और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

इन 4 तरीकों से आपके पाचन तंत्र को प्रभावित करती है अधूरी और खराब नींद

Published on:3 June 2021, 20:00pm IST
कभी आपने गौर किया है कि देर रात ट्रेवल करने या पार्टी करने के अगले दिन आपका पेट आपको परेशान क्‍यों करने लगता है? तो हम दे रहे हैं इसका जवाब।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
ज्यादा मात्रा में कीवी का सेवन पाचन तंत्र के लिए नुकसानदायक हो सकता है। चित्र : शटरस्टॉक
ज्यादा मात्रा में कीवी का सेवन पाचन तंत्र के लिए नुकसानदायक हो सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

नींद समग्र स्वास्थ्य का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह न केवल ऊर्जा के स्तर को प्रभावित करती है, बल्कि यह शरीर में हर अंग और उसकी कार्य क्षमता को सुचारू बनाए रखने में भी मदद करती है। जिसमें प्रतिरक्षा प्रणाली, हृदय, मस्तिष्क और यहां तक ​​कि पाचन तंत्र भी शामिल है। यदि आप अच्छी नींद नहीं ले रहे हैं, तो यह आपकी गट हेल्थ को कई तरह से प्रभावित कर सकती है।

जैसी एक सही स्लीपिंग पैटर्न से आपकी दिनचर्या और मूड में सकारात्मक बदलाव आता है। ठीक उसी तरह पर्याप्त नींद लेने से आपकी गट हेल्थ दुरुस्त रहती है। परन्तु उससे पहले जान लेते हैं कि नींद की कमी से आपकी गट हेल्थ पर क्या असर पड़ता है और अच्छी नींद क्यों ज़रूरी है –

1. नींद की कमी से तनाव बढ़ सकता है, जिसका असर गट हेल्थ पर पड़ता है

जब आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, तो आपके हार्मोन असंतुलित हो सकते हैं। जिससे तनाव हार्मोन यानी कोर्टिसोल बढ़ सकता है। बढ़ता तनाव गट हेल्थ की समस्या का कारण बन सकता है – जिसकी वजह से भोजन और विषाक्त पदार्थ गट से रक्त प्रवाह में जाने में सक्षम हो जाते हैं। यह सूजन, पेट दर्द, खाद्य संवेदनशीलता और गट माइक्रोबायोम में परिवर्तन सहित कई स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म दे सकता है।

2. नींद की कमी फूड चॉइस को प्रभावित कर सकती है

जब आपको पूरी नींद नहीं मिलती हैं, तो भूख को नियंत्रित करने वाले कुछ हार्मोन थोड़े खराब हो सकते हैं, जिससे भूख बढ़ जाती है। साथ ही, जब आप थके हुए होते हैं, तो यह अधिक संभावना है कि आप त्वरित ऊर्जा बढ़ाने के लिए अनहेल्दी भोजन विकल्पों की ओर रुख करेंगे – जैसे 2 मिनट में बनने वाले नूडल्स। ये खाद्य पदार्थ आपकी गट हेल्थ और आपके समग्र स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं।

अच्छी नींद लेने से गट हेल्थ में सुधार होता है। चित्र-शटरस्टॉक।
अच्छी नींद लेने से गट हेल्थ में सुधार होता है। चित्र-शटरस्टॉक।

3. स्लीप हार्मोन, मेलाटोनिन की कमी, GERD से संबंधित हो सकती है

मेलाटोनिन एक हार्मोन है जिसे हमारा शरीर रात में अधिक बनाता है, क्योंकि यह हमें सोने में मदद करता है। लेकिन यही मेलाटोनिन गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल गतिशीलता को विनियमित करने में भी मदद करता है। जब मेलाटोनिन का स्तर कम हो जाता है, तो सोना मुश्किल हो सकता है – और यह संभावित रूप से गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स रोग (GERD) का कारण बन सकता है।

4. देर तक जागने की वजह से सोने और भोजन करने के वक्त मिलना

यदि आप बहुत देर तक जागते हैं, तो आप सोने से तुरंत पहले खाएंगे, जो आपके पाचन स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। हेनरी फोर्ड हेल्थ सिस्टम के साथ एक कार्यात्मक जीवन शैली चिकित्सा चिकित्सक, रेयान बरिश कहते हैं – “आपको बिस्तर पर जाने के कम से कम तीन घंटे के भीतर कुछ नहीं खाना चाहिए। ऐसा करने से हमारे शरीर को आराम नहीं मिलता है और न ही खाना सही से पच पता है।”

डॉ बरिश कहते हैं कि ”हमारे शरीर को कांसिसटेंसी पसंद है, इसलिए हमें हर रोज़ एक ही समय पर खाना और सोना चाहिये।”

तो अगर आप पेट में दर्द, अपच, कब्‍ज जैसी समस्‍याओं का लगातार सामना कर रहीं हैं, तो सबसे पहले अपने स्‍लीप साइकिल को दुरुस्‍त करने की कोशिश करें। एक अच्‍छी नींद आपको बेहतर फोकस, बेहतर मेमोरी और बेहतर गट हेल्‍थ के लिए तैयार करती है। हैप्‍पी स्‍लीपिंग!

यह भी पढ़ें : क्या वैक्सीन लेने के बाद भी लोग कोरोना वायरस फैला सकते हैं? क्‍या कहते हैं अध्ययन

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।