फॉलो
वैलनेस
स्टोर

स्वस्थ दिल का राज है रेड वाइन, मगर कब और कितनी रेड वाइन है आपके लिए फायदेमंद

Updated on: 10 December 2020, 12:17pm IST
रेड वाइन के दिल के लिए फायदों की चर्चा तो आम है, लेकिन क्या आप इसके पीछे का साइंस जानती हैं? हम बताते हैं।
विदुषी शुक्‍ला
  • 80 Likes
रेड वाइन के दिल के लिए फायदों की चर्चा आम है। Gif: giphy

अगर आप रेड वाइन की फैन हैं, तो आपने रेड वाइन के फायदों के बारे में जरूर सुना होगा। त्वचा जवां रखने से लेकर स्वस्थ दिल तक, अगर नियंत्रण में रह कर रेड वाइन का सेवन किया जाए, तो यह बहुत लाभदायक होती है।

लेकिन क्यों? ऐसा क्या है रेड वाइन में जो इसे बाकी शराब से अलग बनाता है।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

क्यों हेल्दी है रेड वाइन?

रेड वाइन गहरे रंग के अंगूरों से बनती है जिन्हें छिलके सहित फरमेंट किया जाता है।  यही कारण है कि इसका जामुनी लाल रंग आता है।

वाइट वाइन के मुकाबले रेड वाइन ज्यादा फायदेमंद है। चित्र- शटरस्टॉक।

रेड वाइन में पोलीफेनॉल्स एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो दिल के लिए फायदेमंद होते हैं।  रेड वाइन में मुख्य रूप से रेसवेराट्रॉल नामक पोलीफेनॉल होता है।  यह गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है।

रेसवेराट्रॉल दिल की ब्लड वेसल्स को प्रभावित करता है।

असल में बैड कोलेस्ट्रॉल इन ब्लड वेसल्स में जमने लगता है और इन्हें पतला करता जाता है। जितनी पतली वेसल्स होंगी, ब्लड प्रेशर उतना अधिक होगा। कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से यह ब्लड वेसल्स ब्लॉक को जाती हैं और हार्ट अटैक पड़ जाता है।

रेसवेराट्रॉल ब्लड वेसल्स को पतला होने से रोकता है और साथ ही खराब कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है।

कई स्टडीज में यह पाया गया है कि रेसवेराट्रॉल इंफ्लामेशन कम करके खून के थक्कों को कम करता है, जिसका सीधा संबंध दिल के स्वास्थ्य से है। हालांकि कुछ रिसर्चर का मानना है कि रेसवेराट्रॉल दिल की बीमारियों का जोखिम कम नहीं कर सकता।

इस मिक्स रेस्पॉन्स के बावजूद वैज्ञानिक मानते हैं कि रेड वाइन का सेवन सेहत के लिए अच्छा है, अगर सीमा में किया जाए तो।

और भी फूड्स में है रेसवेराट्रॉल

असल में रेड वाइन में यह एंटीऑक्सीडेंट अंगूरों की स्किन यानी ऊपरी छिलके से आता है। चूंकि वाइट वाइन में छिलका नहीं होता है, उसमें रेसवेराट्रॉल की मात्रा काफी कम होती है।
रेड वाइन के बजाय काले अंगूर का जूस पीने से भी आपको रेसवेराट्रॉल मिल सकता है।

बस इसकी मात्रा कम होगी क्योंकि यह वाइन की तरह कंसन्ट्रेट नहीं होगा।

ब्लूबेरी में भी रेसवेराट्रॉल पाया जाता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

इसके साथ साथ ब्लूबेरी और क्रेनबेरी में भी रेसवेराट्रॉल पाया जाता है। इसके सप्लीमेंट्स भी बाजार में उपलब्ध हैं। हालांकि शरीर इसे बहुत अधिक अब्सॉर्ब नहीं करता।

कितनी रेड वाइन है पर्याप्त?

हालांकि रेड वाइन आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है, इसे अत्यधिक मात्रा में पीना आपको नुकसान ही करेगा। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार रेड वाइन दिल के लिए फायदेमंद है, लेकिन इसका यह अर्थ नहीं कि इसे अति में पिया जाए। ऐसा करने पर यह भी अन्य शराब की तरह ही शरीर को नुकसान पहुंचाएगी।

रेड वाइन के दिल के लिए फायदों की चर्चा आम है। चित्र: शटरस्‍टॉक

रेड वाइन को हर दिन 148 मिलीलीटर से अधिक ना पियें। 148 ml का अर्थ हुआ 5 औंस।

किसे करनी चाहिए अल्कोहल बिल्कुल अवॉयड?

·अगर आप गर्भवती हो
·अगर आपके परिवार में अल्कोहोलिज्‍़म की हिस्ट्री रही हो
· अगर आपको लिवर या पैंक्रियास की दिक्कत हो
·अगर आप पहले हार्ट अटैक का शिकार रह चुकी हैं

अगर आपको कोई भी संदेह हो तो अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।