकता है। यहां ऐसे लक्षण बताए गए हैं जिन पर आपको ध्‍यान देने की जरूरत है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 88 Likes
नयी माताओं को अपने साथ साथ अपने मेंटल हेल्थ का भी रखना होता है खयाल। चित्र: शटरस्टॉक

एक बच्चे का जन्म होना, बिना किसी शक के, भावनाओं का एक रोलरकोस्टर है। यह एक आजीवन यात्रा है लेकिन उत्सुकता गर्भावस्था के चरण में ही शुरू होती है। जैसे-जैसे दिन बीतते हैं, और आपका अपने बच्चे से मिलने का दिन करीब आते जाता है तब उत्सुकता का स्तर बढ़ते ही जाता है।

फिर जब आपकी खुशी इस दुनिया में आ जाती है तब आप घबराहट के साथ मिश्रित खुशी की भावना से गुजरते हैं, यह आशा करते हैं कि आप आने वाले वर्षों के लिए आगे देखते हुए सबसे अच्छा निर्णय लेने में सक्षम हैं।

हालांकि, यह मातृत्व का एक ऐसा हिस्सा है, जिसके बारे में कोई बात नहीं करता है: एक नई मां का मानसिक स्वास्थ्य। पहले कुछ हफ्तों में खोया – खोया रहना सामान्य बात है । कई लोग इसे ‘बेबी ब्लूज़’ कहते हैं।

इस तनाव और अवसाद भरी स्थिति का असर बच्‍चे पर भी पड़ता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
इस तनाव और अवसाद भरी स्थिति का असर बच्‍चे पर भी पड़ता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

यह मूड के बार – बार बदलने , रोने , चिंतित महसूस करने और यहां तक ​​कि थका हुआ होने की भावनाओं के साथ आता है। हालांकि, ये लक्षण पहले छह हफ्तों के भीतर – भीतर फीके होने लगते हैं। लेकिन, कई मां हैं जो पाएंगी कि ये भावनाएं आगे भी जारी हैं और शुरुआती हफ्तों के बाद भी ये तेज होती जा रहीं हैं। यह प्रसवोत्तर अवसाद की ओर इशारा कर सकता है।

यहां पोस्टपार्टम डिप्रेशन के कुछ संकेत हैं जो इस तथ्य की ओर इशारा करते हैं कि आपको मानसिक स्वास्थ्य विशषज्ञ के पास जाने की आवश्यकता है:

1. बच्चे के साथ बंधन बनाने में असमर्थ

एक बार जब बच्चा जन्म ले लेता है, तो आप महसूस करेंगे कि उसका अपना व्यक्तित्व और अपनी प्राथमिकताएं हैं। आपको स्तनपान कराते समय उनके साथ संबंध बनाने, उन्हें सोने के लिए कहने और खेलने-कूदने के दौरान उन्हें लिप्त करने से आपको उसके बारे में बेहतर पता चलेगा।

यह आपके बच्चे के सामाजिक विकास के पहलू से भी महत्वपूर्ण है क्योंकि बच्चे और माता-पिता के बीच एक मजबूत बंधन सुरक्षा और आत्मविश्वास को बढ़ावा देता है – यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह मस्तिष्क के विकास के लिए आवश्यक हार्मोन रिलीज़ करता है।

गर्भावस्था के दौरान भी रहे खुश। चित्र: शटरस्‍टॉक

लेकिन, यदि आप कोशिश करने के बाद भी ऐसा करने में सक्षम नहीं हैं, तो यह आपके बच्चे के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। इसलिए, एक मानसिक स्वास्थ्य विशषज्ञ से मदद लेना उचित होगा जो आपको अपने बच्चे के साथ संबंध बनाने के बारे में मार्गदर्शन कर सके।

2. अपराधबोध या अपर्याप्तता की भावना

ऐसा महसूस करना कि आप अपने बच्चे पर्याप्त कार्य नहीं कर रहे हैं या आप एक अच्छी माँ नहीं हैं, पोस्टपार्टम अवसाद के लिए एक बड़ा कारण बन सकता है। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप क्या करते हैं, फिर भी अपराध और अपर्याप्तता के नकारात्मक विचार आ जाते हैं यह, आपके डिप्रेशन या अवसाद का एक बहुत बड़ा कारण बन सकता है। इसके अलावा, यह आपके बच्चे के साथ आपके संबंधों पर स्थायी प्रभाव भी डाल सकता है।

3. अपनों से पीछे हटना

अब, एक नई – नई माँ स्पष्ट रूप से अपने सामाजिक जीवन के लिए पर्याप्त समय नहीं निकाल सकती है। हालाँकि, यदि आप पाते हैं कि आप अपने करीबी दोस्तों और परिवार को जवाब नहीं दे रहे हैं, या उनसे खुद को अलग करने की इच्छा रखते हैं, तो यह प्रसवोत्तर अवसाद के शुरुआती संकेतों की ओर इशारा कर सकता है।

अपनी भावनाओं के बारे में बात करना मुश्किल तो है, पर यह जरूरी भी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

सिर्फ दोस्त और परिवार ही नहीं, अवसाद भी आपको अपने साथी से दूरी बनाने के लिए प्रेरित कर सकता है जो कि स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है क्योंकि यह बताया जाता है कि वह इस पितृत्व की यात्रा के दौरान आपका साथी होने जा रहा है।

4. अस्वस्थ विचार

यदि पोस्टपार्टम अवसाद को अनुपचारित छोड़ दिया जाता है तो यह अस्वास्थ्यकर विचारों को जन्म दे सकता है जिसमें खुद को या यहां तक ​​कि बच्चे को चोट पहुंचाना शामिल हो सकता है। यदि आपको ऐसे विचार आ रहे हैं जिससे यह आपके जीवन या आपके बच्चे के जीवन के लिए खतरा बन सकता है।यह महत्वपूर्ण है कि आप मदद के लिए एक विशेषज्ञ के पास जाएं

यदि आप इन लक्षणों का सामना कर रहे हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप एक मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ से मिलते हैं। प्रसवोत्तर अवसाद सामान्य है और जब तक आप मदद लेने के लिए तैयार हैं, तब तक इसका इलाज किया जा सकता है।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।