अगर आप भी उपवास शुरू करने वाली हैं, तो हम आपको इसके 5 फायदे बता सकते हैं

माना जाता है कि व्रत करने से हमारे मन और आत्मा दोनों को शांति मिलती है, लेकिन क्या आपको पता है कि व्रत करने से हमारे शरीर को क्या लाभ प्राप्त होते हैं?  

janiye fasting tips
फास्टिंग के दौरान घंटों भूखें रहने की बजाय कुछ न कुछ खाते रहना चाहिए। चित्र:शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated on: 15 June 2022, 12:46 pm IST
  • 101

जेठ पूर्णिमा (Jyeshth purnima 2022) को देश के कई हिस्सो में लोग उपवास (Fasting) करते हैं। इसे वट पूर्णिमा (Vat Purnima) भी कहा जाता है। इससे पहले अभी कुछ दिन पहले ही महिलाओं ने वट सावित्री व्रत ( vat savitri vrat 2022) किया था। वहीं सावन महीने (Sawan Fasting)  में भी बहुत सारे उपवास रखने का लोक में चलन है। हालांकि इन सभी की अपनी-अपनी धार्मिक मान्यताएं हैं। पर क्या आप जानती हैं कि सप्ताह में एक दिन या शॉर्ट टर्म फास्टिंग (Short term fasting) न केवल आपकी विल पॉवर (Willpower) बढ़ाती है, बल्कि आपकी सेहत के लिए भी फायदेमंद (Fasting health benefits) है। जानना चाहती हैं कैसे, तो बस इसे अंत तक पढ़ती रहें।

फास्टिंग से शरीर को होने वाले 5 लाभ इस प्रकार है :- 

1 वजन घटाने में मदद करे 

अगर आप वजन घटाना चाहती हैं, तो फास्टिंग आपकी मदद कर सकती है। एक तय अवधि तक भूखे रहने का मेटाबॉलिज़्म पर सकारात्मक असर पड़ता है। जिससे वेट लॉस में मदद मिलती है। नेशनल लाइब्रेरी फॉर मेडिसिन के अनुसार, शॉर्ट टर्म फास्टिंग करने से  मेटाबॉलिज्म बढ़ता है। बेहतर मेटाबॉलिज़्म वेट लॉस की कुंजी है। अध्ययनों में यह साबित हो चुका है कि जब आपका मेटाबॉलिज़्म बेहतर तरीके से काम करता है, तब आप आसानी से वजन कम कर पाती हैं। 

fasting weight loss me apki help kar sakti hai
फास्टिंग वेट लास में आपकी मदद कर सकती है। चित्र: शटरस्टॉक

2 हार्मोन कंट्रोल करता है

लेप्टिन और  घ्रेलिन शरीर के दो महत्वपूर्ण हार्मोन हैं, जो शरीर में एनर्जी बनाए रखने और भूख लगने के लिए जिम्मेदार होते हैं। क्लिनिकल न्यूट्रिशन 2006 की रिपोर्ट के अनुसार, 24 घंटे फास्टिंग करने या अल्टरनेटिव फास्टिंग करने से लेप्टिन और घ्रेलिन हार्मोन  बैलेंस रहते हैं। 

3 आपका इम्यून सिस्टम होता है बूस्ट 

इम्युनिटी में सुधार करने के लिए आपने कई तरह की चीजों का सेवन किया होगा। खासतौर से विटामिन सी वाले सिट्रस फ्रूट। पर क्या आप जानती हैं कि छोटी अवधि के उपवास भी आपका इम्यून सिस्टम बूस्ट करने में आपकी मदद कर सकते हैं। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ की एक स्टडी के अनुसार, शॉर्ट टाइम के लिए कैलोरी कम करने से इम्यून सिस्टम स्ट्रॉन्ग होता है। साथ ही रोज होने वाले इन्फेक्शन से लड़ने में मदद मिलती है। 

4 ब्रेन हेल्थ को प्रमोट करता है 

रिसर्च के अनुसार फास्टिंग करने से आपके शरीर में ब्रेन ड्राइव न्यूरोट्रॉफिक फैक्टर नामक प्रोटीन बनता है। यह आपकी ब्रेन हेल्थ को प्रमोट करता है। इसके लिए आप सप्ताह में एक दिन उपवास यानी फास्टिंग कर सकती हैं।  

5 ब्लड शुगर कंट्रोल करता है

दरअसल टाइप 2 डायबिटीज से ग्रस्त 10 लोगों पर स्टडी की गई, जिसमें पता चला कि शॉर्ट टर्म फास्टिंग करने से ब्लड में शुगर का लेवल कम होता है। इसमें यह भी पाया गया कि इससे इंसुलिन कम होने में भी मदद मिलती है। पर अगर आपका ब्लड शुगर लेवल पहले से ही असंतुलित है तो आपको डॉक्टर की सलाह के बाद ही फास्टिंग करनी चाहिए। 

हेल्दी फास्टिंग के लिए आप इन तरीकों को फॉलो कर सकती हैं 

वैसे तो हर किसी का फास्टिंग करने का अपना तरीका होता है, लेकिन हम आपको ऐसे ही कुछ फास्टिंग के तरीके बताने जा रहे हैं जो आपके शरीर के लिए बेहद लाभदायक हैं- 

1 जूस को करें शामिल 

फास्टिंग के दौरान जूस पीना एक हेल्दी विकल्प हो सकता है। व्रत या उपवास के दौरान सब्जियों और फलों का रस पीने से आपका एनर्जी लेवल बना रहता है और शरीर को जरूरी पोषण मिलता रहता है। इस तरह की फास्टिंग बॉडी को डिटॉक्सिफाई करने के साथ हाइड्रेट रखने में भी मदद करती है। 

2 पानी पीना है हेल्दी तरीका  

हालांकि भारत में कुछ उपवास निर्जल रखे जाते हैं, यानी इनमें पानी भी नहीं पीना होता है। पर इससे बेहतर है कि आप अपनी फास्टिंग के दौरान पानी पीती रहें। यह तरीका आपकी सेहत के लिहाज से ज्यादा बेहतर होगा। इससे आपकी बॉडी डिटॉक्सिफाई होती रहती है। शरीर में मौजूद विषैले पदार्थ बाहर आ जाते हैं। 

upwas ke dauran pani peete rahna apko healthy rakhta hai
उपवास के दौरान पानी पीते रहना आपको हेल्दी रखता है। चित्र:शटरस्टॉक

3 कम कैलोरी लें

फास्टिंग को हेल्दी फास्टिंग बनाने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि आप कैलोरी कंट्रोल करें। आप हर दिन जितनी कैलोरी लेती हैं व्रत के दौरान उससे कम कैलोरी लें। ऐसा न हो कि आप दिन भर भूखी रहें और रात में फलाहार के नाम पर कैलोरीज की ओवरडोज ले लें। वरना वज़न कम होने की बजाए और बढ़ने लगेगा।

इस तरह करें फास्टिंग

  1. अत्यधिक चिकनाई का सेवन न करें, क्योंकि यह आपका वजन बढ़ाने के साथ-साथ चक्कर आने, जी मिचलाने जैसी परेशानियों का कारण बन सकता है। 
  2.  पानी पीती रहें जिससे आपकी बॉडी हाइड्रेट और डिटॉक्सिफाई होती रहे। 
  3. फ्रूट जूस, फल और छाछ का सेवन करती रहें, जिससे आपकी बॉडी डिटॉक्सिफाई हो पाए और आपके शरीर में एनर्जी बनी रहे। 
  4. अत्यधिक नमक और मीठे का सेवन न करें। 

नोट: यदि आप शुगर की मरीज हैं, तो फास्टिंग न करें। इससे ब्लड शुगर लेवल डाउन हो सकता है। अधिक मीठे फल खाने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। चिकित्सक की परामर्श के बाद ही फास्टिंग करने के बारें में सोचें।।

यहां पढ़ें:-उबासियां आपको सुस्त साबित कर रहीं हैं, तो इन 5 उपायों से करें इन्हें कंट्रोल

  • 101
लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory