लॉग इन

क्या सर्दी-जुकाम के साथ आपको भी कब्ज हो जाती है? तो जानिए इसका कारण

सर्दी-जुकाम कभी भी हो सकता है। और अपने साथ परेशान करने वाले बहुत से लक्षण लेकर आता है। पेट की गड़बड़ी भी इन्हीं में से एक है। 
यदि कॉन्सटिपेशन है तो सनफ्लावर सीड ज़रूर ट्राई करें । चित्र: शटरस्टॉक
शालिनी पाण्डेय Published: 3 Aug 2022, 04:02 pm IST
ऐप खोलें

सिर दर्द, नाक बहना और शरीर में थकान के अलावा सर्दी-जुकाम और भी कई तरह से आपको परेशान कर सकता है। क्या आपने भी महसूस किया है कि सर्दी-जुकाम के साथ आपका पेट भी गड़बड़ हो जाता है? ज्यादातर लोग फ्लू या सर्दी-जुकाम होने पर कब्ज का सामना करते हैं। क्या है इसकी वजह है? क्या है गट हेल्थ और सर्दी-जुकाम का कनैक्शन? आइए विशेषज्ञ से जानते हैं इसके बारे में सब कुछ। 

क्या है सर्दी-जुकाम और गट हेल्थ का कनेक्शन 

2014 में किए गए परीक्षणों में पाया गया कि इन्फ्लुएंजा वायरस की वजह से आंत के माइक्रोबायोम में परिवर्तन हो सकते हैं। ये माइक्रोबायोम हमारी आंतों में बैक्टीरिया आदि का संतुलन बनाते हैं। इस संतुलन के कारण भोजन को पचाने में मदद मिलती है। डाइजेस्टिव सिस्टम ठीक रहता है और कब्ज़ की दिक्कत भी नहीं रहती। पर जब सर्दी-जुकाम के कारण इनमें असंतुलन  होता है, तो आप कब्ज का सामना कर सकती हैं।  

डिहाइड्रेशन हो सकती है वजह

जनरल फिजीशियन डॉक्टर सिद्धार्थ शेखर करते हैं कि जुकाम होने पर मल की निकासी, डिहाइड्रेशन के कारण मुश्किल हो जाती है। शरीर में पानी की कमी होने का कारण खासतौर पर बुखार में होने वाला पसीना है, जिसकी वजह से शरीर नमी खो देता है। इससे कब्ज हो सकती है। 

ज़ुकाम होने पर जरूर पीएं पानी, चित्र:शटरस्टॉक

जब आप डिहाइड्रेट होते हैं, तो शरीर पहले से मौजूद पानी का उपयोग करता है। ऐसे में होने वाली पानी की कमी के कारण मल टाइट हो जाता है।

दवाइयों का दुष्प्रभाव

डॉक्टर शेखर के अनुसार जब आप जुकाम या फ्लू से पीड़ित होते हैं, तो मल की संरचना बदल जाती है, लेकिन यह स्वयं बीमारियों के कारण नहीं है। सर्दी और फ्लू के लक्षणों से निपटने में आपकी मदद करने वाली दवाओं के दुष्प्रभाव होते हैं। जो आपके डाइजेस्टिव सिस्टम के लिए समस्याएं पैदा करते हैं। 

दवाओं के हो सकते हैं साइड इफेक्ट. चित्र : शटरस्टॉक

स्यूडोएफ़ेड्रिन, सर्दी-जुकाम की दवाओं में मौजूद एक सामान्य घटक है। जो कब्ज़ का कारण बन सकता है। जबकि दर्द की दवाएं जिन्हें एनएसएआईडीएस के रूप में जाना जाता है, कब्ज पैदा करती हैं। यह उन लोगों के लिए ज्यादा दिक्कत दे सकता है, जो पहले से ही इरिटेटिंग बॉवेल सिंड्रोम जैसी गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल स्थिति से पीड़ित हैं।

जुकाम है तो ध्यान रखें 

यदि आपको सर्दी-जुकाम या फ्लू है और अपने आप ठीक नहीं हो रहा, तो आपको डॉक्टर से बात करनी चाहिए। सुनिश्चित करें कि आप हाइड्रेटेड हैं, इलाज के तौर पर आप जो भी दवा ले रही हैं उसके दुष्प्रभावों को ध्यान से देखें। यदि कब्ज़ का निदान नहीं होता, तो डॉक्टर से परामर्श करें।

यह भी पढ़ें:ब्लड प्रेशर अचानक लो हो गया है, तो पिएं एक गिलास मीठा ठंडा दूध, जानिए ये कैसे काम करता है

शालिनी पाण्डेय

...और पढ़ें

अगला लेख