सेहत के लिए अच्छा नहीं है बार-बार पेन किलर लेना, पेट से लेकर ब्रेन तक को पहुंचता है नुकसान

हल्के सिरदर्द, पैर दर्द या हल्के बुख़ार से जल्दी राहत पाने के लिए अक्सर लोग बिना सोचे समझे पेन किलर खा लेते हैं। पर ये भविष्य में आपकी सेहत के लिए गंभीर जोखिम पैदा कर सकती हैं।
painkiller ke nuksan
'ओवर द काउंटर ड्रग्स' (ओटीसी) मिलने वाली दवाएं जो बिना प्रिस्क्रिप्शन के दी जाती है। इनकी हल्की डोज से आपको आराम तो मिल जाता है लेकिन हमारी जरा सी चूक से हमें इनका साइड एफेक्ट भी झेलना पड़ सकता है। चित्र : अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 20 Oct 2023, 10:04 am IST
  • 146

हमें जब भी सिर दर्द होता है तो हम डिस्प्रिन या कोई पेन किलर दवा खा लेते हैं या फिर बदन में दर्द है तो कांबिफ्लेम या ब्रूफेन जैसी दवाएं ले लेते हैं। आमतौर पर हम सिर दर्द, पेट दर्द या बदन दर्द को कम करने के लिए कुछ ऐसे पेनकिलर्स ले लेते हैं, जिनसे हमें कुछ समय के लिए तुरंत आराम मिल सके।  डॉक्टर कई बार इनके ज्यादा सेवन को खतरा बताते है। । विशेषज्ञ की माने तो पेन किलर दवाएं तुरंत दर्द से राहत तो देती है, लेकिन भविष्य में इनके गंभीर प्रभाव हमारे स्वास्थ्य पर पड़ सकते है।

‘ओवर द काउंटर ड्रग्स’ (ओटीसी) पर मिलने वाली दवाएं बिना प्रिस्क्रिप्शन के दी जाती है। इनकी हल्की डोज से आपको आराम तो मिल जाता है लेकिन अगर चूक से भी इनका गलत इस्तेमाल किया जाए तो  हमें इनका साइड एफेक्ट भी झेलने पड़ सकते है।

इस बारे में क्या कहती हैं रिसर्च

कोपेनहेगन यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल, डेनमार्क के शोधकर्ताओं ने एक अध्ययन में ये पाया कि इबूप्रोफेन के अधिक इस्तेमाल से ऐसे लोगों का मृत्यु का जोखिम बढ़ता है जिन्हें कभी हार्ट अटैक हो चुका हो। ऐसे मरीज़ों का ख़तरा, ये दवा खाने के बाद 59% तक बढ़ जाता है।

नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ एंड क्लीनिकल एक्सीलेंस के अनुसार सिरदर्द के लिए पैरासिटामोल, एस्प्रिन और नॉन स्टीरॉइडल एंटी-इनफ्लेमेटरी ड्रग जैसे इबूप्रेन के बहुत ज्यादा इस्तेमाल करने वाले लोगों में इसका ओवरडोज देखा गया। यह पाया गया कि जो लोग इन दवाओं का अधिक इस्तेमाल करते है उनमें समय के साथ और ज्यादा सिरदर्द होने लगता है।

painkiller ka asar pet or brain mei ho sakta hai
पेन किलर दवा लेने के एक या दो दिन बाद पेट और आंतों में समस्या हो सकती है।

यहां जानिए ज्यादा पेन किलर लेने के साइड इफेक्ट

1 कम करती हैं रोग प्रतिरोधक क्षमता

पेन किलर का हमारे शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। ऑक्सी कॉन्टिन जैसी पेनकिलर दवा लंबे समय तक लेने से रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। जिससे आपके शरीर में रोग से लड़ने की क्षमता भी कम करती है।

ये दवाएं आपके मस्तिष्क को यह सोचने के लिए प्रेरित करती हैं कि उसे अच्छा महसूस करने के लिए पेनकिलर की आवश्यकता है। जो आपके शरीर को “अच्छा महसूस करने” वाले रसायनों और एंडोर्फिन का उत्पादन करने की क्षमता को कम कर देती है।

2 लिवर को भी पहुंचाती हैं नुकसान

लिवर आपके द्वारा ली जाने वाली दवाओं को तोड़ता और प्रोसेस करता है। जब आप पेनकिलर का दुरुपयोग करते हैं, तो आपका लिवर इन दवाओं से जहरीले पदार्थों को जमा करता है, जिससे लिवर को खतरनाक और जानलेवा नुकसान पहुंचता है।

3 हो सकती हैं हृदय संबंधी समस्याएं

कुछ लोग जल्दी दर्द से जल्दी राहत पाने के लिए पेनकिलर दवा को तोड़ कर या सीधे अपने शरीर में इंजेक्ट करते हैं। लेकिन ऐसा करने से दवा सीधे खून में चली जाती है, जिसका असर हार्ट पर पड़ता है। लंबे समय तक पेन किलर का सेवन आगर आप करते है तो इससे हृदय संबंधी गंभीर समस्याएं, दिल का दौरा हो सकते हैं।

4 खराब होती है गट हेल्थ

पेन किलर दवा लेने के एक या दो दिन बाद पेट और आंतों में समस्या हो सकती है। पेन किलर के दुरुपयोग से कब्ज, सूजन, पेट फूलना और बवासीर हो सकता है। क्योंकि पेन किलर को पचाना हमारे शरीर के लिए मुश्किल होता है।

5 पेन किलर इंजेक्शन नसों को पहुंचाते हैं नुकसान

पेन किलर के इंजेक्शन लगाने में हमेशा ज्यादा जोखिम होता है, खासकर अगर सुइयों को बदला न गया हो या रोगाणु मुक्त न किया गया हो। ओपिओइड पेनकिलर जैसी दवाओं का इंजेक्शन लगाने से नसें कोलैप्स हो सकती हैं और ब्लड में संक्रमण और बीमारियां हो सकती हैं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

  • 146
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख