इन 3 कारणों से किसी को भी करना पड़ सकता है कब्ज का सामना, इनका समाधान है जरूरी

कब्ज तब होता है जब आपका मल त्याग कठोर और गांठदार, दर्दनाक या कठिन होता है, या आप सप्ताह में तीन दिन से अधिक शौच नहीं कर पाते हैं।
subah poop hona achchhi baat hai.
यदि हम गर्म पानी या चाय कॉफ़ी का सेवन करते हैं, तो आंत और अधिक एक्टिव हो जाती है। चित्र: शटरस्टॉक
संध्या सिंह Published: 29 May 2024, 20:30 pm IST
  • 134

अगर आपको रोजाना मल त्याग करने में परेशानी होती है, तो आप अकेले नहीं हैं। ऐसे कई लोग है जिन्हें हर रोज इस समस्या का सामना करना पड़ता है। अधिकतर 60 से अधिक उम्र के लोगों में ये समस्या थोड़ी अधिक होती है। जब मल बहुत कड़ा हो जाता है तो वो पास करने में बहुत दर्द का सामना करता पड़ता है। इसे कब्ज का समस्या भी कहते है। इसके कई कारण हो सकते है। जब शरीर में ऐसे पोषक तत्वों की कमी होने लगती है जो मल को नरम करते है तो ये समस्या अधिक बढ़ जाती है।

कब्ज तब होता है जब आपका मल त्याग कठोर और गांठदार, दर्दनाक या कठिन होता है, या आप सप्ताह में तीन दिन से अधिक शौच नहीं कर पाते हैं। इसके कारण जानने के लिए हमने बात की मेडीकवर हॉस्पिटल, नवी मुंबई के न्यूट्रीशन और डायटेटिक्स डिपार्टमेंट की एचओडी डॉ राजेश्वरी पांडा से।

मल त्याग को मुश्किल बना सकते है ये 3 कारण

1 पर्याप्त पानी न पीना

स्वस्थ और आसानी से निकलने वाले मल को बनाए रखने के लिए पानी बहुत ज़रूरी है। जब आप पर्याप्त पानी नहीं पीते हैं, तो आपका शरीर नमी बचाने की कोशिश करता है, जिसमें आंतों से पानी को फिर से सोखना भी शामिल है। इस प्रक्रिया से मल सूख जाता है, जिससे यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट से धीरे-धीरे आगे बढ़ता है और अंत तक पहुंचने पर इसे बाहर निकालना और भी मुश्किल हो जाता है।

poop colour deta hai cancer ka signal
पूप का कलर लाल है यानी पूप में दर्द के साथ खून आते हैं, तो यह कोलन कैंसर की निशानी हो सकती है। चित्र: शटरस्टॉक

2 डाइट में भरपूर मात्रा में फाइबर न लेना

भले ही आप बहुत हेल्दी डाइट लेते हों, लेकिन अगर आप पर्याप्त मात्रा में फाइबर नहीं ले रहें है तो ये आपके डाइट को संतुलित होने से रोक सकता है। फाइबर मल नें बल्क जोड़ने का काम करता है। आपक गट से खराब पदार्थों को बाहर निकालने में कितना समय लगेगा इसे निर्धारित करता है। पर्याप्त फाइबर न मिलने से मल छोटा, सख्त हो सकता है और जब आप शौच करने की कोशिश कर रहे होते हैं तो आपको अधिक तनाव हो सकता है।

3 नियमित रूप से न चलना

शारीरिक गतिविधि में कमी का मतलब यह भी है कि आपकी आंत उतनी सक्रिय नहीं है जितनी होनी चाहिए। यह संकेत दे सकता है कि आपकी आंतों की मांसपेशियां उतनी मज़बूत नहीं हैं जितनी होनी चाहिए। ये मांसपेशियां पाचन तंत्र के माध्यम से पचने वाले भोजन को आगे बढ़ाने का काम करती है।

एरोबिक व्यायाम विशेष रूप से आंत से मल के पास होने के समय को कम करने और तनाव को प्रबंधित करने में महत्वपूर्ण है।

period cramp ke kya kaaran hote hain
मल त्याग करते हुए ज्यादा दर्द हो सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

मल त्याग को ठीक करने के लिए क्या करें

1 पूरे दिन खूब पानी पीना पर ध्यान देने की जरूरत है खासकर गर्मियों के मौसम में। जब आप ठीक से हाइड्रेटेड होते हैं, तो कोलन मल को नरम करने के लिए आवश्यक पानी को अवशोषित करने में सक्षम होता है। सादा पानी, चाय और यहां तक कि कॉफ़ी भी आपके दैनिक हाइड्रेशन लक्ष्यों में शामिल हैं। महिलाओं के लिए, यह दिन में लगभग नौ कप है, और पुरुषों को लगभग 12.5 कप की आवश्यकता होती है। आप अपने पेशाब के रंग से भी हाइड्रेशन का पता लगा सकते है।

2 महिलाओं को प्रतिदिन लगभग 25 ग्राम फाइबर लेना चाहिए, और पुरुषों को लगभग 38 ग्राम फाइबर लेना चाहिए। बहुत सारे फल, सब्जियां और साबुत अनाज, एवोकाडो, चिया सीड्स, दाल सभी में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है।

3 अपनी दिनचर्या में छोटी-छोटी गतिविधियां शामिल करें। प्रत्येक भोजन के बाद, थोड़ी देर टहलने की कोशिश करें। यह न केवल आंत को सक्रिय करने में मदद करेगा, बल्कि यह आपके रक्त शर्करा को संतुलित करने में भी मदद करने का एक शानदार तरीका है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
  • 134
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख