Yeast Infection : आपकी त्वचा को भी कर सकता है प्रभावित, जानिए इसके लक्षण और बचाव का तरीका

खुजली और बम्प्स के साथ नजर आता है यीस्ट इंफेक्शन, इससे संबंधी जरूरी जानकारी सभी को होनी चाहिए ताकि स्थिति को गंभीर होने से पहले ही कंट्रोल कर लिया जाए।
सभी चित्र देखे skin-infections
जानें स्किन यीस्ट इन्फेक्शन के बारे में सब कुछ. चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 13 Feb 2024, 07:26 pm IST
  • 124

वेजाइनल यीस्ट इंफेक्शन के बारे में तो आप सभी जानती होंगी, पर क्या आपको स्किन यीस्ट इंफेक्शन के बारे में मालूम है! यदि नहीं तो आपको बताएं की ये आपकी त्वचा को भी प्रभावित कर सकते हैं। कई बार आपकी त्वचा पर यीस्ट इंफेक्शन हो जाता है, और आपको इसकी जानकारी तक नहीं होती, ऐसे में इससे संबंधी जरूरी जानकारी सभी को होनी चाहिए ताकि स्थिति को गंभीर होने से पहले ही कंट्रोल कर लिया जाए। तो आइए आज हेल्थशॉट्स के साथ जानते हैं, स्किन यीस्ट इन्फेक्शन क्या है, और इसके क्या कारण हैं साथ ही जानेंगे इसे किस तरह ट्रीट करना है (Yeast infection effect on skin)।

पहले जानें यीस्ट इन्फेक्शन क्या है

स्किन यीस्ट इन्फेक्शन, या क्यूटेनियस कैंडिडिआसिस, एक फंगल इंफेक्शन है जो कैंडिडा यीस्ट के ओवरग्रोथ के कारण होता है। कैंडिडा और अन्य फंगस और बैक्टीरिया त्वचा पर रहते हैं, और आमतौर पर आपके शरीर को हानिकारक पाथोजेंस से बचाने में मदद करते हैं। जबकि कैंडिडा आमतौर पर हानिकारक नहीं होता है, कुछ कारणों से कैंडिडा का ग्रोथ बढ़ जाता है, जिससे यीस्ट इंफेक्शन हो सकता है और त्वचा पर दाने आ जाते हैं वहीं दानों के किनारों पर लालिमा, खुजली और मवाद से भरे उभार जैसे लक्षण हो सकते हैं।

tez dhoop ke karan itching ki samasya hotee hai
गर्मी का मौसम शरीर में भी गर्मी बढ़ा देता है। यह त्वचा की समस्याओं का भी कारण बनता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

यहां जानें स्किन यीस्ट इन्फेक्शन के लक्षण

त्वचा पर यीस्ट इन्फेक्शन आमतौर पर त्वचा के गर्म, नम क्षेत्रों को प्रभावित करता है, जैसे त्वचा की तह, कमर का क्षेत्र, उंगलियों और पैर की उंगलियों के बीच, अंडरआर्म्स और स्तनों का निचला हिस्सा। बच्चों में, यह हिप पर या जेनेटल्स के पास (डायपर रैश) दिखाई दे सकता है। आपकी त्वचा पर कैंडिडा संक्रमण के कारण रेडनेस और तेज खुजली वाले दाने हो सकते हैं। इस स्थिति में यहां बताए गया कुछ लक्षण नजर आ सकते हैं:

लाल उभरे हुए दाने जो पैच में दिखाई दे सकते हैं।
दाने के किनारों पर छोटे, मवाद से भरे उभार या छाले आ जाना।
तेज खुजली महसूस होना।
त्वचा पर तेज जलन होना।

अब जानें आखिर क्यों होता है स्किन यीस्ट इन्फेक्शन:

त्वचा पर यीस्ट इन्फेक्शन कैंडिडा के ओवरग्राउथ के कारण होता है, यह एक प्रकार का यीस्ट है जो स्वाभाविक रूप से बिना किसी नुकसान के थोड़ी मात्रा में त्वचा पर रहता है। कुछ कारक ऐसा वातावरण बना सकते हैं, जिसकी वजह से कैंडिडा अनियंत्रित रूप से बढ़ सकता है, जिससे त्वचा पर यीस्ट संक्रमण हो जाता है। इसके सामान्य कारणों में शामिल हैं:

1. नमी और गर्मी: कैंडिडा गर्म, नम वातावरण में पनपता है। अत्यधिक पसीना आने, टाइट और सिंथेटिक कपड़े पहनने या ह्यूमिद एनवायरनमेंट में रहने से यीस्ट अधिक बढ़ सकता है।

2. कमजोर इम्यूनिटी: एक कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली शरीर के लिए कैंडिडा के ग्रोथ को नियंत्रित करना कठिन बना सकती है, जिससे यह अधिक तेजी से बढ़ सकता है। डायबिटीज या एचआईवी/एड्स जैसी स्थिति होने या इम्यूनसपोर्टिव मेडिसिंस लेने के कारण आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो सकती है।

kamzor immunity bhi iske liye zimmedar ho sakti hai
एक बेहतर इम्युनिटी सिस्टम ही बीमारियों से लड़ने में मदद कर सकता है। चित्र: शटरस्टॉक

3. एंटीबायोटिक्स: एंटीबायोटिक्स ऐसी दवाएं हैं, जिनका उपयोग हानिकारक बैक्टीरिया को मारने के लिए किया जाता है। हालांकि, वे “अच्छे” बैक्टीरिया को भी मार सकते हैं, कैंडिडा सहित आपकी त्वचा पर माइक्रोऑर्गेनाइज्म के प्राकृतिक संतुलन को बाधित कर सकते हैं, और यीस्ट की ओवर ग्रोथ का कारण बन सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Neckline wrinkles : मोबाइल और गैजेट्स बढ़ा रहे हैं आपकी गर्दन में झुर्रियां, जानिए इनसे कैसे बचना है

4. हार्मोनल चेंजेस: प्रेगनेंसी के दौरान या हार्मोनल मेडिसिंस लेते समय हार्मोन के स्तर में उतार-चढ़ाव आना आपकी त्वचा के वातावरण को बदल सकते हैं और कैंडिडा के ग्रोथ में योगदान कर सकते हैं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

जानें किन्हें होता है स्किन यीस्ट इंफेक्शन का अधिक खतरा

स्किन यीस्ट इन्फेक्शन बिल्कुल कॉमन है और यह किसी को भी प्रभावित कर सकता है, लेकिन कुछ कारक आपके जोखिम को बढ़ा सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

डायबिटीज, सोरायसिस जैसी स्वास्थ्य स्थितियां
हॉट, ह्यूमीड क्लाइमेट में रहने वाले लोग
कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स का लंबे समय तक उपयोग
कीमोथेरपी
ओबेसिटी
लंबे समय तक गीले रहना
हाइजीन मेंटेन न करना
टाइट और गीले कपड़े पहनना
प्रेगनेंसी
लंबे समय तक एक ही अंडरगार्मेंट और डायपर को पहने रहना

how to treat yeast infection on skin
आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो सकती है। चित्र : एडॉबीस्टॉक

अब जानें इससे बचाव का तरीका

त्वचा पर यीस्ट संक्रमण को रोकने का सबसे अच्छा तरीका अपनी त्वचा को पूरी तरह से साफ और सूखा रखना है। स्किन कैंडिडिआसिस के जोखिम को कम करने के अन्य तरीकों में शामिल हैं:

1. ढीले-ढाले, कॉटन के सांस लेने वाले कपड़े पहनें जो एयर पासेज की अनुमति देते हैं और त्वचा पर अत्यधिक नमी को रोकने में मदद करते हैं, खासकर पसीना आने पर
गीले कपड़े, जैसे स्विमवीयर या वर्कआउट गियर को तुरंत बदल लें।
2. नमी वाले क्षेत्रों (उदाहरण के लिए, अंडरआर्म, कमर) पर एंटीफंगल पाउडर या क्रीम लगाएं।
3. हार्ष साबुन, सुगंधित उत्पादों और टाइट सिंथेटिक कपड़ों (जैसे पॉलिएस्टर, ऐक्रेलिक, रेयान) से बचें, जो आपकी त्वचा में जलन पैदा कर सकते हैं।
4. सुनिश्चित करें कि मौजूदा स्वास्थ्य स्थिति को आप अच्छी तरह से मैनेज कर रही हैं और आप अपनी ट्रीटमेंट का पालन कर रही हैं, खासकर यदि आपके पास ऐसी स्थितियां हैं जो फंगल संक्रमण (उदाहरण के लिए, डायबिटीज) के खतरे को बढ़ाती हैं।

यह भी पढ़ें: केराटिन ट्रीटमेंट के बाद बढ़ने लगा है हेयर फॉल, तो ये 5 एक्सपर्ट टिप्स आएंगे आपके काम

  • 124
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख