हार्ट हेल्थ के लिए किसी औषधि से कम नहीं हैं कच्चे फल और सब्जियां, जानिए ये कैसे काम करते हैं

हृदय से जुड़ी बीमारियों (heart disease) का सबसे बड़ा कारण हो सकता है अस्वस्थ खानपान। ऐसे में कच्चे फल और सब्जियों (benefits of raw fruits and vegetables) में मौजूद पोषक तत्व (nutrition) आपके हृदय स्वास्थ्य को दुरुस्त रखते हैं।

raw vegetable benefits for heart
स्वस्थ्य हृदय के लिए खाये कच्चे फल और सब्जियां। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Updated on: 25 April 2022, 11:01 am IST
  • 120

भारत में दिल से जुड़ी बीमारियां (heart disease) बहुत तेजी से बढ़ रही है। हार्ट अटैक से लेकर हार्ट फेलियर जैसी समस्याएं आमतौर पर देखने को मिल जाती हैं। बूढ़े हो या यंगस्टर्स सभी हार्ट डिजीज से परेशान है। क्या आपने कभी सोचा है कि इन समस्याओं का कारण क्या है? इनका सबसे बड़ा कारण है अस्वस्थ खानपान। असल में प्राकृतिक आहार से दूरी ने हृदय स्वास्थ्य के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी हैं। इसके कारण में ही उपाय के संकेत भी हैं। विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि कच्चे फल और सब्जियों को उनके प्राकृतिक रूप में सेवन करने पर वे हार्ट हेल्थ को दुरुस्त रख सकते हैं। आइए जानें कैसे हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में मददगार हैं कच्चे फल और सब्जियां। 

पहले समझिए क्यों बीमार हो जाता है आपका दिल (heart disease)

हाई ब्लड प्रेशर

हाई ब्लड कोलेस्ट्रॉल 

स्मोकिंग 

शुगर लेवल बढ़ना

अस्वस्थ खानपान

डायबिटीज

बढ़ती उम्र

स्ट्रेस

ड्रग एब्यूज

Dil ki gambhir bimariyon ka khatra talne mei sahayak.
दिल की गंभीर बीमारियों का खतरा टालने में सहायक। चित्र: शटरस्टॉक

ये है कच्चे फल-सब्जियों और हार्ट हेल्थ का कनैक्शन 

यह तो हम सभी जानते हैं कि पकाने के दौरान सब्जियों, सलाद और फलों के कई पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। इनमें सबसे जरूरी पोषक तत्व है नाइट्रिक ऑक्साइड। यह असल में खून प्रवाहित करने वाली नलियों में मौजूद एक गैस है, जो आर्टरीज को ब्लॉक होने से बचाती है। जिससे हाई ब्लड प्रेशर और हृदय संबंधी बीमारियों से बचाव होता है।

फल और सब्जियां ये प्राकृतिक तत्व, मिट्टी से खनिज रूप में प्राप्त करते हैं। पर ये हमारे शरीर तक तभी पहुंच पाते हैं, जब हम फलाें और सब्जियों को उनके प्राकृतिक रूप में ग्रहण करें। 

जबकि उन्हें पकाने के दौरान फूड्स में मौजूद टॉक्सिक केमिकल्स एक्टिव हो जाते हैं और नाइट्रिक ऑक्साइड नष्ट हो जाता है। 

आइए जानते हैं कैसे कच्चे फल और सब्जियां (raw fruits and vegetables benefits) हार्ट को हेल्दी रखने में आपकी मदद करते हैं-

जाने क्यों हेल्दी हार्ट के लिए जरुरी है कच्चे फल और सब्जियों का सेवन (raw fruits and vegetables benefits)

पब मेड द्वारा किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि कच्चे फल और सब्जियों (raw fruits and vegetables benefits) का सेवन कार्डियोवैस्कुलर डिजीज (Cardiovascular diseases) की संभावना को कम करता है। रिसर्च में देखा गया की सीवीडी (CVD) की समस्या में आलू, सोयाबीन, टमाटर, प्याज, ब्रोकली, सीसम, अजवाइन और सलाद पत्ता का प्रयोग किए जाने पर लोगों को रिकवरी में मदद मिलती है। 

Healthy heart ke liye khaye raw vegetables and fruits.
हेल्दी हार्ट के लिए खाये कच्चे फल और सब्जियां।। चित्र : शटरस्टॉक

ये सभी फल और सब्जियों में पाए जाने वाले पोषक तत्व (nutrition) हार्ट के लिए अत्यधिक जरूरी होते हैं। इनमें कई तरह के बायो एक्टिव कंपाउंड्स मौजूद है, जिनमें विटामिन, डाइटरी फाइबर, बोटैनिकल प्रोटीन और फोटोकेमिकल  शामिल हैं । यह सभी तत्व दिल से जुड़ी समस्याओं को नियंत्रित रखने का काम करते हैं। 

पब मेड के इस रिसर्च में कच्ची सब्जियों में कार्डियोप्रोटेक्टिव इफेक्ट पाए गए। इन सब्जियों में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी इन्फ्लेमेशन और एंटी प्लेटलेट प्रोपर्टीज ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखने के साथ मेटाबॉलिज्म को बढ़ाती हैं, साथ ही ब्लड में ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित रखती हैं। 

हृदय स्वास्थ्य का रक्षा कवच हैं कच्ची सब्जियां और फल 

रिसर्च में किए गए ट्रायल्स में देखा गया कि कच्ची सब्जियों का सेवन कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ (Cardiovascular diseases) के लिए फायदेमंद होता है। ज्यादातर हरी सब्जियां कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम के लिए प्रोटेक्टर के तौर पर काम करती हैं। विटामिन मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट फाइबर  (nutrition) इत्यादि से भरपूर इन सब्जियों और फल का सेवन करने से आपका हार्ट लंबे समय तक हेल्दी रहेगा। 

यदि आप पहले से किसी तरह के हृदय रोग से परेशान है तो ऐसे में कच्चे फल और सब्जियों (raw fruits and vegetables benefits) का सेवन करने से समस्याओं से निजात पाने में मदद मिलेगी। हम लेकर आए हैं ऐसे कुछ फल और सब्जियों के नाम जिनका सेवन हार्ट के लिए बहुत जरूरी है।

heart ke liye healdy food hai broccoli
हार्ट के लिए हेल्दी फ़ूड है ब्रॉक्ली। चित्र: शटरस्‍टॉक

हृदय सम्बन्धी समस्यायों में कारगर है यह 5 कच्चे फल और सब्जियां 

  1. ब्रोकली

ब्रोकली में भरपूर मात्रा में फाइबर, फैटी एसिड, विटामिन, कैल्शियम पाया जाता है। यह सभी पोषक तत्व  (nutrition) ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखते हैं। ब्रोकली में मौजूद फाइबर कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल रखने में मदद करते है। यदि आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल सही है, तो हृदय से जुड़ी बीमारियों से दूर रह सकती हैं। कच्चे ब्रोकली को छोटे टुकड़ों में काट कर हल्के नामक के साथ सलाद के तौर पर ले सकती हैं।

  1. गाजर

गाजर में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स प्रॉपर्टी हृदय रोग पैदा करने वाले मूलांक को रोकती हैं। गाजर विटामिन के, बी1, बी2, बी6, कैल्शियम और पोटेशियम का एक अच्छा स्रोत है। यह सभी पोषक तत्व आपकी हैल्दी हार्ट के लिए बहुत जरूरी होते हैं। इसे बिना पकाए सलाद के तौर पर खाने से इनमें मौजूद पोषक तत्व  (nutrition) पूरी तरह शरीर में लगते हैं।

  1. पालक

पालक में एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज पाई जाती है जो आपके हृदय के लिए फायदेमंद होती है। इसमें मौजूद विटामिन बी, फाइबर और ओमेगा 3 फैटी एसिड हृदय को जरूरी पोषण देकर बीमारियों (heart disease) से निजात पाने में मदद करती है। कच्चे पालक का सेवन जूस या सलाद के तौर पर कर सकती है। 

heart ke liye healdy hai anar.
हार्ट के लिए हैल्दी है अनार. चित्र शटरस्टॉक।
  1. सेब, केला और अनार

इन फलों में पर्याप्त मात्रा में फाइबर और पोटेशियम पाए जाते हैं जो दिल से जुड़ी बीमारियों (Cardiovascular diseases) को दूर रखने में मदद करते हैं। इनकी एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज आपके हार्ट के लिए बहुत जरूरी है। इफेक्टिव रिजल्ट के लिए इन फलों को नियमित रूप से खाने का प्रयास करें। 

  1. लहसुन और प्याज

लहसुन में एंटी फंगल, एंटी वायरल, और एंटी बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज पाई जाती है। लहसुन में पाए जाने वाले फोटोकेमिकलस इम्यूनिटी बूस्टर का काम करते हैं। यह इन्फ्लेमेशन को कम करने के साथ हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है। जिसके कारण हृदय संबंधी समस्याओं (heart disease) की संभावना कम हो जाती है। 

प्याज शरीर से टॉक्सिन को कम करता है। प्यास सल्फर और फोटोकेमिकल्स का एक अच्छा स्त्रोत होता है। यह फोटो केमिकल आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल रखते हैं।

यह भी पढ़ें:  इस मौसम में भी चाहिए खिली-निखरी त्वचा, तो इन 5 नेचुरल क्लींजर से करें त्वचा की गहरी सफाई

  • 120
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory