ओवर ईटिंग और एक्सरसाइज न करना बढ़ा सकता है बुरे कोलेस्ट्रॉल का लेवल, जानिए हार्ट डिजीज बढ़ाने वाले 5 कारण

अनहेल्दी लाइफस्टाइल के कारण कई लोगों को कम उम्र में ही हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या होने लगती है, इसी मुद्दे पर बात करते हुए इस लेख में हाई कोलेस्ट्रॉल के कारणों पर चर्चा करेंगे।

Overeating-effect-on-heart
जानिए आपके दिल की सेहत के लिए क्यों खराब है ओवरईटिंग। चित्र शटरस्टॉक।
ईशा गुप्ता Published on: 23 October 2022, 08:00 am IST
  • 148

दुनिया भर में बीमारियों के कारण होने वाली मौतों में सबसे ज्यादा संख्या दिल की बीमारियों से होने वाली मौतों का है। हृदय संबंधी बीमारियों की सबसे बड़ी वजह है बैड कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना। पर कोलेस्ट्रॉल साइलेंट तरीके से बढ़ता है। यानी शुरुआत में इसके लक्षण बेहद सामान्य लगते हैं। जैसे कि हाई ब्लड प्रेशर, सांस फूलना या वजन का लगातार बढ़ना। इसलिए जरूरी है कि आप उन कारणों के बारे में जानें, जो आपका कोलेस्ट्रॉल (causes of bad cholesterol) लेवल बढ़ा रहे हैं।

कोलेस्ट्रॉल लेवल का अर्थ है, ब्लड में पाए जाने वाला टोटल कोलेस्ट्रॉल जिसके आपका बेड और गुड कोलेस्ट्रॉल भी शामिल होता है। अमेरिकन हर्ट एसोसिएशन के मुताबिक 20 और इससे ज्यादा उम्र के व्यक्ति को ही 4 से 6 साल के अंदर अपना कोलेस्ट्रॉल लेवल जरूर चेक करवाना चाहिए।

हाई कोलेस्ट्रॉल होने के लिए अनहेल्दी लाइफस्टाइल और अनहेल्दी ईटिंग पैटर्न सबसे बड़ा कारण होता है। जिसके कारण तेजी से वजन में बदलाव आना, अत्यधिक थकावट होना या शरीर कमजोर होना जैसे लक्षण नजर आने लगते हैं। आज अपने इस लेख में हम हाई कोलेस्ट्रॉल से जुड़ें प्रश्नों पर खुलकर चर्चा करेंगे।

cholesterol levels
जानिए कैसे कम किया जाए कोलेस्ट्रॉल, चित्र: शटरस्टॉक

हाई कोलेस्ट्रॉल के लिए जिम्मेदार कारण और लक्षण

विशेषज्ञों और शोधों के अनुसार अधिकतर मामलों में व्यक्ति में हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या का पता लगाना मुश्किल हो सकता है। क्योंकि इसके मुख्य लक्षणों का बिना टेस्ट के पता नहीं चल पाता है। अमेरिकन हर्ट एसोसिएशन के मुताबिक कुछ स्थितियों को हाई कोलेस्ट्रॉल का कारण माना गया है। जिनसे बचना जरूरी है।

1. ओवर वेट होना

अगर किसी व्यक्ति का वजन उसके बीएमआई रेट से ज्यादा है, तो उसका ओवर वेट होना हाई कोलेस्ट्रॉल का कारण बना सकता है। जिससे उसे दिल से जुड़ी बड़ी बीमारियां होने का खतरा भी हो सकता है। इसलिए बीएमआई रेट मेंटेन रखने के साथ फिजिकल एक्टिविटी
रखना आवश्यक है, जिससे हमारें ब्लड में कोलेस्ट्रॉल लेवल मेंटेन रहे।

2. जेनेटिक कारण

कई मामलों में छोटी उम्र में कोलेस्ट्रॉल होने के पीछे जेनेटिक कारण भी जिम्मेदार होते हैं। यानी अगर माता-पिता को हाई कोलेस्ट्रॉल या दिल से जुड़ी कोई समस्या है, तो उनके बच्चें को छोटी उम्र से हाई कोलेस्ट्रॉल होने का खतरा हो सकता है।

यह भी पढ़े – बार-बार जुकाम और खांसी कहीं एलर्जी का तो संकेत नहीं? जानिए बदलते मौसम में होने वाली एलर्जी के बारे में

3. स्मोकिंग की आदत

आपकी स्मोकिंग की आदत भी बॉडी के कोलेस्ट्रॉल लेवल पर गहरा असर डालती है। स्मोकिंग या तंबाकू के सेवन से शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होने के साथ बेड कोलेस्ट्रॉल बढ़ने लगता है। इसके अलावा शराब का अत्यधिक सेवन भी आपके टोटल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा सकता है।

stress vajan badhata hai
अत्यधिक तनाव लेना भी आपके हाई कोलेस्ट्रॉल का कारण हो सकता है,। चित्र : शटरस्टॉक

4. अत्यधिक तनाव

अत्यधिक तनाव लेना भी आपके हाई कोलेस्ट्रॉल का कारण हो सकता है, क्योंकि इससे आपके शरीर में होर्मोनल चेंजेस होने लगते हैं, जिससे आपका शरीर कोलेस्ट्रॉल बनाता है।

5. जरूरत से ज्यादा और भारी खाना

सेचुरेटिड और ट्रांस फेट्स वाले फूड्स का सेवन बहुत ज्यादा करना इसका कारण होता है। इससे आपके ब्लड में बेड कोलेस्ट्रॉल बढ़ने लगता है, जिससे आपको दिल से जुड़ी समायाएं होने का खतरा भी बढ़ने लगता है।

यह भी पढ़े – त्योहार न बन जाए डायबिटीज का कारण, इन 5 तरीकों से उत्सवों के दौरान भी रखें ब्लड शुगर कंट्रोल

  • 148
लेखक के बारे में
ईशा गुप्ता ईशा गुप्ता

यंग कंटेंट राइटर ईशा ब्यूटी, लाइफस्टाइल और फूड से जुड़े लेख लिखती हैं। ये काम करते हुए तनावमुक्त रहने का उनका अपना अंदाज है।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory