डियर लेडीज, खुद से प्यार करती हैं, तो हीमोग्लोबिन लेवल का जरूर रखें ध्यान

शरीर में यदि खून की कमी हो तो आपको जीवन के कई पड़ावों पर परेशानियों का सामना करना पढ़ सकता है। इसलिए इसे दूर करना सबसे पहले जरूरी है।

hemoglobin badhane ke liye food
महिलाओं के लिए जरूरी है सही हीमोग्लोबिन लेवल बनाए रखना। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 13 February 2022, 18:00 pm IST
  • 129

2011 में जारी यूनिसेफ की रिपोर्ट के अनुसार, लगभग 56% किशोर भारतीय लड़कियां एनिमिक हो सकती हैं। साथ ही, भारत में कुपोषण और एनीमिया जैसे मुद्दे आबादी के बड़े हिस्से को प्रभावित करते हैं। इतना ही नहीं, महिलाओं को खून की कमी की वजह से गर्भावस्था में भी कई तरह की समस्याएं आ सकती हैं।

हीमोग्लोबिन आपकी लाल रक्त कोशिकाओं में एक प्रोटीन है, जो आपके शरीर के बाकी हिस्सों में ऑक्सीजन पहुंचाता है। यह आपकी कोशिकाओं से कार्बन डाइऑक्साइड को भी बाहर निकालता है।

मेयो क्लिनिक के अनुसार सही हीमोग्लोबिन का स्तर पुरुषों में 13.5 ग्राम प्रति डेसीलीटर और महिलाओं में 12 ग्राम प्रति डेसीलीटर होना चाहिए।

हीमोग्लोबिन की कमी के लक्षण

क्लीवलैंड क्लिनिक के अनुसार हीमोग्लोबिन की कमी के लक्षणों में शामिल है

कमजोरी
सांस लेने में कठिनाई
सिर चकराना
तेज़ या अनियमित दिल की धड़कन
कानों में तेज़ दर्द
सरदर्द
ठंडे हाथ और पैर
त्वचा का पीला पड़ना
छाती में दर्द

khoon ki kami ke lakshan
छाती में दर्द भी हो सकता है खून की कमी का लक्षण ! चित्र : शटरस्टॉक

क्यों हो जाती है महिलाओं में हीमोग्लोबिन की कमी?

आयरन की कमी
गर्भावस्था
लिवर की समस्याएं
मूत्र मार्ग में संक्रमण

इसके अलावा, कुछ लोगों में बिना किसी अंतर्निहित कारण के स्वाभाविक रूप से हीमोग्लोबिन की मात्रा कम होती है। जिसके कारण उन्हें कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

हीमोग्लाेबिन की कमी दूर करने के लिए आपको रखना चाहिए इन बातों का ध्यान

1 आयरन का सेवन है ज़रूरी

नेशनल एनीमिया एक्शन काउंसिल के अनुसार, आयरन की कमी हीमोग्लोबिन के निम्न स्तर का सबसे आम कारण है। विशेषज्ञों का मानना है कि एक वयस्क पुरुष को प्रति दिन 8 मिलीग्राम तक और 18 से 50 वर्ष की आयु की महिलाओं को लगभग 19 मिलीग्राम आयरन की आवश्यकता होती है।

सबसे अच्छे आयरन युक्त खाद्य पदार्थों में हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, चुकंदर, टोफू, शतावरी, चिकन लीवर, साबुत अंडा, सीप, सेब, अनार, खुबानी, तरबूज, प्रून, कद्दू के बीज, खजूर, बादाम, किशमिश, आंवला और गुड़ शामिल हैं। इनका सेवन ज़रूर करें। .

khoon ki kami door kare chukandar
खून की कमी दूर करे चुकंदर। चित्र : शटरस्टॉक

2 चुकंदर

शरीर की लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या बढ़ाने के लिए चुकंदर की भी अत्यधिक अनुशंसा की जाती है। क्योंकि यह फोलिक एसिड के साथ-साथ आयरन, पोटेशियम और फाइबर में उच्च होता है।

3 विटामिन A और C का संयोजन है जरूरी

शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए विटामिन C और A दोनों का संयोजन होना महत्वपूर्ण है। विटामिन C और A का संयोजन आयरन के अवशोषण के लिए महत्वपूर्ण है। विटामिन C से भरपूर खाद्य पदार्थ खाएं जैसे संतरा, नींबू, स्ट्रॉबेरी, पपीता, शिमला मिर्च, ब्रोकली। आप विटामिन ए को पशु खाद्य स्रोतों जैसे मछली, गाजर, पालक आदि में पा सकते हैं।

4 फोलिक एसिड का सेवन भी है ज़रूरी

फोलिक एसिड, एक बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन, लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने के लिए आवश्यक है और फोलिक एसिड की कमी से हीमोग्लोबिन का स्तर कम हो जाता है। फोलिक एसिड के कुछ अच्छे खाद्य स्रोत हरी पत्तेदार सब्जियां, अंकुरित अनाज, मूंगफली, केला, ब्रोकोली और चिकन हैं।

5 एक्सरसाइज़ करें

खून बढ़ाने के लिए एक्सरसाइज़ करना भी ज़रूरी है। क्योंकि जब आप व्यायाम करती हैं, तो पूरे शरीर में ऑक्सीजन की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए आपका शरीर अधिक हीमोग्लोबिन का उत्पादन करता है।

यह भी पढ़ें ; इम्यूनोथेरेपी से हो सकता है मेटास्टैटिक ब्रेस्ट कैंसर का उपचार, जानिए क्या कहता है यह शोध

  • 129
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory