और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

एक्सपर्ट से जानिए क्या है पानी पीने का सही तरीका और इससे जुड़ी सभी ज़रूरी बातें

Updated on: 8 September 2021, 18:04pm IST
पानी पीना हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद ज़रूरी है, लेकिन यह सिर्फ तभी फायदेमंद है जब हम इसे सही तरह से पिएं। एक्सपर्ट से जानिए पानी से जुड़ी सभी ज़रूरी बातें।
Dr. S.S. Moudgil
  • 113 Likes
paani peene ke fayde
पानी आपके शरीर के लिए महत्वपूर्ण है, मगर क्या है इसे पीने का सही तरीका । चित्र: शटरस्टॉक

हमें प्रतिदिन कितना पानी पीना चाहिए? यह एक बेहद सरल सा सवाल है पर इसका जवाब कठिन है। वर्षों से अलग-अलग अध्ययनों ने अलग अलग सिफारिशें की हैं। मगर, आपकी पानी की जरूरत कई कारकों पर निर्भर करती है जैसे – स्वास्थ्य, सक्रियता, यहां तक कि आप दुनिया में कहां रहते हैं ? रेगिस्तान पहाड़ या मैदान, वहां का तापमान आदि भी काफी मायने रखता है।

पानी पीने के लिए कोई एक फार्मूला सभी पर फिट नहीं बैठता। मगर, शरीर की तरल पदार्थों की आवश्यकता के बारे में अधिक जानने से हमें यह अनुमान लगाने में मदद मिलेगी कि प्रत्येक दिन कितना पानी पीना है।

अब जानिए पानी के स्वास्थ्य लाभ

पानी शरीर का प्रमुख रासायनिक घटक है और शरीर के वजन का लगभग 50% से 70% हिस्सा इसी से बनाता है। शरीर जीवित रहने के लिए पानी पर निर्भर है। शरीर की हर कोशिका, टिश्यू और अंग को ठीक से काम करने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। चलिए जानते हैं कि पानी किन चीजों में आपकी मदद करता है

पेशाब, पसीना और मल त्याग के माध्यम से कचरे से छुटकारा दिलाता है
तापमान को सामान्य रखता है
जोड़ों को चिकनाई देता है
संवेदनशील ऊतकों की रक्षा करता है

पानी के लिए न्यूनतम आवश्यकता वह राशि है जो पानी की शरीर से निकासी के बराबर होती है और अपर्याप्त पानी के प्रतिकूल प्रभावों को रोकती है, जैसे कि डिहाइड्रेशन।

paani ke fayde
शारीरिक गतिविधि बढ़ने के दौरान शरीर में पानी की कमी हो जाती है। चित्र : शटरस्टॉक

शारीरिक गतिविधि बढ़ने के दौरान शरीर में पानी की कमी हो जाती है। यह गर्मी व सर्दी के मौसम पसीने को अलग-अलग ढंग से प्रभावित करते हैं। अत्यधिक गर्मी या नमी के कारण, साथ ही पसीना आने पर शरीर में इलेक्ट्रोलाइट की कमी हो जाती है।

पानी की आवश्यकता का प्राथमिक निर्धारक मेटाबोलिज़म होता है, लेकिन पानी की आवश्यकता का वास्तविक अनुमान लगाना काफी जटिल है।

तो, हमें कितना पानी पीना चाहिए?

आपने शायद लोगों को कहते हुए सुना होगा कि दिन में 8 गिलास पानी पीना चाहिए। यह एक उचित लक्ष्य हो सकता है। मगर कुछ लोगों के लिए, एक दिन में आठ गिलास से कम पानी भी पर्याप्त हो सकता है, तो अन्य लोगों को इससे ज़्यादा की आवश्यकता हो सकती है। हर दिन हम सांस, पसीने, मूत्र और मल त्याग के माध्यम से पानी खोते हैं। शरीर के ठीक से काम करने के लिए, हम पेय पदार्थों और पानी वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करके पानी की आपूर्ति पूरी कर सकते हैं।

यूएस नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज, इंजीनियरिंग और मेडिसिन ने निर्धारित किया कि पर्याप्त दैनिक तरल पदार्थ का सेवन है:

• पुरुषों के लिए प्रतिदिन लगभग 15.5 कप (3.7 लीटर) तरल पदार्थ
• महिलाओं के लिए प्रतिदिन लगभग 11.5 कप (2.7 लीटर) तरल पदार्थ

इनमें पानी के अलावा, अन्य पेय पदार्थों और भोजन से प्राप्त तरल पदार्थ शामिल हैं। दैनिक तरल पदार्थ का लगभग 20% आमतौर पर भोजन से आता है।

metabolism boost karne ke tareeke
पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं – शरीर को बेहतरीन तरीके से काम करने के लिए हाइड्रेटेड रहना जरूरी है। चित्र : शटरस्टॉक

अब जानते हैं कुछ ऐसी गतिविधियों के बारे में जिन्हें करने के बाद हमें ज़्यादा पानी पीने की आवश्यकता हो सकती है –

1. व्यायाम

यदि हम कोई ऐसी गतिविधि करते हैं जिससे हमें पसीना आता है, तो हमें तरल पदार्थ के नुकसान को कवर करने के लिए अतिरिक्त पानी पीने की आवश्यकता है। वर्कआउट से पहले और बाद में पानी पीना जरूरी है।

2. वातावरण

गर्म या नमी के मौसम हमें पसीना ज़्यादा आ सकता है और अतिरिक्त तरल पदार्थ की आवश्यकता होती है।

3. स्वास्थ्य

बुखार, उल्टी या दस्त होने पर शरीर तरल पदार्थ खो देता है, इसलिए ज़्यादा पानी पिएं। अन्य स्थितियों में तरल पदार्थ के सेवन में वृद्धि की आवश्यकता हो सकती है जिसमें मूत्राशय में संक्रमण और मूत्र पथ के स्टोन शामिल हैं।

4. गर्भावस्था और स्तनपान

गर्भवती हैं या स्तनपान करा रही हैं, तो हमें हाइड्रेटेड रहने के लिए अतिरिक्त तरल पदार्थों की आवश्यकता हो सकती है।

paani ke fayde
गर्भावस्था के दौरान भी ज़रूरी है पर्याप्त पानी पीना। चित्र-शटरस्टॉक।

मुझे कैसे पता चलेगा कि मैं पर्याप्त पानी पी रही हूँ?

यदि हमें बहुत कम प्यास लगती है तो इसका मतलब है कि हम पर्याप्त पानी नहीं पी रहे हैं। साथ ही, अगर मूत्र रंगहीन या हल्का पीला है तब भी हम डिहाइड्रेटेड हो सकते हैं।

बहुत अधिक पानी पीने से क्या होता है?

हालांकि पानी शायद ही कभी नुकसान पहुंचाता है, लेकिन जब हम बहुत अधिक पानी पीते हैं, तो किडनी अतिरिक्त पानी को बाहर नहीं निकाल पाती है। रक्त में सोडियम की मात्रा बढ़ जाती है और रक्त पतला होने लगता है। इसे हाइपोनेट्रेमिया कहा जाता है और यह जानलेवा हो सकता है।

अब जानिए क्या है पानी पीने का सही तरीका

भोजन के बीच पानी पी सकते हैं, लेकिन बहुत ज्यादा नहीं।
एसोफेजियल रिगर्जिटेशन या हायटस हर्निया वाले लोगों को पर्याप्त मात्रा में पानी लेना चाहिए लेकिन थोड़ा – थोड़ा करके।
सुबह- सुबह जितनी प्यास हो उतना ही पानी पिएं।
हमेशा सदा पानी पीना चाहिए, न ज़्यादा गरम न ज़्यादा ठंडा।
गर्मी से आते ही और पानी पीना हो तो धीरे- धीरे घूंट-घूंट करके पानी पिएं।

यह भी पढ़ें : शराब में कॉफी मिलाकर पीना आपकी सेहत पर पड़ सकता है भारी! जानिए इसके दुष्प्रभाव

Dr. S.S. Moudgil Dr. S.S. Moudgil

Dr. S.S. Moudgil is senior physician M.B;B.S. FCGP. DTD. Former president Indian Medical Association Haryana State.