सिर्फ मिठाइयां ही नहीं, ये 5 खाद्य पदार्थ भी बढ़ा देते हैं आपका ब्लड शुगर लेवल, हरगिज न करें इग्नोर

हमें लगता है कि केवल मिठाइयां ही हमारे ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकती है लेकिन ऐसे कई खाद्य पदार्थ है जो इस लेवल को बढ़ा सकते है लेकिन हम उन पर ध्यान नहीं देते है।
sugar level badha sakta hai gud
शरीर की एक्टिविटी के स्तर को बढ़ाने से कुछ ही हफ्तों के बाद आपका ब्लड प्रेशर कम होना शुरू हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
संध्या सिंह Published: 30 Aug 2023, 08:00 am IST
  • 145

त्योहारों का सीजन आ चुका है ऐसे में कई लोग बहुत मिठाइयों का सेवन भी कर रहें होंगे। अभी राखी का त्योहार आ चुका है और भाई-बहन एक दूसरे को मिठाइ खिलाकर इस त्योहार को मनाते है। हम सभी जानते है कि मिठाइ हमारे ब्लड शुगर लेवल को काफी तेजी से बढ़ाती है। लेकिन केवल मिठाइयां ही नहीं बल्कि ऐसे बहुत से खाद्य पदार्थ है जो हमारे ब्लड शुगर लेवल को बढ़ाने में काफी योगदान देते है लेकिन हम उन पर ध्यान नही देते है।

ब्लड शुगर लेवल कैसे बढ़ता है

रक्त शर्करा का स्तर, जिसे रक्त ग्लूकोज के स्तर के रूप में भी जाना जाता है, विभिन्न कारकों के कारण बढ़ सकता है, मुख्य रूप से शरीर में कार्बोहाइड्रेट के मेटाबॉलिज्म से संबंधित है। कार्बोहाइड्रेट शरीर के लिए ऊर्जा के मुख्य स्रोतों में से एक हैं, और जब आप कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं, तो वे ग्लूकोज में टूट जाते हैं, एक साधारण चीनी जो रक्तप्रवाह में अवशोषित हो जाती है। शरीर रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि आपके रक्त कै स्तर न बढ़े।

blood sugar level ko badhne na dein
रक्त शर्करा का स्तर, जिसे रक्त ग्लूकोज के स्तर के रूप में भी जाना जाता है।

इस बारे में ज्यादा जानने के लिए हमने बात की डायटिशियन और वेट लॉस एक्सपर्ट शिखा कुमारी से, शिखा कुमारी बताती है कि रक्त शर्करा का स्तर मिठाइयों के अलावा विभिन्न खाद्य पदार्थों से भी निश्चित रूप से प्रभावित हो सकता है। कार्बोहाइड्रेट का रक्त शर्करा के स्तर पर सबसे महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है।

मिठाइयों के अलावा कौन से खाद्य पदार्थ रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ाते है

सफेद ब्रेड और रिफाइंड अनाज

सफेद ब्रेड, सफेद चावल और रिफाइंड पास्ता जैसे उच्च प्रोसेस्ड कार्बोहाइड्रेट, जल्दी से ग्लूकोज में टूट जाते हैं और रक्त शर्करा के का तेजी से बढ़ने का कारण बन सकते हैं। इन खाद्य पदार्थों में साबुत अनाज में पाए जाने वाले फाइबर की कमी होती है, जो ग्लूकोज के पाचन और अवशोषण को धीमा करने में मदद करता है।

आलू

आलू तो हम सभी रोज खाते है लेकिन ये नही सोचते कि इससे भी रक्त शर्करा का स्तर बढ़ सकता है। आलू, खासकर जब फ्रेंच फ्राइज़ या मसले हुए आलू जैसे तरीकों से तैयार किया जाता है, तो उनमें उच्च स्टार्च सामग्री के कारण रक्त शर्करा के स्तर बढ़ सकता है। उबले या भुने हुए आलू का थोड़ी मात्रा में सेवन करें और उन्हें संतुलित भोजन के रूप में अपनी डाइट में शामिल करें।

फलों के जूस

आज कल किसी के पास इतना समय नहीं है कि फलों का जूस खुद निकालर पिएं इसलिए वे पैक्ड जूस लाकर रखते है। पैक्ड फलों का जूस बहुत ही हेल्दी लग सकता है, लेकिन उनमें अक्सर फलों में पाए जाने वाले फाइबर की कमी होती है। परिणामस्वरूप, वे रक्त शर्करा के स्तर में तेजी से वृद्धि कर सकते हैं। फल एक बेहतर विकल्प हैं क्योंकि वे फाइबर प्रदान करते हैं जो रक्तप्रवाह में ग्लूकोज के बढ़ने को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।

kaise karein blood sugar level ko kaam
आलू तो हम सभी रोज खाते है लेकिन ये नही सोचते कि इससे भी रक्त शर्करा का स्तर बढ़ सकता है। चित्र- अडोबी स्टॉक

मीठा दही

किसी भी फ्लेवर्ड दही में अक्सर अधिक शर्करा होती है, जो उच्च रक्त शर्करा के स्तर में योगदान कर सकती है। सादा, बिना मीठा और अनफ्लेवर्ड दही का ही चुनाल करें और यदि आपको मीठी दही पसंद है तो चाहें तो मिठास के लिए ताजे फल या शहद को अपनी दही में मिला सकते है।

प्रोसेस्ड स्नैक्स

कई प्रोसेस्ड स्नैक, यहां तक कि जिन्हें कम वसा या स्वस्थ के रूप में लेबल किया जाता है, उनमें भी शर्करा और रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट छिपा हुआ हो सकता हैं जो रक्त शर्करा में वृद्धि का कारण बन सकते हैं। अतिरिक्त शर्करा के लिए भोजन के लेबल की जाँच करें और नट्स, सीड्स, या ह्यूमस के साथ सब्जियों जैसे स्नैक्स का विकल्प चुनना गी आपके लिए फायदेमंद रह सकता है।

ये भी पढ़ेFenugreek water : इन 4 तरह से करें मेथीदाना के पानी का इस्तेमाल और डैंड्रफ से लेकर हेयर फॉल तक से पाएं छुटकारा

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख