अपच से लेकर वजन बढ़ने तक, ज्यादा गुड़ खाने से आपको उठाने पड़ सकते हैं ये 5 स्वास्थ्य जोखिम

गुड़ की चाय, गुड़ की खीर, गुड़ तिल के लड्डू, गुड़ की रोटी, सर्दियां यानी गुड़ के सेवन का बहाना! लेकिन अगर इसकी मात्रा अधिक हो जाती है, तो आपको कुछ संभावित स्वास्थ्य जोखिमों का सामना करना पड़ सकता है।
गुड़ को दूध के साथ मिला कर पीना स्वास्थ्य वर्धक है। चित्र-शटरस्टॉक.। चित्र:शटरस्टॉक
अदिति तिवारी Published on: 28 January 2022, 12:00 pm IST
ऐप खोलें

खाने के बाद सभी को कुछ मीठा खाने की इच्छा होती है। आपको भी होती होगी! लेकिन डाइट को ध्यान में रखते हुए आप नेचुरल स्वीटनर यानी हेल्दी मीठे का विकल्प चुनना पसंद करते होंगे। आप में से बहुत से लोगों को लगता है कि प्राकृतिक मीठे विकल्पों के लिए जाना एक अच्छा विचार है। प्राकृतिक मीठे की इस सूची में सबसे अधिक खपत गुड़ की है।

सभी आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर गुड़ कई लोगों का पसंदीदा होता है। यह आपके चयापचय को बढ़ावा देता है और ऊर्जा का एक बड़ा स्रोत है। आयुर्वेद में, चिंता, माइग्रेन, पाचन और थकान सहित स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज करने के लिए गुड़ का उपयोग सदियों से किया जाता रहा है।

लेकिन हर चीज की तरह गुड़ के भी अपने नुकसान हैं। ये गुड़ की गुणवत्ता, आपके स्वास्थ्य इतिहास और कई अन्य कारकों पर निर्भर करते हैं। क्या आपने कभी इसके साइड इफेक्ट के बारे में सोचा है? अगर आप गुड़ से होने वाले नुकसान के बारे में सोचे बिना खा रहे हैं, तो यहां कुछ ऐसा है जिसे आपको तुरंत जानने की जरूरत है।

गुड़ समग्र स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है, लेकिन अधिक सेवन पड़ सकता है भारी। चित्र: शटरस्‍टॉक

अधिक गुड़ का सेवन है स्वास्थ्य के लिए हानिकारक

1. वजन बढ़ा सकता है

100 ग्राम गुड़ में 385 कैलोरी होती है। गुड़ निश्चित रूप से उन लोगों के लिए स्वस्थ नहीं है, जो डाइटिंग कर रहे हैं। हालांकि, थोड़ी मात्रा में सेवन करने से वास्तव में कोई नुकसान नहीं होता है। लेकिन अगर आप इसका अधिक मात्रा में सेवन कर रहे हैं, तो इससे वजन बढ़ सकता है। यह शर्करा युक्त और कार्ब्स से भरपूर है। निश्चित रूप से वेट लॉस जर्नी के दौरान आप जो चाहते हैं यह वह विकल्प नहीं है।

2. ब्लड शुगर लेवल बढ़ा सकता है

हालांकि गुड़ चीनी से बेहतर होता है, लेकिन अंत में यह मीठा होता है। इसलिए इसका बहुत अधिक सेवन करने से आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। 10 ग्राम गुड़ में लगभग 9.7 ग्राम शुगर होती है। इसलिए डायबिटीज से मरीज को इससे दूरी बनाए रखनी चाहिए।

3. पैरासाइटिक इन्फेक्शन के जोखिम को बढ़ाता है

यदि गुड़ ठीक से तैयार नहीं किया गया है और इसमें अशुद्धियां हैं, तो यह आंतों में परेशानी और कीड़े होने के जोखिम को बढ़ा सकता है। गुड़ आमतौर पर अस्वच्छ परिस्थितियों में गांवों में बनाया जाता है और इस प्रकार कई बार रोगाणुओं से भरा होता है। कम गुणवत्ता वाले गुड़ आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं।

4. कुछ स्वास्थ्य समस्याओं और एलर्जी का कारण बन सकता है

गुड़ प्रोसेस्ड नहीं होता है और इसमें बड़ी मात्रा में सुक्रोज होता है। इसलिए, यदि आपको रुमेटीइड गठिया जैसी कोई सूजन की स्थिति है, तो आपको इसका सेवन या कम सेवन भी नहीं करना चाहिए। अध्ययनों में यह भी पाया गया है कि सुक्रोज ओमेगा -3 फैटी एसिड में हस्तक्षेप कर सकता है। इस प्रकार गुड़ आपकी सूजन को बढ़ा सकता है।

अधिक गुड़ की मिठाईयों से बढ़ सकता है वजन। चित्र:शटरस्टॉक

यह आपको फूड एलर्जी की ओर ले जा सकता है। कभी-कभी बहुत अधिक गुड़ खाने से सर्दी, मतली, पेट में दर्द, खांसी, सिरदर्द और उल्टी आदि हो सकती है।

5. अपच के लिए दोषी है

अगर ताजा बने गुड़ का सेवन किया जाए तो यह दस्त का कारण बन सकता है। NCBI के सर्वे के अनुसार कुछ लोगों ने तो ताजा बने गुड़ के सेवन से कब्ज की शिकायत भी की है।

तो लेडीज, हर वक्त मीठे के लिए गुड़ पर निर्भर होना बंद करिए। इसका अधिक सेवन कई हेल्थ साइड इफेक्ट्स का कारण है।

यह भी पढ़ें: टेस्ट और हेल्थ का कॉम्बो है मेथी का लच्छेदार लहसुन पराठा, फटाफट नोट कीजिए रेसिपी

लेखक के बारे में
अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story