वैलनेस
स्टोर

मम्मी कहती हैं गर्भवती महिलाओं के लिए हानिकारक है कोल्ड ड्रिंक, जानिए कैसे

Published on:14 August 2021, 08:00am IST
प्रेगनेंसी आपसे बहुत सारे बदलावों की अपेक्षा करती है। इसमें एक जरूरी बदलाव आहार संबंधी भी है।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 94 Likes
cold drink ke side effect
गर्भावस्था में कोल्ड्रिंक का सेवन भूलकर भी न करें. चित्र : शटरस्टॉक

आजकल मेरी दीदी प्रेगनेंट हैं और कल वे बड़े दिनों बाद घर आयीं थी। सबके लिए चाय-नाश्ता लग ही रहा था कि दीदी ने कहा ‘मेरे लिए चाय मत लाना, मैं कोल्ड ड्रिंक पियूंगी!’ बस उनके कहने की देर नहीं थी कि मम्मी ने कहा तुम कोल्डड्रिंक नहीं पियोगी। मुझे दीदी के बारे में यह सोच कर बुरा लगा। मैंने अभी तक सुना था कि गर्भावस्था में महिलाओं को कुछ चीजों के लिए क्रेविंग होती है। पर क्या मम्मी उन्हें एक गिलास उनकी फेवरिट कोल्ड ड्रिंक भी नहीं दे सकतीं।

क्या था मम्मी का तर्क

मम्मी भी जानती हैं कि प्रेगनेंसी में महिलाओं को बहुत अजीब चीजों की भी क्रेविंग होती है। पर कोल्ड ड्रिंक को लेकर उन्होंने सख्त आपत्ति जताई। दीदी के लिए उन्होंने फ्रेश जूस तैयार किया और हमें बताया कि इस वक्त दीदी जो भी खाएंगी, वह उनसे ज्यादा उनके बच्चे की सेहत को प्रभावित करेगा। और कार्बोनेटेड ड्रिंक में ऐसी एक भी चीज नहीं है, जो उनके बेबी की सेहत के लिए अच्छी हो।

मम्मी इतना बोलकर चली गयीं, मगर मुझे और दीदी को उत्सुकता हुई तो, हमने इसके बारे में ऑनलाइन पढ़ने की कोशिश की। आप यकीन नहीं मानेंगे! हमें कुछ हैरान करने वाले तथ्य पता चले और आज वही मैं आपके साथ साझा कर रही हूं!

आखिर क्यों गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को नहीं पीनी चाहिए कोल्ड ड्रिंक

1. इसमें कैफीन होता है

अधिकांश कोला में कैफीन होता है, जिसके कई हानिकारक दुष्प्रभाव हैं। रक्त में कैफीन का अवशोषण तेज होता है और प्लेसेंटा के जरिए बच्चे तक जल्दी पहुंचता है। कैफीन आपके केंद्रीय तंत्रिका तंत्र और एड्रेनालाईन ग्लैंड को प्रभावित करता है।

 pregnancy me cold drink
कोल्डड्रिंक में कैफीन की मात्रा काफी अधिक होती है जो बच्चे के लिए हानिकारक है. चित्र – शटर स्टॉक

कैफीन आपके संचार तंत्र में लगभग 11 घंटे तक रहता है, और भ्रूण इस जहरीले पदार्थ को तोड़ने के लिए संघर्ष करता है। इसके अलावा, कैफीन एक मूत्रवर्धक है और डिहाइड्रेशन का कारण भी बनता है। गर्भवती महिलाओं के लिए कैफीन की खुराक प्रति दिन 200 मिलीग्राम से अधिक नहीं होनी चाहिए।

आपके आराम और नींद को प्रभावित करने के अलावा 300mg से अधिक कैफीन का सेवन गर्भपात का कारण बन सकता है। एनसीबीआई के अनुसार 500mg से अधिक कैफीन लेने से, बच्चे में लगातार उच्च दिल की धड़कन और सांस लेने का स्तर बढ़ जाता है। इसलिए, कोक, कॉफी, चॉकलेट, ब्राउनी और कैफीन युक्त किसी भी चीज से बचने की सलाह दी जाती है।

2. एलर्जी का कारण बन सकते हैं आर्टिफिशियल स्वीटनर और प्रिजर्वेटिव

कलरिंग एजेंट, प्रिजर्वेटिव, स्वीटनर और फ्लेवर प्रेगनेंसी के दौरान सेहत के लिए हानिकारक होते हैं। चीनी का सेवन आपके वजन को बढ़ा सकता है और गर्भावस्था में जटिलताएं हो सकती हैं। यह आपके बच्चे के विकास को भी प्रभावित कर सकती हैं।

आर्टिफिशियल फ्लेवर में एक डाई होती है, जिससे बच्चे में एलर्जी हो सकती है। इसके अलावा, कोल्डड्रिंक में मौजूद सैकरीन बच्चे तक जा सकती है और मूत्राशय में जमा हो सकती है।

 pregnancy me cold drink
गर्भावस्था में कोल्ड्रिंक का सेवन न करें। चित्र – शटरस्टाक

3. बच्चा बर्दाश्त नहीं कर पाता कोल्ड ड्रिंक का ठंडापन

गर्भवती महिला का पेट तापमान के प्रति संवेदनशील होता है। ठंडे पेय पदार्थ पीने से पेट और रक्त वाहिकाओं में अचानक सिकुड़न आ सकती है, जो बच्चे के लिए अच्छा नहीं है। इसके कई हानिकारण प्रभाव हो सकते हैं जैसे भूख न लगना, अपच, पेट में ऐंठन और समय से पहले गर्भपात आदि।

तो लेडीज अगर आप पहली बार मां बन रहीं हैं और कोल्ड ड्रिंक पीने की आदी हैं, तो इस आदत को अभी छोड़ देना चाहिए। अपने प्यारे और हेल्दी बेबी के लिए आप इतना समझौता तो कर ही सकती हैं न।

यह भी पढ़ें : डोंट वरी लेडीज, अपच और गैस के कारण भी हो सकता है छाती में दर्द, समझिए ये कैसे परेशान करता है

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।