डेंटल फ्लॉस या इलेक्ट्रिक टूथब्रश नहीं, बल्कि विटामिन डी है आपकी ओरल हेल्थ का रक्षक

Published on: 31 January 2022, 19:30 pm IST

मुंह की स्वच्छता आपके शरीर की स्वच्छता जितनी ही जरूरी है। इसके लिए किसी महंगे डेंटल ट्रीटमेंट की नहीं, बल्कि विटामिन डी के सही खुराक की आवश्यकता है।

Vitamin D oral health ke liye jaroori hai
विटामिन डी ओरल हेल्थ के लिए आवश्यक है। चित्र:शटरस्टॉक

जब ओरल हाइजीन की बात आती है तो आप ड्रिल जानते हैं। दिन में दो बार ब्रश करना, फ्लॉस करना और नियमित रूप से अपने डेंटिस्ट के पास जाना। लेकिन क्या होगा अगर हमने आपसे कहा कि पर्याप्त विटामिन डी प्राप्त करना आपके मौखिक स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है? जी हां, विटामिन डी एक ऐसा पोषक तत्व है जो आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। यह हड्डियों को मजबूत करने और मानसिक विकास के साथ आपके दांतों के लिए भी आवश्यक है।

तो जानिए कैसे ब्रश, माउथवॉश, डेंटल फ्लॉस, सही टूथपेस्ट और माउथ फ्रेशनर के बीच विटामिन डी आपके ओरल हाइजीन का महत्वपूर्ण स्तंभ है।

विटामिन डी आपके दांतों के लिए क्या करता है?

यह पता चला है कि विटामिन डी आपकी मुस्कान की रक्षा करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह विभिन्न प्रकार के मौखिक कार्यों के लिए आवश्यक है। इसमें आपके दांतों को मजबूत रखना, मसूड़े और हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाए रखना और आपके मुंह की इम्यून रिस्पॉन्स का समर्थन करना शामिल है।

Yah aapke oral health ke liye faydemand hai
यह आपके ओरल हेल्थ के लिए फायदेमंद है। चित्र:शटरस्टॉक

विटामिन डी को ऑर्थोडोंटिक काम के दौरान दांतों के मूवमेंट में तेजी लाने के लिए भी किया गया है। चाहे आप अभी भी ब्रेसिज़ में हों या उससे आगे, सबूत बताते हैं कि विटामिन डी के पर्याप्त स्तर को बनाए रखना बेहतर मौखिक विकास और हर उम्र में दांतों के स्वास्थ्य से जुड़ा है।

1. मजबूत दांतों को बढ़ावा देता है

हड्डियों और कार्टिलेज के समान, दांत खनिजयुक्त अंग होते हैं और खनिजों, विशेष रूप से, कैल्शियम और फॉस्फेट का उपयोग दांत के लिए आवश्यक है। टूथ मिनेरलाइजेशन नामक प्रक्रिया का इस्तेमाल दांतों को मजबूत करने के लिए किया जाता है। मजबूत और स्वस्थ हड्डियों का समर्थन करने में अपनी भूमिका के समान, विटामिन डी दांतों के लिए भी आवश्यक है।

आवश्यक फैट में मिल जाने वाला यह सूक्ष्म पोषक तत्व शरीर में कैल्शियम और फॉस्फेट को अवशोषित करने में मदद करता है। यह मजबूत दांतों के निर्माण और रखरखाव के लिए महत्वपूर्ण हैं, और डेंटिन एवं एनामेल बनाने के लिए आवश्यक है।

2. पीरियडोंटल स्वास्थ्य को बनाए रखता है

विटामिन डी मसूड़ों और हड्डियों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है जो आपके दांतों को सहारा देते हैं और घेरते हैं। इन्हे पीरियोडोंटियम कहते हैं। दांतों की संरचना का समर्थन करने के अलावा, पीरियोडोंटियम दांतों को अवांछित मौखिक बैक्टीरिया से बचाता है और दांतों की जड़ों को हड्डी और मसूड़ों से जोड़ता है।

जब पीरियडोंटल स्वास्थ्य की बात आती है, तो विटामिन डी एंटी इन्फ्लेमेटरी कार्यों में सहायता करता है, और पीरियडोंटियम की अखंडता को बनाए रखने में भी मदद करता है।

Teeth problems se bachne ke liye vitamin D ka sewan kare
दांतों की परेशानियों से राहत पाने के लिए विटामिन डी का सेवन करें। चित्र: शटरस्टॉक

3. मुंह के इम्यून रिस्पॉन्स को बढ़ावा देता है

त्वचा के बाद, आपका ओरल कैविटी यानी मुंह वास्तव में इनफेक्ट होने का दूसरा रास्ता है जहां से संक्रमण का खतरा बढ़ता है। प्रतिरक्षा स्वास्थ्य के लिए पूरे शरीर में विटामिन डी की वैश्विक भूमिका है। इसमें ओरल इम्युनिटी कोई अपवाद नहीं है।

विटामिन डी में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो ओरल इम्यून सिस्टम का समर्थन करने में मदद करते हैं। इसके अतिरिक्त, इस आवश्यक विटामिन में रोगाणुरोधी पेप्टाइड उत्पादन को प्रोत्साहित करने की क्षमता होती है। यह आपकी इम्युनिटी रिस्पॉन्स के लिए आवश्यक है। कुल मिलाकर, आपकी इम्युनिटी टीम में विटामिन डी खराब खिलाड़ी नहीं है।

तो क्या वाकई ओरल हेल्थ के लिए आवश्यक है विटामिन डी?

यह स्पष्ट है कि विटामिन डी आपके दांतों और मसूड़ों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कुछ शोधों के अलावा कि कैसे विटामिन डी आपके गोरे मोती समान दांतो को स्वस्थ रखने में मदद करता है, कई नैदानिक ​​परीक्षणों ने मौखिक स्वथ्य के लिए विटामिन डी सप्लीमेंट के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए सुझाव दिया है।

Safed daant ke liye vitamin D
अगर आप सफेद दांत चाहते तो विटामिन डी को नजरअंदाज न करें। चित्र: शटरस्टॉक

यह पता चला है कि विटामिन डी इन मुख्य ओरल हाइजीन के लिए कारगर है:

  1. टूथ मिनेरलाइजेशन
  2. स्वस्थ एनामेल के लिए
  3. ओरल इम्यून रिस्पॉन्स
  4. पीरियोडोंटल स्वास्थ्य
  5. स्वस्थ मसूड़ों को बढ़ावा देता है

तो लेडीज, केवल दो टाइम ब्रश करना ही हेल्दी ओरल हाइजीन की निशानी नहीं है। अपने डाइट में विटामिन डी को भी बराबर महत्व देना जरूरी है।

यह भी पढ़ें: 35 की उम्र के बाद भी मुमकिन है गर्भवती होना, यहां जानिए प्रजनन क्षमता बढ़ाने के तरीके

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें