वैलनेस
स्टोर

#Dare To change: इन 8 गंभीर समस्‍याओं से बचना है, तो बदल दीजिए लगातार बैठने की आदत

Published on:3 April 2021, 12:00pm IST
आप नेटफ्लि‍क्‍स पर नजर गढ़ाए बैठी हैं या किसी महत्वपूर्ण असाइनमेंट ने आपको घंटों कुर्सी पर चिपका दिया है, कारण चाहें जो भी हो, लंबी अवधि तक बैठे रहना आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
ज्यादा देर तक बैठना आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है. चित्र : शटरस्टॉक

वर्क फ्रॉम होम और डिजिटलाइजेशन के जमाने में शारीरिक गतिविधि बहुत कम हो गयी है। न चाहते हुए भी 24 घंटे हमें लैपटॉप या फोन के साथ बैठे रहना पड़ता है। लेकिन लंबे समय तक बैठ रहना आपकी सेहत को गंभीर नुकसान पहुंचाता है। आइए जानते हैं ऐसी ही समस्‍याओं के बारे में जो लंबी अवधि तक बैठे रहने के कारण उत्‍पन्‍न होती हैं।

1. कमजोर पैर और ग्लूट्स

पूरे दिन बैठे रहने से, आपके शरीर के निचले हिस्से की मांसपेशियां कमज़ोर हो जाती हैं। लगातार बैठे रहने से आपके ग्लूट्स पर सबसे ज्यादा असर पड़ता है और पैरों की हड्डियां कमज़ोर होने लगती हैं। अगर आपके ग्लूट्स कमज़ोर हो जाएं, तो चोट लगने का खतरा काफी बढ़ जाता है।

2. वज़न बढ़ना

चलने से आपकी मांसपेशियां लिपोप्रोटीन लाइपेस जैसे अणुओं को मुक्त करती हैं, जो वसा और शर्करा को पचाने में मदद करता है। जब आप अपना अधिकांश समय बैठकर बिताते हैं, तो इन अणुओं का निकलना कम हो जाता है, जिससे सिर्फ पेट की चर्बी बढ़ने लगती है। लगातार बैठे रहने से आपके मेटाबोलिक सिंड्रोम से ग्रसित होने का जोखिम भी बढ़ जाता है।

लबे वक़्त तक बैठने से आपका वज़न बढ़ सकता है। चित्र- शटरस्टॉक
लबे वक़्त तक बैठने से आपका वज़न बढ़ सकता है। चित्र- शटरस्टॉक

3. टाइट हिप्स और बैड बैक

आपके पैर और ग्लूट मांसपेशियों के साथ, आपके कूल्हे और पीठ बैठने से ख़राब होते हैं। बैठने से आपके कूल्हे फ्लेक्सर्स छोटे हो जाते हैं और आपकी बैठने की स्थिति भी आपकी पीठ को चोट पहुंचा सकती है। खासकर जब आप कुर्सी का उपयोग नहीं करती और बिस्‍तर पर बैठकर काम करती हैं।

इसके अलावा, बैठते समय खराब मुद्रा आपकी रीढ़ की हड्डी पर संपीड़न का कारण बन सकती है और समय से पहले इसका पतन हो सकता है। जिसके परिणामस्वरूप दर्द भी हो सकता है।

4. एंग्‍जायटी और अवसाद

ज्यादा बैठने वाले लोगों में अवसाद और एंग्‍जायटी दोनों का खतरा अधिक होता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि स्वस्थ शरीर में ही, स्वस्थ मस्तिष्क का विकास होता है। इसके साथ ही, व्यायाम करने से मेंटल हेल्थ में सुधार होता है और आपका शरीर डोपामाइन रिलीज़ करता है।

5. हृदय रोग

लंबे वक़्त तक बैठने से ह्रदय रोग का खतरा बढ़ सकता है। अमेरिकन कॉलेज ऑफ स्पोर्ट्स मेडिसिन के एक अध्ययन में पाया गया कि जिन पुरुषों ने प्रति सप्ताह 23 घंटे से अधिक समय तक टीवी देखा, उनमें हृदय रोग से मृत्यु का खतरा 64% अधिक था, बजाए उनके जो केवल 11 घंटे तक टेलीविजन देखते थे।

विशेषज्ञों का कहना है कि जो लोग लंबे समय तक बैठे रहते हैं, उन्हें दिल का दौरा या स्ट्रोक पड़ने का खतरा 147% अधिक होता है।

लंबे वक़्त तक बैठना ह्रदय रोग के जोखिम को बढ़ाता है । चित्र : शटरस्टॉक
लंबे वक़्त तक बैठना ह्रदय रोग के जोखिम को बढ़ाता है । चित्र : शटरस्टॉक

6. मधुमेह का खतरा

जो लोग अधिक समय बैठकर बिताते हैं, उनमें भी मधुमेह का खतरा 112% ज्यादा होता है। एक्सरसाइज करने से ब्लड शुगर लेवल मेन्टेन रहता है। ऐसे में लंबे वक़्त तक बैठना बेहद नुकसानदायक है।

7. वैरिकोज वेन्स (Varicose Veins)

लंबे समय तक बैठे रहने से पैरों में खून जम सकता है। इससे वैरिकोज वेंस का छोटा जमाव हो सकता है और पैरों में खून के थक्के भी जम सकते हैं।

8. कंधे और गर्दन में जकड़न

अपने पैरों, बट और पीठ के निचले हिस्से के साथ, आपके कंधे और गर्दन भी लंबे समय तक बैठने से खराब हो सकते हैं। लंबे वक़्त तक लैपटॉप पर काम करने से आपकी गर्दन अकड़ सकती है।

इसलिए, सही मुद्रा में बैठें और समय-समय पर चलते रहें। साथ ही, हर रोज़ एक्सरसाइज के लिए कुछ समय ज़रूर निकालें।

यह भी पढ़ें : हर छींक का मतलब कोविड-19 से ग्रस्‍त होना नहीं ! आइये जानते हैं इस बारे में क्‍या कहतेे हैं ईएनटी स्‍पेेशलिस्‍ट

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।