डियर लेडीज, जानिए क्या होता है जब आप लंबे समय तक काम करती हैं

काम के लंबे घंटे आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं। यहां बताया गया है कि काम से बहुत अधिक थकान आपके लिए कितनी हानिकारक हो सकती है।

der tak kaam karna pad sakta hai bhaari
देर तक काम करना पड़ सकता है भारी। चित्र: शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 14 May 2022, 10:00 am IST
  • 130

एक महिला का जीवन एक रोलर-कोस्टर है जिसमें कई उतार-चढ़ाव आते हैं। अपने बच्चों को स्कूल के लिए तैयार करते हुए, सुबह की ठंडी चाय पीने से लेकर लंच पैक करने और दूर के परिवार और दोस्तों के साथ लंबी बातचीत करने तक, एक महिला को पूरे दिन में बहुत करना होता है। इसके परिणामस्वरूप वह खुद का ख्याल रखना भूल जाती हैं। इसके अलावा, ऑफिस में लंबे समय तक काम करने से थकावट होती है।

हालांकि, अगर हम थोड़ा रुकें और सोचें, तो हमें एहसास होगा कि महिलाएं अपने स्वास्थ्य की कीमत पर कई काम करती हैं। इसलिए अपने मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह गंभीर स्वास्थ्य स्थितियों को रोकने और उनके समग्र स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद करेगा।

एक महिला पर लंबे समय तक काम करने का क्या प्रभाव पड़ता है?

चूंकि कई महिलाएं अपनी व्यक्तिगत और व्यावसायिक प्रतिबद्धताओं को संतुलित करने के लिए समय बिताती हैं, इसलिए उन्हें खुद की देखभाल करने की आवश्यकता है। ऐसे में यदि, आप नीची दिये गए किसी भी लक्षण का अनुभव कर रही हैं, तो यह समय है कि आप अपनी दैनिक दिनचर्या को देखें, क्योंकि आपको स्वयं पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है।

zyada der tak kaam karna
कैसे, लंबे समय तक काम करना महिलाओं के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा रहा है। चित्र : शटरस्टॉक

1. थकान

थकान कई कारकों के कारण हो सकती है, जिसमें भोजन छोड़ना, पर्याप्त नींद न लेना, पानी न पीना और बहुत सारे प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों का सेवन शामिल है। इसके अलावा, यदि आप लगातार व्यस्त रहती हैं और आपको लंबे समय तक काम करना पड़ता, तो आप शारीरिक और मासिक रूप से थका हुआ महसूस कर सकती हैं। यह मधुमेह, थायराइड रोग, या विटामिन की कमी के कारण हो सकता है जिसके लिए टेस्ट की आवश्यकता होती है।

2. मासिक धर्म की समस्या

महिलाओं के लिए उनके पीरियड्स के साथ समस्या होना आम बात है, जिसमें भारी, कम या मिस्ड पीरियड्स शामिल हैं। पीरियड्स के दौरान महिलाओं को गंभीर ऐंठन से भी जूझना पड़ता है। इसके अतिरिक्त, पीसीओएस से प्रभावित महिलाओं में मासिक धर्म चक्र में मोटापा, टाइप 2 मधुमेह, हृदय रोग, बांझपन और पिंपल्स का खतरा बढ़ जाता है।

3. तनाव और अवसाद

लंबे समय तक काम करने के कारण महिलाओं को काफी तनाव का सामना करना पड़ता है। हालांकि, यह अचानक डिप्रेशन आर्थिक समस्याओं, रिश्तों की समस्या और खराब स्वास्थ्य के कारण भी हो सकता है। ऐसे में मनोचिकित्सक से बात करने से लाभ मिल सकता है।

4. कमजोरी

आमतौर पर महिलाओं को अपने भोजन में पोषक तत्वों की कमी के कारण कमजोरी का सामना करना पड़ता है। इससे निम्न रक्तचाप, कम उत्पादकता, प्रेरणा की कमी और काम के प्रदर्शन में कमी हो सकती है। ये सभी गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकते हैं।

Nutrients ki kami ke kaaran weakness
पोषक तत्वों की कमी के कारण कमजोरी। चित्र:शटरस्टॉक

5. पाचन संबंधी समस्याएं

आहार, बैक्टीरिया, संक्रमण, कुछ दवाओं आदि के कारण अचानक पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। प्रत्येक महिला को दो छोटे नाश्ते के साथ हर दिन तीन स्वस्थ, संतुलित भोजन करने का लक्ष्य रखना चाहिए, एक सुबह और एक दोपहर में ताकि उनकी ऊर्जा का स्तर दिन के दौरान अनुकूलित रहें।

इसके लिए सबसे अच्छा उपाय क्या है?

रोजाना एक छोटी अवधि के लिए ‘मी टाइम’ आत्मविश्वास को बढ़ाने और तनाव से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

व्यायाम के लाभ हमारे शरीर और हमारे दिमाग दोनों को मिलते हैं। इसके अलावा, एक कसरत के दौरान जारी एंडोर्फिन व्यक्ति को खुश और कम तनाव महसूस कर देगा।

प्रियजनों से सपोर्ट मांगकर, नियमित रूप से व्यायाम करके,आराम करके, खुद के लिए समय निकालकर, तनाव को प्रबंधित किया जा सकता है।

इन समस्याओं को दूर करने के लिए चेक-अप और आवश्यक टेस्ट के लिए महीने में एक बार डॉक्टर के पास जाना आवश्यक है।

अक्सर व्यायाम करने, मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ के पास जाने और परिवार/दोस्तों के साथ समय बिताने से अवसाद ठीक हो जाता है। मानव शरीर में कमजोरी का स्तर एक स्क्रीनिंग टेस्ट के माध्यम से पता किया जा सकता है जिसे आमतौर पर सीबीसी और यूरिनलिसिस कहा जाता है। इसलिए यदि आपको कोई लक्षण है, तो जल्द से जल्द एक डॉक्टर को दिखाएं।

यह भी पढ़ें ; Nurse Day 2022 : जो महामारी में भी डटी रहीं, उन्हें एक सलाम तो बनता है

  • 130
लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory