वैलनेस
स्टोर

थकान और कमजोरी की वजह से भी हो सकता हैं आंखों में धुंधलापन, जानिए इसे कैसे दूर करना है

Published on:23 May 2021, 12:00pm IST
सुबह आंख खुलने से लेकर देर रात वेब सिरीज देखते हुए या सोशल मीडिया स्‍क्रॉल करते हुए आपकी आंखें लगातार आपके लिए काम करती रहती हैं। अपनी आंखों को थकान से बचाने के लिए आपको उनकी सेहत पर ध्‍यान देना चाहिए।
अंबिका किमोठी
  • 91 Likes
कमजोरी की वजह से भी हो सकता हैं आंखों में धुंधलापन, चित्र-शटरस्टॉक.
कमजोरी की वजह से भी हो सकता हैं आंखों में धुंधलापन, चित्र-शटरस्टॉक.

आप वर्क फ्रॉम होम कर रही हैं, तो जाहिर सी बात है बाहर न जाने के कारण आपका वर्क लोड काफी बढ़ गया होगा। आप अपना ज्यादातर समय काम में बिताती हैं, जिससे आप अपनी डाइट पर ध्यान नहीं दे पाती हैं कि आपको क्या खाना है। साथ ही इन दिनों मोबाइल या लैपटॉप पर लगातार नजर गढ़ाए रहने से भी आपकी आंखें कमज़ोर हो गई हैं। जिसके चलते आपको भविष्य में कोई गंभीर दिक्कत भी हो सकती है। तो आज हम जानते हैं कि कैसे आप इन घरेलू तरीकों से अपनी आंखों को सेहतमंद बना सकती हैं।

गाजर के जूस को करें अपने आहार में शामिल

हेल्थ गवर्नमेंट ऑफ न्यूयॉर्क की एक वैज्ञानिक रिपोर्ट के अनुसार, गाजर का जूस शरीर में विटामिन ए की आपूर्ति करता है, जो हमारी आंखों की रोशनी बढ़ाता है।
वहीं एनसीबीआई के एक अन्य शोध के अनुसार ये कहा गया है कि जिन लोगों को बढ़ती उम्र के साथ देखने में समस्या होती है, उनको विटामिन-ई, विटामिन-सी और जिंक का सेवन करना चाहिए। गाजर में ये सभी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। साथ ही यह बीटा कैरोटीन का एक अच्छा स्रोत है, जो आंखों की सेहत के लिए बहुत लाभकारी है।

गाजर का जूस शरीर में विटामिन ए की आपूर्ति करता है, चित्र-शटरस्टॉक.
गाजर का जूस शरीर में विटामिन ए की आपूर्ति करता है, चित्र-शटरस्टॉक.

घर पर ही तैयार करें ताजा गाजर का जूस

चार से पांच गाजर लें और उन्‍हें अच्छी तरह से धो लें। फिर इसको साफ कर लें और मिक्सी में डाल दें। उसके बाद जूस को गिलास में छान कर डालें और उसमें स्वादानुसार काला नमक डालें। जूस तैयार है अब इसका सेवन करें।

आज ही से शुरू करें पालक का सेवन

पालक का सेवन करें। पालक में विटामिन-ए और विटामिन-सी पाया जाता है, जो मुख्य रूप से आंखों में होने वाले मैक्यूलर डीजेनरेशन के खतरे को कम करता है।
इसके अलावा, पालक में ल्यूटिन और जियाजैंथिन होते हैं। ल्यूटिन और जियाजैंथिन का सेवन करने से हमें एंटीऑक्सीडेंट गुण मिलते हैं, जो मैक्युला (रेटिना का केंद्र बिंदु) में पिगमेंट डेंसिटी को सुधारने में अहम भूमिका निभाता है। इसलिए पालक को अपने आहार में आज से ही शामिल करें।

सूखे मेवों को करें स्‍नैक्‍स में शामिल

ड्राई फ्रूट्स आंखों के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। बादाम, किशमिश और काजू आंखों की रोशनी को ठीक रखते हैं। इनमें ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। जिससे आंखों की रोशनी तेज होती है। एक मुठ्ठी ड्राई फ्रूट्स हर दिन नियमित रूप से लें।

इनके अलावा ये तरीके भी आजमाएं

  • पानी से बार-बार आंखे धोएं, ऐसा करने से आंखों को ठंडक मिलेगी।
  • ब्रीथिंग एक्सरसाइज करें।
  • कान के पीछे गाय का घी लगाने से भी आंखों रोशनी बढ़ती है।
  • सुबह उठकर मुंह के लार को आंखों के नीचे लगाये, ऐसा करने से भी आंखों की रोशनी बढ़ती है।
घास पर पैदल चलना आपके स्वासथ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। चित्र-शटरस्टॉक।
घास पर पैदल चलना आपके स्वासथ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। चित्र-शटरस्टॉक।

पैदल चलें

रोजाना सुबह और शाम के समय थोड़ी देर नंगे पैर चलें। अगर संभव हो तो घास पर चलें, ये आपको बेहतर लाभ देगा। नंगे पैर चलने से कुछ हद तक नर्वस सिस्टम को आराम मिलता है। एनसीबीआई के एक शोध में स्पष्ट रूप से माना गया है कि हमारे शरीर का जुड़ाव सीधा पृथ्वी से होना चाहिए। इससे हमारे समग्र स्वास्थ्य को लाभ मिलता है।
ध्यान रहे

आंखों में जलन कई कारणों से हो सकती है। इसलिए घरेलू उपाय आजमाने से पहले डॉक्टर का परामर्श जरूर लें।

इसे भी पढ़े-पेट और सीने में जलन से राहत दिला सकते हैं ये 5 इंस्‍टेंट घरेलू उपाय

अंबिका किमोठी अंबिका किमोठी

योगा, डांस और लेखनी, यही सफर के साथी हैं। अपनी रचनात्‍मकता में देखूं कि ये दुनिया और कितनी प्‍यारी हो सकती है।