Onomatomania : जानिए क्या है ये बीमारी, जिसने छीन ली है नसीरुद्दीन शाह की नींद

Published on: 15 March 2022, 14:00 pm IST

अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने लोगों को ओनामैटोमेनिया (onomatomania) के बारे में सोचने पर मजबूर कर दिया है, यह एक दुर्लभ स्थिति है, जिसमें व्यक्ति किसी एक शब्द या वाक्यांश पर अटक जाता है और बार-बार उसका प्रयोग करना चाहता है। यहां तक कि सोते हुए भी।

janiye kya hai onomatomania
ओनोमैटोमेनिया और नसीरुद्दीन शाह की स्थिति के बारे में सब कुछ जानें। चित्र : शटरस्टॉक

हाल ही में दिग्गज अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने नींद के साथ अपने संघर्ष के बारे में खुलासा किया, क्योंकि वह एक गंभीर स्थिति से पीड़ित हैं। उन्हें ओनोमैटोमेनिया (onomatomania) है, जिसमें व्यक्ति किसी विशेष शब्द या वाक्यांश को दोहराता रहता है। यहां तक ​​कि जब वह सोने की कोशिश कर रहा होता है, तब भी वह रुक नहीं पाता क्योंकि उसका दिमाग कभी शांत नहीं होता। तो, यह स्थिति क्या है? इसे कैसे संबोधित किया जा सकता है?

इसे बेहतर ढंग से समझने के लिए हेल्थशॉट्स ने डॉ प्रियरंजन अविनाश, कंसल्टेंट साइकियाट्रिस्ट, आईविल से संपर्क किया। विशेषज्ञ का कहना है, “चिकित्सा की भाषा में कहें तो, अंग्रेजी शब्द ‘मेनिया’ (Mania) का अर्थ है किसी चीज़ के प्रति आपका जुनून, जो कुछ भी हो सकता है। मगर यह, हाइपोमेनिया से अलग है, जो एक मानसिक बीमारी है। जो कि हाई मूड, बढ़ी हुई ऊर्जा, लक्ष्य-निर्देशित गतिविधियों, नींद की कमी, आदि के साथ आती है।

जानिए क्या है ओनोमैटोमेनिया

जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, यह किसी शब्द, या वाक्यांश का बार – बार उपयोग है। व्यक्ति इस शब्द का प्रयोग तब भी करता रहता है, जब इसकी आवश्यकता नहीं होती।

डॉ प्रियरंजन कहते हैं – “व्यक्ति शब्द का उपयोग करने के अवसरों की तलाश करता है। यदि वे इस शब्द का उपयोग नहीं कर पाते हैं, तो वे परेशान भी हो जाते हैं। निराशा वास्तविक है, अगर उन्हें शब्द या वाक्यांश का उपयोग करना याद नहीं है। इससे बेचैनी, चिंता, चिड़चिड़ापन या नींद न आने की समस्या हो सकती है।”

इसे जोड़ते हुए, विशेषज्ञ साझा करते हैं कि ओनोमैटोमेनिया को कुछ मानसिक और तंत्रिका संबंधी स्थितियों से जोड़ा जा सकता है, जैसे कि ओसीडी (obsessive compulsive disorder), एपिलेप्सी (epilepsy) और सिज़ोफ्रेनिया (schizophrenia)। हालांकि, उपरोक्त किसी भी मानसिक स्थिति के निदान के लिए यह पर्याप्त मानदंड नहीं है और यह एक बहुत ही असामान्य घटना है।

janiye kya hai onomatomania
जानिए क्या है ये बीमारी. चित्र : शटरस्टॉक

किन्हें हो सकता है ओनोमैटोमेनिया का ज्यादा जोखिम?

शोध से पता चलता है कि जो लोग साहित्य, कला, फिल्मों से प्यार करते हैं, या किसी रचनात्मक क्षेत्र से संबंधित हैं, उन्हें एक शब्द या वाक्यांश से ऑबसेशन हो सकता है। यह आपके जीवन का एक हिस्सा है और पर्सनल हो सकता है। खासकर यदि आप ऐसे व्यक्ति हैं, जो रचनात्मक गतिविधियों में शामिल होना पसंद करते हैं।

क्या इस स्थिति का इलाज किया जा सकता है?

इस संबंध में आपको जो भी मार्गदर्शन चाहिए, उसके लिए किसी विशेषज्ञ से परामर्श करना सबसे अच्छा है। यदि स्थिति आपके दैनिक जीवन में हस्तक्षेप करती है, तो एक विशेषज्ञ कुछ तकनीकों का सुझाव दे सकता है या आपको बेहतर महसूस करने में मदद करने के लिए कोगनिटिव थेरेपी का उपयोग किया जा सकता है। ओनोमैटोमेनिया के लिए कोई विशिष्ट दवा नहीं है। यदि स्थिति किसी अन्य मानसिक स्वास्थ्य समस्या से जुड़ी है, तो विशेषज्ञ द्वारा उचित कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : फिट और फाईन रहना है, तो उम्र के तीसरे दशक में इन 5 चीजों पर जरूर रखें नजर

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें