लाल आंखें और सूजी हुई त्वचा बताती है कि आप ज्यादा खा रहीं हैं लाल मिर्च, जानिए इसके जोखिम

जरूरत से ज्यादा लाल मिर्च का सेवन आपके लिए सेहत संबंधी समस्याओं का कारण बन सकता है। खासतौर से प्रेगनेंसी के दौरान आपको इसका सेवन बहुत कम करना चाहिए।

red chili side effects
जरूरत से ज्यादा लाल मिर्च का सेवन आपके लिए सेहत संबंधी समस्याओं का कारण बन सकता है। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 14 September 2022, 21:00 pm IST
  • 149

खाने को स्पाइसी बनाने के लिए कई लोग बिना सोचे समझे लाल मिर्च का इस्तेमाल करते हैं। हालांकि, एक सीमित मात्रा में इसका सेवन सेहत के लिए फायदेमंद होता है। परंतु जैसा कि हम सभी जानते हैं, किसी भी चीज की अधिकता हमारे लिए नुकसानदेह हो सकती है। ठीक उसी प्रकार लाल मिर्च का अधिक सेवन सेहत को बुरी तरह प्रभावित करता है और यह आपकी कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है।

जंक फूड्स से लेकर लगभग सभी बाहरी भोजन में लाल मिर्च पाउडर का इस्तेमाल किया जाता है। बाजार से खरीदा गया लाल मिर्च पाउडर खड़े लाल मिर्च की तुलना में कई गुना ज्यादा हानिकारक होता है। इसीलिए किसी भी खाद्य पदार्थ का सेवन करने से पहले उसकी पूरी जानकारी ले लेना जरूरी है। तो चलिए जानते हैं आखिर किस तरह लाल मिर्च हमारी सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है।

पहले जानें लाल मिर्च (Red chilly) के बारे में कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

लाल मिर्च कई आवश्यक पोषक तत्वों का एक बेहतरीन स्रोत है। इसमें प्रोटीन, फाइबर, सोडियम, पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, फास्फोरस, जिंक, कॉपर, मैंगनीज, सेलेनियम और कई अन्य विटामिन जैसे कि विटामिन बी1, बी2, बी3, के और बी9, पाए जाते हैं। इसके साथ ही इसमें मौजूद प्रॉपर्टीज जैसे कि एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीमाइक्रोबॉयल और खास बना देती हैं।

chilli oil ke side effects
चाइनीज व्यंजनों के साथ खाई जाने वाली शेज़वान चटनी और चिली ऑयल है स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह। चित्र : शटरस्टॉक

वहीं इसमें कई ऐसी प्राेपर्टीज पाई जाती हैं जो कैंसर, ब्लड शुगर लेवल, कोलेस्ट्रॉल लेवल को संतुलित रखती हैं। साथ ही यह मेमोरी बढ़ाने में भी मदद करता है। इतना ही नहीं यह वेट मैनेजमेंट में भी प्रभावी हो सकती है। परंतु आपको बता दें कि इन सभी खूबियों के बाद भी लाल मिर्च का अधिक सेवन आपकी सेहत के लिए काफी नुकसानदेह हो सकता है।

यहां जानें लाल मिर्च का अधिक सेवन किस तरह सेहत के लिए हो सकता है नुकसानदेह

1. डायरिया

अधिक मात्रा में लाल मिर्च का सेवन पाचन क्रिया से संबंधित समस्याओं को जन्म दे सकती हैं। इसके साथ ही किसी भी व्यंजन में अधिक मात्रा में लाल मिर्च का होना उस व्यंजन के जरूरी पोषक तत्वों के प्रभाव को कम कर देता है। जिससे डायरिया जैसी समस्याएं होने की संभावना बढ़ जाती हैं। खासकर लाल मिर्च पाउडर का सेवन पेट में जलन, दर्द और जी मचलने जैसी समस्याओं का कारण बन जाता है।

gas ki samsya me kargar hai ajwain.
डायरिया का कारण बन सकता है रेड चिल्ली। चित्र : शटरस्टॉक

2. आंखों को प्रभावित करती है

अधिक मात्रा में लाल मिर्च का सेवन आंखों के लाल होने, आंखों से पानी आने और आंखों में सूजन का कारण बन सकता है। इसके साथ ही यदि यह गलती से आंखों के आसपास की आंखों में लग जाए तो आपको काफी ज्यादा दर्दनाक स्थिति से गुजरना पड़ता है इसलिए इसे प्रयोग करते वक्त खास सावधानी बरतें।

3. अस्थमा को उत्तेजित करता है

रेड चिल्ली का अधिक सेवन रेस्पिरेट्री ट्रैक्ट के म्यूकस मेंब्रेन में सूजन का कारण बन सकता है। लाल मिर्च की अधिकता से आपको सांस लेने में कठिनाई हो सकती है। यदि आप अस्थमा से पीड़ित है तो यह उसे ट्रिगर कर देता है। इसके साथ ही गले में इरिटेशन और बर्निंग सेंसेशन पैदा करता है। इतना ही नही यह कफ, लगातार छींक आने और खांसी का भी कारण बन सकता है।

mouth ulcer ke liye home remedies try kar sakti hai
माउथ अल्सर का कारण बन सकता है लाल मिर्च।चित्र: शटरस्टॉक

4. मुंह में छाले पड़ना

लाल मिर्च के अधिक सेवन से मुंह में छाले पड़ने जैसी समस्याएं आपको परेशानी में डाल सकती हैं। यह काफी ज्यादा तीखा होता है और कई लोगों को अपने खाद्य पदार्थों में इसका अधिक सेवन करना बहुत पसंद है। हालांकि, आप एक सीमित मात्रा में रेड चिल्ली का सेवन कर सकती हैं। परंतु यदि इसे अधिक मात्रा में लिया जाए तो यह आपके माउथ बर्निंग का भी कारण बन सकता है।

5. त्वचा से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं

लाल मिर्च का अधिक सेवन त्वचा से जुड़ी कई तरह की समस्याओं का कारण हो सकता है। जैसे कि त्वचा का लाल होना, त्वचा में स्वेलिंग आना, इसके साथ ही खुजली और जलन जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

ऐसे में एक सीमित मात्रा में लाल मिर्च का सेवन करें। इसके साथ ही इसे प्रयोग करते वक्त अधिक सावधानी बरतें, अन्यथा यदि यह सीधी स्किन पर लग जाए तो काफी देर तक बर्निंग सेंसेशन का कारण बनी रहती है।

प्रेगनेंसी में भूलकर भी न करे लाल मिर्च का सेवन। चित्र शटरस्टॉक।

6. प्रेगनेंसी कॉम्प्लिकेशंस का कारण बन सकती है लाल मिर्च

प्रेगनेंसी के दौरान लाल मिर्च के सेवन को जितना हो सके उतना नजरअंदाज करें, क्योंकि कई स्टडी का मानना है, की प्रेगनेंसी में रेड चिल्ली का अधिक सेवन बच्चे की सेहत को प्रभावित करता है और उनमें रेस्पिरेट्री डिजीज पैदा कर सकता है।

वहीं इस दौरान यदि स्पाइसी खाने का मन हो रहा है, तो लाल मिर्च से युक्त व्यंजनों की जगह अन्य स्पाइसी व्यंजनों का सेवन करें।

यह भी पढ़ें : अपनी शाम की चाय का आनंद लें कच्चे केले के इस चटपटे स्नैक्स के साथ

  • 149
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory