गर्भावस्था के दौरान मल में खून आना, जानिए क्या है इसका कारण और बचाव के उपाय

यदि गर्भावस्था के दौरान आपके मल में खून आता है, तो यह चिंताजनक हो सकता है। इसलिए, आपको इस स्थिति के कारण का पता लगाने की आवश्यकता है। 
piles
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published: 26 Jun 2022, 14:30 pm IST
  • 120

गर्भावस्था एक महिला के जीवन के सबसे खास समयों में से एक है। पर इस दौरान होने वाली उल्टी, बार-बार पेशाब आना, चक्कर आना जैसे दुष्प्रभाव के कारण यह परेशान करने वाला भी हो सकता है। कई बार कुछ स्त्रियों में इस दौरान मल में खून आने की समस्या भी देखी जाती है। चलिए जानें क्या हैं इसके पीछे के कारण और समाधान।

गर्भावस्था के दौरान मल में रक्त क्यों दिखाई देता है?

यह मुख्य रूप से प्रोजेस्टेरोन हार्मोन में वृद्धि के कारण होता है, जो गर्भावस्था में होता है। प्रोजेस्टेरोन आंतों और कब्ज की कम गतिशीलता (कब्ज़ या टाईट पॉटी) का कारण बनता है, जिससे गुदा विदर और मल में खून बहने की दिक्कत आ सकती है।

गुदा विदर (anal fissure) क्या है?

गुदा विदर म्यूकोसा (mucosa) में होने वाला एक छोटा सा मांस का टुकड़ा है और यह तब पैदा हो सकता है जब कोई कठोर मल त्याग करता है। इस स्थिति से गुदा क्षेत्र में दर्द और रक्तस्राव हो सकता है, जो मल त्याग के साथ होता है। 

रक्तस्राव आमतौर पर एक ट्रिकल के साथ शुरू होता है, जो कुछ सेकंड से लेकर मिनटों तक रहता है, लेकिन 10 मिनट से अधिक नहीं। गर्भवती महिलाओं को गुदा क्षेत्र के आसपास की त्वचा में दरार या आसपास की त्वचा का एक छोटा सा टैग भी दिखाई दे सकता है खास कर के तब जब वे गुदा विदर से पीड़ित हों।

बवासीर, मल में रक्त के प्रमुख कारणों में से एक है, जो आमतौर पर गर्भावस्था में होती है, जिसकी संभावना लगभग 25-35 प्रतिशत होती है। गर्भावस्था की गर्भकालीन समय सीमा के दौरान बवासीर की गंभीरता बढ़ जाती है। गर्भाशय के अधिक वजन और गर्भावस्था के दौरान रक्त परिसंचरण (रक्त संचार प्रणाली) में वृद्धि से भी बवासीर होने की संभावना बढ़ जाती है।

जब बवासीर के कारण गुदा के आसपास की रक्त वाहिकाओं में सूजन हो जाती है, तो इससे रक्तस्राव, खुजली और यहां तक ​​कि बैठते समय दर्द भी होता है। आमतौर पर, बवासीर प्रसव के कुछ हफ्तों के भीतर चली भी जाती है।

आयरन और कैल्शियम की गोलियां भी हो सकती हैं मॉल में खून का कारण चित्र:शटरस्टॉक

अन्य कारण

यदि गर्भवती महिला को अपने मल जो, गहरे रंग का भी हो सकता है में खून दिखाई देता है, तो इसका एक अन्य सामान्य कारण गर्भावस्था के दौरान आयरन और कैल्शियम की खुराक लेना भी हो सकता है, जो बच्चे के जन्म के लिए महत्वपूर्ण हैं।

आयरन की गोलियां कब्ज या दस्त का कारण बन सकती हैं और मल को  गहरे रंग का बना सकती हैं, लेकिन इसकी वजह से  शायद ही कभी रक्तस्त्राव होता हो। हालांकि कब्ज़ इसका कारण ज़रूर हो सकता है। 

दूसरी ओर, कैल्शियम कब्ज भी पैदा कर सकता है, तब मल में रक्तस्राव होने की संभावना अधिक होती है। यदि रक्तस्राव जारी रहता है, तो कुछ दिनों के लिए पूरक आहार (supplements) बंद कर दें और थोड़े समय के लिए वैकल्पिक यानी ऑल्टरनेट दिनों में लें। पर ध्यान रहे यह परमानेंट सॉल्यूशन नहीं है।

मल में रक्तस्राव के अन्य कारणों में सूजन, आंत रोग (अल्सरेटिव कोलाइटिस या क्रोहन रोग) और एनोरेक्टल कैंसर शामिल हैं। इनका सावधानीपूर्वक मूल्यांकन करने की आवश्यकता है। इसलिए ऐसी स्थिति में डॉक्टर से परामर्श लेना न भूलें।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

गुदा विदर और बवासीर का उपचार

निम्नलिखित उपाय आजमाए जा सकते हैं:

अपने आहार में फाइबर की मात्रा बढ़ाएं।

खूब सारे तरल पदार्थ और प्रोबायोटिक्स लें।

सोते समय रेचक (laxative) जोड़ना उपयोगी हो सकता है।

डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन पर लिखी हुई दवाएं, क्रीम के रूप में, दर्द को कम करने के लिए दिन में 2 से 3 बार लगाई जा सकती हैं।

सिट्ज़ बाथ लेना, यानी दिन में 2 से 3 बार नमक वाले गर्म पानी से स्नान करना फायदेमंद साबित हो सकता है।

लंबे समय तक टॉयलेट सीट पर बैठने से बचें।

सावधान रहें क्योंकि गर्भावस्था के दौरान अपने प्रसूति रोग विशेषज्ञ को रिपोर्ट करना और हमेशा सुरक्षित होता है और सुरक्षित मातृत्व यात्रा के लिए खुद की जांच करवाएं।

यह भी पढ़ें: हार्ट हेल्थ से लेकर वज़न कम करने तक, आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं भांग के बीज

  • 120
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख