स्टीमर और नेबुलाइजर हैं सर्दियों के मौसम की जरूरत, जानिए क्या है इसके फायदे

Updated on: 10 January 2022, 16:07 pm IST

क्या आप सर्दी या खांसी से छुटकारा पाने के लिए संघर्ष कर रहें हैं? तो स्टीमर या नेबुलाइजर आपको राहत दे सकता है।

Steamer ya nebuliser flu aur omicron se bachne ka upaay hai
स्टीमर और नेबुलाइजर फ्लू और ओमिक्रोन से बचने का उपाय है। चित्र:शटरस्टॉक

हर बदलते मौसम के साथ आपका इम्यून सिस्टम (Immunity boosting) कीटाणुओं और संक्रमण से लड़ता है। लेकिन हमेशा वो आपकी मदद नहीं कर पाता है। आप अक्सर इन वायरल संक्रमणों (viral infection) के शिकार बन जाते हैं और आपको सर्दी जुकाम के लक्षण का सामना करना पड़ता है। यह सुनने में जितना आम है, इससे पीड़ित होना इतना ही काष्टदायी। मामूली सर्दी और खांसी (cold and cough) भी आपको परेशान कर सकती है।

बंद नाक, गले में दर्द, लगातार छींक, सिरदर्द, मुंह का कड़वा स्वाद, आंखों में जलन और न जाने क्या क्या परेशानियां। आपका रेस्पिरेटरी सिस्टम बुरी तरह प्रभावित होता है। ऐसे में स्टीम लेना सबसे आसान और प्रभावी उपाय है। तो अगर आप लगातार जुकाम और सर्दी से परेशान रहते हैं, तो स्टीमर या नेबुलाइजर को घर पर रखना एक अच्छा विचार है।

जानिए कैसे नेब्युलाइज़र या स्टीमर फ्लू के लक्षणों को कम करते हैं (Effect of steamer and nebuliser on flu) 

नेब्युलाइज़र या स्टीमर फ्लू के साथ एक लड़ाई के दौरान राहत प्रदान कर सकते हैं। वे खराब सर्दी, संक्रमण, ब्रोंकाइटिस और सीओपीडी जैसी पुरानी स्थितियों में भी सहायता करते हैं। फ्लू के लक्षणों को अक्सर खराब सर्दी समझ लिया जाता है।

bhaap lena aapke shwasan tantra ke liye faydemand hai
भाप लेना आपके श्वसन तंत्र के लिए फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक

आपको जानना जरूरी है कि फ्लू के लक्षण बहुत तेजी से आते हैं। जबकि ठंड के लक्षण धीरे-धीरे कुछ दिनों में विकसित हो सकते हैं। खांसी, गले में खराश और छींक आना दोनों ही बीमारियों के सामान्य लक्षण हैं। लेकिन फ्लू के साथ मांसपेशियों में दर्द, ठंड लगना, तेज बुखार और कभी-कभी उल्टी और दस्त भी हो सकते हैं।

तो, एक नेब्युलाइज़र या स्टीमर कैसे मदद करता है?

जैसे-जैसे मौसम बदलता है, एलर्जी और परागकणों के हवा में निकलने के कारण अस्थमा की दर बढ़ जाती है। सर्दी और फ्लू फेफड़ों को संक्रमित कर सकते हैं, जिससे अस्थमा के लक्षण और अस्थमा के दौरे बढ़ सकते हैं।

साथ ही, अस्थमा से पीड़ित बच्चों और वयस्कों में फ्लू होने के बाद निमोनिया और अन्य तीव्र श्वसन रोगों के विकसित होने की संभावना अधिक होती है। फ्लू के साथ अस्पताल में भर्ती बच्चों में अस्थमा वास्तव में सबसे आम स्थिति है।

अस्थमा और फ्लू के इलाज में सहायता के लिए एक नेबुलाइज़र के उपयोग से, सूजन को कम किया जा सकता है और सांस लेने में आसान बनाने के लिए वायुमार्ग को खोला जा सकता है।

यह मशीन अनिवार्य रूप से एक एयर कंप्रेसर है जो एक माउथपीस के माध्यम से दबाव वाली हवा का एक सतत प्रवाह प्रदान करता है। नेब्युलाइज़र तरल दवा को धुंध में बदल देते हैं जिसे फेफड़ों को त्वरित राहत प्रदान करने के लिए वायु प्रवाह की मदद से जल्दी से अंदर लिया जा सकता है। नेब्युलाइज़र और स्टीमर दवा के आधार पर, वायुमार्ग को खोलने, सूजन को कम करने, और बंद नाक से राहत देने में मदद कर सकते हैं ताकि मरीज़ों को आसानी से सांस लेने में मदद मिल सके।

Agar flu ke lakshan hai, toh steam jaroor le
अगर फ्लू के लक्षणों हैं, तो स्टीम जरूर लें। चित्र: शटरस्‍टॉक

नेब्युलाइज़र का उपयोग कैसे करें?

  • अपने हाथों को साबुन और गर्म पानी से धोएं।
  • नली को कंप्रेसर से कनेक्ट करें।
  • अपने नुस्खे के अनुसार दवा का प्याला भरें।
  • अपने माउथपीस या मास्क और होज़ को मेडिसिन कप से जोड़ दें।
  • अपना मास्‍क लगाएं या अपने माउथपीस को अपने होठों के चारों ओर मजबूती से अपने मुंह में रखें।
  • अपने नेब्युलाइज़र को चालू करें और अपने मुंह से तब तक सांस लें जब तक कि सारी दवा खत्म न हो जाए।
  • अपने नेब्युलाइज़र को बंद कर दें और दवा और माउथपीस को धो लें। अपने अगले सत्र तक उन्हें हवा में सूखने दें।

जानिए स्टीम लेने का DIY

भाप लेने के लिए आपको हमेशा बाजार का वेपराइजर या नेब्युलाइज़र की आवश्यकता नहीं है। आप घर पर भी इसका उपाय कर सकते हैं।

  • पानी को उबालने के लिए गर्म करें।
  • गरम पानी को प्याले में सावधानी से डालें।
  • तौलिये को सिर के पिछले हिस्से पर लपेटें।
  • एक टाइमर चालू करें।
  • अपनी आंखें बंद करें और धीरे-धीरे अपने सिर को गर्म पानी की ओर तब तक नीचे करें जब तक कि आप पानी से लगभग 8 से 12 इंच दूर न हो जाएं।
  • पानी के सीधे संपर्क में आने से बचने के लिए बेहद सावधान रहें।
  • कम से कम दो से पांच मिनट के लिए अपनी नाक से धीरे-धीरे और गहराई से श्वास लें।
  • प्रत्येक सत्र के लिए 10 से 15 मिनट से अधिक समय तक भाप न लें।
  • हालांकि, यदि आप अभी भी लक्षण महसूस कर रहे हैं, तो आप प्रति दिन दो या तीन बार भाप सांस लेना दोहरा सकते हैं।
Lambe samay se fever hai, toh doctor se consult kare
अगर लंबे समय से तेज बुखार है, तो डॉक्टर से संपर्क करें। चित्र : शटरस्‍टॉक

क्या नेब्युलाइज़र या स्टीमर आपको ओमिक्रोन से बचा सकता है? 

ओमिक्रोन के संक्रमण से बचने के लिए कई सावधानियां बरती जा सकती हैं। नेब्युलाइज़र या स्टीमर से भाप लेना निस्संदेह उनमें से एक है। यही कारण है कि बड़ी संख्या में डॉक्टर सर्दी या जुखाम के लिए स्टीम मशीन का उपयोग करने का सुझाव दे रहे हैं। खांसी या सांस की समस्या होने पर सबसे पहले स्टीम इनहेलेशन मशीनों के व्यापक उपयोग को देखा जा सकता है। नेब्युलाइज़र या स्टीमर के प्रभावी असर को देखते हुए स्टीम वेपोराइज़र की मांग और लोकप्रियता दिन-ब-दिन बढ़ रही है।

नेब्युलाइज़र या स्टीमर निश्चित रूप से आपको ओमिक्रोन से दूर रख सकते हैं क्योंकि यह उन प्रभावी तरकीबों में से एक है जो बेहतर श्वसन स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं। आपकी कमजोर श्वसन प्रणाली कोविड -19 के प्रति अधिक संवेदनशील है और यही कारण है कि आपको सांस लेने की सबसे छोटी समस्याओं को भी समाप्त करने के लिए भाप लेने पर ध्यान देना चाहिए। कई संभावित शारीरिक खतरों से बचने के लिए आज ही अपनी स्टीम इनहेलेशन मशीन प्राप्त करें।

ये लक्षण हो सकते हैं डॉक्टर के पास जाने के संकेत

अगर आप इन लक्षणों का अनुभव कर रहें हैं तो बिना देर किए अपने डॉक्टर से संपर्क करें:

  • सांस लेने में तकलीफ़
  • छाती में दर्द
  • गर्दन में अकड़न दर्द
  • एक तेज बुखार
  • अनियंत्रित उल्टी
  • भ्रम की स्थिति
  • कमजोरी जो बेहोशी की ओर ले जाती है
  • बुखार
  • चकत्ते

यह भी पढ़ें: Omicron Diet : कोविड – 19 से बचने और जल्दी रिकवर होने के लिए इन फूड्स को बनाएं अपनी डाइट का हिस्सा

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें