और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

गर्भवती महिलाओं को भूलकर भी नहीं करना चाहिए जिनसेंग का सेवन, टॉप डायटीशियन से जानिए क्यों

Updated on: 10 December 2020, 12:21pm IST
आयुर्वेद में जिनसेंग का इस्तेमाल सदियों से होता आ रहा है, लेकिन गर्भवती महिलाओं के लिए इसके सेवन की सख्‍त मनाही है, जानिए क्‍या है इसका कारण।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 56 Likes
जिनसेंग का गर्भवती महिलाओं पर पड़ता है बुरा असर। चित्र: शटरस्टॉक

गर्भवती होते ही आपको दुनिया भर की सलाह मिलने लगती है, खासकर आपके आहार को लेकर। इनमें से कुछ असल में कारगर होती हैं तो कुछ नहीं। उन फूड्स का सेवन न करना जो शरीर में गर्मी पैदा करें, ऐसी ही एक जरूरी सलाह है। यही कारण है प्रेगनेंसी में जिनसेंग का सेवन करने की सख्त मनाही है।

अपोलो क्लिनिक पुणे की डायटीशियन रिज़वाना सईद के अनुसार जिनसेंग एक हर्ब है, जो मुख्‍यत: एशिया और अमेरिका में ही पायी जाती है। इसके कुछ फायदे हैं-

  • तनाव कम करना
  • थकान दूर करना
  • इम्युनिटी बढ़ाना
  • मानसिक ध्यान शक्ति बढ़ाना
  • अपच से छुटकारा
  • इंसुलिन सेंसिटिविटी बढ़ाना
  • वजन घटाने में सहायक

लेकिन जब बात आती है गर्भवती महिलाओं की, सईद कहती हैं,”जिनसेंग शरीर में गर्मी पैदा करती है, जो न तो होने वाली मां के लिए अच्छा है न बच्चे के लिए।”

लेकिन इस औषधि के नुकसान क्या है?

इसमें कोई शक नहीं कि जिनसेंग बहुत कमाल की आयुर्वेदिक औषधि है। लेकिन जिनसेंग का सेवन कम से कम प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने यानी पहली तिमाही में सुरक्षित नहीं होता”, कहती हैं सईद।

वह बताती हैं,”जिनसेंग Rb 1 नामक एक एक्टिव केमिकल जिनसेंग में मौजूद होता है, जो एम्ब्रियो (शुरुआती शिशु) में डिफेक्ट्स डाल सकता है। इसमें एंटीकोग्लुइन्ट प्रोपर्टी होती हैं, जो प्रसव और डिलीवरी के दौरान गम्भीर समस्या खड़ी कर सकती है।”

जिनसेंग। चित्र: शटरस्टॉक

वे यह भी बताती हैं कि जिन महिलाओं ने जाने-अनजाने जिनसेंग का सेवन प्रेगनेंसी में किया उनमें ज्यादा सर दर्द, डायरिया, वेजाइना से खून आना और हॉर्मोनल असंतुलन की शिकायत होती है। इसलिए होने वाली मां के लिए बेहतर है कि वह इस हर्ब से दूर ही रहे या डॉक्टर की सलाह पर ही इसे खाएं।

जिनसेंग के सेवन के कारण कई बार बच्चे जन्म के समय बहुत छोटे और कम मसल सेल्स के साथ पैदा हुए हैं। यही नहीं ज्यादा Rb1 का अर्थ है ज्यादा बर्थ डिफेक्ट। क्या आप जानती हैं कई हर्बल चाय जैसे कहवा में भी जिनसेंग होता है। हालांकि जिनसेंग पर अभी रिसर्च चल रही है”,बताती हैं वॉकहार्ड हॉस्पिटल की गाइनोकोलॉजिस्ट डॉ गंधली देवरुखकर पिल्लई।

गर्भवती महिलाओं के नींद के चक्र पर भी डालता है प्रभाव

यह तो सभी जानते हैं कि होने वाली मां को आराम की बहुत जरूरत होती है ताकि शिशु का विकास सही हो। लेकिन जिनसेंग का सेवन इसमें अवरोध पैदा करता है।

कई गर्भवती महिलाओं में मूड स्विंग और नींद में समस्या जिनसेंग के सेवन के कारण देखी गई है। यही कारण है कि उन्हें हर वक्त थकान महसूस होती है।”, बताती हैं डॉ पिल्लई।

इतना ही नहीं, जिनसेंग के कारण ब्लड शुगर लेवल कम हो जाता है, जिससे महिलाओं को चक्कर और उल्टी की समस्या अक्सर रहती है। “क्या आप जानती हैं कि यह आप में डायबिटीज का जोखिम भी बढ़ा देता है?”, बताती हैं डॉ पिल्लई।

गर्भवती महिलाओं जिंसिंग के नुकसान। चित्र : शटरस्टॉक

वह यह भी बताती हैं कि जिनसेंग के सेवन के कारण कई महिलाएं ड्राई माउथ की शिकायत भी करती हैं। यह सच है क्योकि जिनसेंग में कुछ ऐसे एंजाइम होते हैं जो सलिवरी ग्लैंड्स को नियंत्रित करते हैं।

अंत में बस इतना ही कि जब बात आती है प्रेगनेंसी की तो जिनसेंग का सेवन सुरक्षित नहीं है। इसलिए इस हर्ब से दूरी बनाए रखना ही बेहतर है

 

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।