सन बर्न से भद्दी लगने लगी है पीठ, तो जानिए इसे ठीक करने के कुछ घरेलू नुस्खे

गर्दन पर दिखते दो अलग-अलग शेड्स किसी को भी देखने में भद्दे लग सकते हैं। गर्मियों में ज्यादातर लोगों को इस समस्या का सामना करना पड़ता है। अगर आप भी डीप नेक पहनने की शौकीन हैं, तो उससे पहले आजमाएं ये घरेलू नुस्खे।
sun tan
सनबर्न की समस्या से राहत पानी है तो आजमाएं कॉफी। चित्र शटरस्टॉक
  • 112

नेक टैन यानि गर्दन के रंग का धूप और बर्न के कारण गहरा होता जाना। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। पर यह सबसे ज्यादा खराब तब लगता है कि जब आप किसी पार्टी में डीप नेक ड्रेस पहनना चाहती हैं। इसलिए यह जरूरी है कि आप अपने डेली स्किन केयर रुटीन में ही इसका ध्यान रखें। इस समस्या पर जितना अधिक आप ध्यान देंगे, उतना जल्दी नेक टैन को समाप्त करने में आप सफल हो सकती हैं। यहां हम डार्क नेक के कारण और उससे छुटकारा पाने के घरेलू उपाय आपको बता रहे हैं।
गर्दन और पीठ के रंग का गहरा हो जाना गर्मियों की सबसे आम समस्याओं में से एक है। हालांकि, यह कोई खतरनाक समस्या तो नहीं है, लेकिन इस समस्या के बारे में अधिक सोच लिया अगर तो तनाव भी हो सकता है। यह कोई परमानेंट समस्या तो नहीं है। इसका अगर पूरा ध्यान दिया गया तो लगातार ट्रीटमेंट कर इसे सही किया जा सकता है। भरपूर आत्मविश्वास के साथ इस खबर को पूरा पढ़िए और एक्सपर्ट द्वारा दी जा रहीं टिप्स को फॉलो कीजिए, जिससे आपकी गर्दन से टैनिंग हट सके।

यह भी पढ़ें Mouthwash : ओरल हाइजीन के लिए माउथवॉश करती हैं, ताे जानिए इसके बारे में कुछ जरूरी तथ्य

नेक टैनिंग के बारे में क्या कहती हैं एक्सपर्ट

कानपुर की ब्यूटी एक्सपर्ट रागिनी महेश्वरी कहती हैं नेक टैन होने के कई लक्षण होते हैं। जिसमें मोटी स्किन, खुजली और रफ स्किन भी शामिल है। वे कहती हैं डार्क नेक होने का कारण गंदगी या मैल निर्माण का होना ही नहीं है। बल्कि सन बर्न और धूल, धुआं और कुछ कॉस्मैटिक्स में मौजूद कैमिकल्स भी हो सकते हैं। हालांकि बाजार में इसके लिए कई तरह के ब्यूटी ट्रीटमेंट मौजूद हैं। पर बेहतर है कि आप घरेलू नुस्खों को आजमाएं। पर उससे पहले इसके कारण जान लेते हैं।

डार्क पीठ को साफ करने के लिए इन टिप्स का करें पालन। चित्र शटरस्टॉक

यहां हैं नेक टैनिंग के कारण

1 धूप में निकलने के कारण

सूरज की किरणों का प्रभाव स्किन पर देखने को अधिक मिलता है। रागिनी कहती हैं सूरज की किरणों से अत्यधिक संपर्क में आने से आपकी गर्दन के पिछले हिस्से में टैनिंग हो जाती है। जिससे नेक के बैक साइड की स्किन डार्क हो सकती है। ऐसे में बॉडी के अन्य जगहों कि स्किन की तुलना में सूरज की किरणों के कारण स्किन डार्क नजर आती है।

2 कैमिकल के प्रयोग से

आज के दौर में कई तरीके के ब्यूटी प्रोडक्ट बाजार में मौजूद है। इन सभी प्रोडक्ट में कैमिकल्स का भरपूर प्रयोग किया जाता है। कम कैमिकल्स वाले प्रोडक्ट को खरीदने से स्किन में टैनिंग नहीं होती है। अधिक कैमिकल वाले प्रोडक्ट से स्किन डार्क होने का चांस अधिक रहता है। बचाव के लिए ब्यूटी प्रोडक्ट यूज करने से पहले त्वचा रोग विशेषज्ञ से परामर्श जरूर लें।

यहां हैं नेक टैनिंग से छुटकारा पाने के जांचे-परखे उपाय

1 ओट्स कम करेगा टैन

जिसकी गर्दन डार्क हो गई है वह घर में खाद्य पदार्थ के तौर पर प्रयोग किए जाने वाले ओट्स का इस्तेमाल कर सकता है। ओट्स से टैन को कम किया जा सकता है। प्रयोग करने के लिए ओट्स को दरदरा पीस लें और शहद के साथ गर्दन में लगाएं।
इसके अलावा ओट्स में टोमैटो प्यूरी को मिलाएं, और जब तक पेस्ट की कंसिस्टेंसी में न आ जाए तब तक मिलाते रहें। पेस्ट बनने के बाद इसे डार्क एरिया में लगाएं और कुछ देर के लिए छोड़ दें। पांच दस मिनट बाद इसके ठंडे पानी से साफ कर लें।

2 आलू है टैनिंग का दुश्मन

एक्सपर्ट के अनुसार आलू में नेचुरल तरीके से स्किन को ग्लोइंग बनाने अधिक क्षमता होती है। आलू स्किन में फेस पैक का अच्छा काम कर सकता है। इसमें स्किन में टैन को हटाने के प्रचुर गुण मौजूद रहते हैं। इसके प्रयोग से सनबर्न को भी सही किया जा सकता है। प्रयोग करने के लिए आलू का रस निकालना होगा। अब इसमें नींबू का रस मिलाकर गर्दन में डार्क एरिया में लगाएं और 10 से 15 मिनट के लिए छोड़ दें। अब ठंडे से पानी इसे साफ करें फर्क नजर आने लगेगा।

tan removal treatment at home
घर पर टैन रिमूवल करने का तरीका। चित्र : शटरस्टॉक

3 एलोवेरा करें इस्तेमाल

रागिनी बता रहीं हैं कि स्किन संबंधी कोई भी समस्या के लिए एलोवेरा का प्रयोग किया जाता है। स्किन में इसके प्रयोग से कई लाभ होते हैं। प्रयोग के लिए एलोवेरा की पत्ती लें, उसे काट लें। उससे निकला जेल गर्दन में लगाएं, प्रतिदिन इसका इस्तेमाल नेक टैन को रिमूव करने के लिए दस से पंद्रह मिनट तक किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें Overcooked Food Side Effects : भोजन  को ज्यादा पकाना भी है सेहत के लिए खतरनाक, जानिए इसके स्वास्थ्य जोखिम

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
  • 112
लेखक के बारे में

कानपुर के नारायणा कॉलेज से मास कम्युनिकेशन करने के बाद से सुमित कुमार द्विवेदी हेल्थ, वेलनेस और पोषण संबंधी विषयों पर काम कर रहे हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख