फ्लॉसिंग से लेकर माउथवॉश तक गर्मियों में डेंटल हेल्थ के लिए इन आसान टिप्स को अपनाएं

संपूर्ण सेहत का ख्याल रखने के साथ साथ गर्मियों में ओरल हेल्थ को बनाए रखना भी ज़रूरी है। दांतों की साफ सफाई से लेकर मुंह की दुर्गंध से निपटने के लिए एक्सपर्ट के सुझाए इन टिप्स को ज़रूर अपनाएं।
oral hygiene
दांतों का पीला पड़ना, मसूड़ों से खून आना, दर्द और मुंह से बदबू आना, सभी खराब ओरल हाइजीन के परिणाम हो सकते हैं। चित्र : शटरस्टॉक
Dr Rajeev Arora Updated: 21 Mar 2023, 18:58 pm IST
  • 141

गर्मियों के मौसम की शुरूआत के साथ ही तापमान में बढ़ोतरी नज़र आने लगती है। इस मौसम में शरीर को हाइड्रेट रखना बेहद ज़रूरी है। साथ ही एसिडिक पेय पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए। इससे न केवल हमारे शरीर को नुकसान पहुंचता है बल्कि ओरल हेल्थ खराब होने का भी खतरा रहता है। शरीर को डिहाइड्रेशन (dehydration) से बचाने और ओरल हेल्थ को बनाए रखने के लिए नारियल पानी, नींबू पानी और लस्‍सी आदि का सेवन करना चाहिए। आइए जानते है कि किस तरह से इन नियमों का पालन करके आप अपनी ओरल हेल्थ को बेहतर बना सकते हैं (tips for summer oral hygiene)।

आदर्श ओरल हाइजिन रूटीन बनाएं यानि नियमित रूप से दांतों की साफ.सफाई करने की आदत का पालन करें।इस लेख में फोर्टिस एस्‍कॉर्ट्स हॉस्‍पीटल फरीदाबाद में एचओडी.डेंटल, डॉ राजीव अरोड़ा बता रहे हैं कि आप अपनी डेंटल हेल्थ कैसे बनाए रख सकते हैं।

अगर आप या आपका बच्‍चा नियमित ओरल हाइजिन रूटीन का पालन नहीं करता हैं। तो यही समय है कि आप अपने लिए एक नियमित दिनचर्या बना सकते हैं। ऐसा करना आपके बच्‍चे के लिए भी महत्‍वपूर्ण है ताकि उन्‍हें अपनी दांतों की देखभाल के तौर.तरीकों को सीखने का मौका मिले। हालांकि दांतों की साफ.सफाई के लिए आपको ब्रशिंग और फ्लॉसिंग सुनना आसान लग सकता है। इससे भी ज्यादा ज़रूरी ये जानना है कि आप ब्रश और फ्लॉस कैसे करते हैं और कितनी बार ऐसा करते हैं।

ओरल हाइजीन बनाए रखने के लिए इन टिप्स को अपनाएं

1. ब्रशिंग

आमतौर पर आपको हर बार खाना खाने के बाद ब्रश करना चाहिए। अगर ये संभव नहीं है, तो हर उम्र के व्‍यक्ति को सुबह और रात को भोजन के बाद हर बार अवश्‍य ब्रश करना चाहिए। नरम बालों वाले ब्रश से दो मिनट तक दांतों की सफाई करें, ऐसा करते हुए हल्‍का ज़ोर लगाएं।
वहीं, छोटे बच्‍चों के लिए ब्रश करना चुनौतीपूर्ण हो सकता है। इस बात को सुनिश्चित करें कि आपका बच्‍चा सही ढंग से ब्रश करना सीखे।

daant kaise safed kare
क्या बार-बार ब्रश करने से सफ़ेद होते हैं दांत। चित्र : शटरस्टॉक

2. फ्लॉसिंग

हर व्यक्ति को रात में फ्लॉसिंग अवश्‍य करनी चाहिए। टूथब्रश से दांतों के बीच के खाली भागों की सफाई सही ढंग से नहीं हो पाती है। इसके लिए ये जरूरी है कि वहां फंसे अन्‍न कणों को निकालने के लिए फ्लॉस किया जाए। उनके दांतों में रहने से बैक्‍टीरिया पनपने लगता हैए जो आगे चलकर कैविटीज़ और मसूड़ों के फूलने और उससे जुड़े रोगों का कारण बनते हैं।

फ्लॉसिंग को आसान बनाने के लिए ऐसा फ्लॉस चुनें जिसे आप आसानी से इस्‍तेमाल कर सकते हैं। फ्लॉस के प्रकार इस प्रकार हैं:

• लहरदार डेंटल फ्लॉस
• होल्‍डर युक्‍त फ्लॉस
• वॉटर फ्लॉसर

3. माउथवॉश

ब्रशिंग और फ्लॉसिंग के बावजूद दांतों में फंसे रह गए अन्‍न कणों को निकालने के लिए माउथवॉश का इस्‍तेमाल करें। यह दांतों की दुर्गंध दूर करता है। प्‍लाक के जमाव को कम करता है। साथ ही, दांतों की सड़न से भी लड़ने में कारगर है जिससे कैविटीज़ से बचाव होता है।

kulla karne ke fayade
जानिए क्या हैं कुल्ला करने के फ़ायदे। चित्र : शटरस्टॉक

टूथ फ्रैंडली खाद्य पदार्थों का सेवन है ज़रूरी

बहुत से लोगों के लिए गर्मियों का मतलब होता है शीतल पेय पदार्थों, आइसक्रीम, स्‍नो कोन्‍स और पॉप्‍सीकल्‍स वगैरह का जमकर सेवन करना। दरअसल, इन चीज़ों में चीनी की मात्रा बहुत अधिक होती है जिसकी वजह से आपके दांतों को नुकसान पहुंचता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

अपने नज़दीकी डेंटल सेंटर में दांतों की जांच कराएं। हम सभी मरीज़ों को हर छह महीने पर अपने दांतों की नियमित रूप से जांच करवाने की सलाह देते हैं। इस दौरान, दांतों की सड़न या अन्‍य किसी रोग को शुरुआती लक्षणों से ही पकड़ पाना आसान होता है। साथ ही आपके दांतों की संपूर्ण सफाई भी हो जाती है। साल में इस तरह के दो बार एपाइंटमेंट्स आपकी ओरल हाइजीन के लिए अच्‍छे होते हैं और आपको कई उपयोगी डेंटल नुस्‍खों के बारे में भी पता चलता है।

आज ही अपनी पसंदीदा डेंटल टीम से अपने और अपने परिवार के लिए एपाइंटमेंट लें। हमेशा याद रखें, कि अपनी ओरल हेल्‍थ की देखभाल आपके संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद सिद्ध होती है।

ये भी पढ़ें- क्या गॉलब्लैडर रिमूव होने से डायजेस्टिव सिस्टम खराब हो जाता है? आइए जानते हैं एक्सपर्ट से

  • 141
लेखक के बारे में

Dr Rajeev Arora is HOD-Dental at Fortis Escorts Hospital, Faridabad ...और पढ़ें

अगला लेख