अपच और एसिडिटी से परेशान हैं, तो अपने आहार में शामिल करें पपीता, यहां हैं इसके सेहत लाभ

Published on: 29 September 2021, 10:30 am IST

मसालेदार और ऑयली फूड अक्सर आपके लिए एसिडिटी और अपच का कारण बन सकता है। इससे जलन, खट्टे डकार, उलटी जैसी परेशनियां होती है। लेकिन आपको राहत देने के लिए पपीता यहां है।

papaya ke side effects
जानिए पपीते के साइड एफ़ेक्ट्स। चित्र: शटरस्टॉक

एसिडिटी की समस्या लगभग सभी को होती है। ज्यादा मसालेदार या तला हुआ खाना जितना स्वादिष्ट होता है, पेट के लिए उतना ही हानिकारक। इसके बाद खट्टे डकार, उलटी, जलन की समस्या शुरू हो जाती है। इससे राहत पाने के लिए कई दवाईयां और घरेलू उपचार किए जाते हैं। पर क्या आप जानती हैं कि अपनी डाइट में सिर्फ पपीता शामिल कर लेने से आप इस समस्या से बच सकती हैं। आइए जानते हैं पपीते के सेवन से होने वाले सेहत लाभ के बारे में। 

पहले जानते हैं एसिड रिफ्लक्स का कारण 

मैक्स सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल की आहार विशेषज्ञ डॉ दिव्या चौधरी के अनुसार, “एसिड रिफ्लक्स का सबसे पहला और प्रमुख कारण तनाव है। शहरों में मल्टी-टास्किंग की मांग रहती है, जो अक्सर तनाव के स्तर को बढ़ाता है। फिर यह लगातार बढ़ने लगता है। अनियमित अंतराल पर भारी भोजन करने से भी एसिड रिफ्लक्स होता है। 

kamzor paachan aur galat khaan- paan hai acidity ka kaaranकमजोर पाचन और गलत खान-पान है एसिडिटी का कारण। चित्र: शटरस्टॉक

हम काम में उलझे रहने के कारण अधिक समय तक भोजन से दूर रहते हैं और जब खाते हैं, तो हम आवश्यकता से अधिक खा लेते है। सही मायने में हमें नियमित अंतराल पर थोड़ा-थोड़ा भोजन करना चाहिए। मसालेदार भोजन का सेवन भी एसिडिटी का कारण होता है।”

इसके अलावा एसिडिटी होने के बहुत सारे कारण हैं जिनमें ये प्रमुख हैं-

  • पर्याप्त नींद न लेने से भी हाइपर एसिडिटी की समस्या हो सकती है।
  • लम्बे समय से पेनकिलर जैसी दवाओं का सेवन करने से।
  • गर्भवती महिलाओं में भी एसिड रिफ्लक्स की समस्या हो जाती है।
  • शराब और कैफीन युक्त पदार्थ का अधिक सेवन।

अब जानिए कि क्यों आपके लिए खास हो सकता है पपीता 

पोषण से भरपूर पपीता कई बीमारियों से लड़ने में कारगर है। पाचन या भूख न लगने की समस्या से जूझ रहे लोगों को हम पपीता खाने की सलाह देंगे। इसमें विटामिन ए (vitamin A) , विटामिन सी (vitamin C) जैसे तत्व हैं, जो आपकी त्वचा और सेहत के लिए फायदेमंद हैं। 

नियासिन (niacin), मैग्नीशियम (magnesium), कैरोटीन (keratin) जैसे पोषक तत्व आपके बालों को मजबूत और खूबसूरत बनाते हैं। 

कई गुणों से भरपूर है पपीता। चित्र: शटरस्टॉक

साथ ही यह  फाइबर (fibre), फोलेट (folate), पोटेशियम (potassium), कॉपर (copper), कैल्शियम (calcium)  से भरपूर होता है, जो आपके पाचन को स्वस्थ रखता है और एसिडिटी से राहत देता है। 

इसमें कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidants) भी होते हैं, जो आपके वजन को नियंत्रण में रखते हैं। पपीता में कुछ मात्रा में प्रोटीन (protein) और कार्बोहाइड्रेट (carbohydrate)  भी होता हैं। यह आपको एनर्जेटिक रहने में मदद करता है। 

एसिडिटी से लड़ता है पपीता 

पपीता खाने से पेट के सभी विकार दूर होते हैं। इसमें पेक्टिन (packtin) नामक तत्व होता है, जो पेट के लिए फायदेमंद होता है।  यह पेट में मौजूद हाइड्रोक्लोरिक एसिड के स्तर को संतुलित रखता है जिससे एसिडिटी का जोखिम कम रहता है। पपीता के नियमित सेवन करने से आपको कभी भी कब्ज, एसिडिटी या उससे जुड़ी समस्या नहीं होगी। 

पपीता एक स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक फल है। चित्र: शटरस्‍टॉकपपीता के बीज में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो एसिडिटी से राहत देते है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कैसे करें सेवन? 

आप पपीता को किसी भी तरह अपनी डाइट में एड करे , यह आपके लिए फायदेमंद ही होगा। पके हुए पपीते को सुबह खाली पेट खाएं। यह आपके पेट में रात भर जमे एसिड के स्तर को संतुलित कर आपको एसिड रिफ्लक्स से राहत देगा। साथ ही कच्चे पपीते की सब्जी भी एक बेहतर विकल्प है। 

पपीते का बीज पाचन तंत्र को सही रखने में मददगार होता है। बीज में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो कि आपके पाचन तंत्र को दुरुस्त रखने में मदद करता है। साथ ही यह पेट संबंधी तमाम बीमारियों को दूर करता है। इसके लिए सबसे पहले आप पपीते के बीज को सुखा लें। अब इसे मिक्सी में पीस लें। अब इस पाउडर को रोजाना गुनगुने पानी के साथ सेवन करें। 

तो लेडीज, बेहद फायदेमंद फल है पपीता। इसे जल्दी अपने डाइट में शामिल करें। 

यह भी पढ़ें: अगर आपको भी चाय के साथ दवा ले लेती हैं, तो इसे ध्यान से पढ़िए

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें