जानिए कुछ संकेत जो बताते हैं कि आपकी आर्टरीज में हो सकती है ब्लॉकेज

आजकल हृदय संबंधी समस्याएं बढ़ती जा रही हैं ऐसे में अगर यह पहले ही पता चल जाए कि आर्टरीज में कोई ब्लॉकेज है या नहीं? तो किसी भी तरह के जोखिम को पहले ही कम किया जा सकता है।

zyada cheese ka sewan heart health ke liye risk badha sakta hai
ज्यादा चीज़ का सेवन आर्टरी ब्लॉकेज का कारण्क बन सकता है। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Updated on: 14 September 2022, 19:59 pm IST
  • 147

कुछ साल पहले तक यह समझा जाता था कि हृदय संबंधी समस्याएं सिर्फ 60 की उम्र के लोगों को ही होती हैं। मगर अब इसका दायरा बढ़ रहा है और युवा भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। बीते दिनों हमें कई ऐसी दुखद खबरें सुनने को मिली हैं जहां कई यंग सेलेब्रिटीज ने हार्ट अटैक की वजह से अपनी जान गवाई हैं। हृदयाघात का एक बड़ा कारण आर्टरीज में ब्लॉकेज होना है। जबकि ज्यादातर मामलों में लोगों को पता ही नहीं चल पाता कि उनकी आर्टरीज ब्लॉक हो रहीं हैं। अगर इसका समय रहते पता लगा लिया जाए, तो बहुत हद तक हार्ट अटैक या कार्डियक अरेस्ट की समस्या से बचा जा सकता है। यहां हम उन्हीं संकेतों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आर्टरीज में ब्लॉकेज (Signs of artery blockage) की ओर इशारा करते हैं।

हर किसी के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे अपनी हार्ट हेल्थ को दुरुस्त रखने के लिए नियमित जांच कराएं ताकि पता चल सके कि कहीं आपकी आर्टरीज में कोई ब्लॉकेज तो नहीं है? साथ ही कुछ संकेतों को भी समझना ज़रूरी है जो यह दर्शाते हैं कि आर्टरीज में ब्लॉकेज है।

क्या है आर्टरीज़ का ब्लॉक होना?

ब्लॉक्ड आर्टरी या कोरोनरी आर्टरी की बीमारी तब होती है, जब हृदय को रक्त, आवश्यक पोषक तत्व और ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए जिम्मेदार प्रमुख रक्त वाहिकाएं ब्लॉक या डैमेज हो जाती हैं। आर्टरी में जमा कोलेस्ट्रॉल और अन्य वसायुक्त पदार्थ में सूजन पैदा कर सकते हैं। जिससे कोरोनरी धमनी रोग (Coronary Artery Disease) हो सकता हैं।

क्या हो सकते हैं आर्टरी ब्लॉकेज के कुछ लक्षण ये भी हो सकते हैं

  1. थकान
  2. चक्कर आना
  3. सांस लेने में कठिनाई
  4. छाती में दर्द
  5. निचली कमर का दर्द
  6. ठंडे हाथ या पैर
  7. आपके पैरों, हाथों या पैरों में दर्द या सुन्नता
  8. प्रभावित क्षेत्र में त्वचा का पिगमेंटेशन होना
  9. बाल झड़ना
  10. किसी भी घाव का ठीक न होना
saans lene me dikkat
सांस फ़ूलने की दिक्कत को न करें इग्नोर । चित्र : शटरस्टॉक

ये हैं आर्टरीज में ब्लॉकेज के वार्निंग साइन

  1. छाती में दर्द
  2. हाथ या पीठ में अचानक दर्द होना
  3. सांस लेने में कठिनाई
  4. तेज़ दिल की धड़कन
  5. पसीना आना
  6. जी मिचलाना
  7. चेहरे में बदलाव आना
  8. अचानक भ्रम या मानसिक परिवर्तन
  9. बोलने या निगलने में कठिनाई
  10. कमजोरी, खासकर शरीर के एक तरफ
  11. बेहोशी

क्लीवलैंड क्लीनिक के अनुसार क्यों होती है ब्लॉक्ड आर्टरी की समस्या?

आर्टरी की बीमारी कोरोनरी धमनी की आंतरिक परतों को चोट लागने या डैमेज होने से शुरू होती है। आर्टरी डैमेज के कारणों में शामिल हैं:

इंसुलिन रेसिस्टेन्स
धूम्रपान
उच्च कोलेस्ट्रॉल
उच्च रक्तचाप
अनहेल्दी लाइफस्टाइल

diabetes
इंसुलिन के स्तर को नियंत्रित करें। चित्र शटरस्टॉक

एक बार जब कोरोनरी धमनियों की आंतरिक दीवारें डैमेज या ब्लॉक हो जाती हैं, तो कोलेस्ट्रॉल और अन्य अनहेल्दी वसायुक्त पदार्थों से बने वसायुक्त ब्लॉक “एथेरोस्क्लेरोसिस” के रूप में संदर्भित होने लगते हैं।

किन्हें ज्यादा होता है आर्टरी ब्लॉक होने का जोखिम

कोई भी जो एक गतिहीन जीवन शैली जी रहा है, उसे आसानी से ब्लॉक आर्टरी के विकसित होने का खतरा हो सकता है। ब्लॉक आर्टरी के लक्षण बचपन में ही विकसित हो सकते हैं। इसके कुछ कारकों में शामिल है – मोटापा, उच्च कोलेस्ट्रॉल स्तर, उच्च रक्तचाप और मधुमेह।

मेयो क्लीनिक द्वारा सुझाए कुछ टिप्स हैं, जो आर्टरी ब्लॉकेज के जोखिम से कैसे बचा सकते हैं?

धूम्रपान छोड़ें
नियमित रूप से व्यायाम करें
हेल्दी खाना खाएं
ट्रांस और संतृप्त वसा सहित उच्च कोलेस्ट्रॉल वाले फूड्स को अवॉइड करें
मधुमेह या हृदय रोग जैसी स्वास्थ्य स्थितियों को मैनेज करें

तो आप भी इन लक्षणों को पहचानें और नियमित जांच कराएं!

यह भी पढ़ें : बेल की पत्तियों के ये 4 DIY हैक्स बालों को जड़ाें से मजबूत बनाकर उनकी ग्रोथ बढ़ाएंगे 

  • 147
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory