क्या गॉलब्लैडर रिमूव होने से डायजेस्टिव सिस्टम खराब हो जाता है? आइए जानते हैं एक्सपर्ट से

कई लोगों को पित्त की थैली में पथरी हो जाती है। ऐसे में पित्त की थैली निकालना सबसे सेफ माना जाता है। लेकिन क्या इससे सेहत पर कोई असर पड़ता हैं?
gallbladder mei badhne waali samasyaaein
लंबे समय तक भूखे रहने या बहुत अधिक डाइटिंग करने पर गॉल स्टोन की समस्या हो सकती है| चित्र : शटरस्टॉक
ईशा गुप्ता Updated: 21 Mar 2023, 20:31 pm IST
  • 144

आजकल के लाइफस्टाइल की समस्याओं में पथरी की समस्या सबसे आम समस्या हो गई है। बाहर के अनहेल्दी खाने और पानी का कम सेवन करने से अक्सर पथरी की परेशानी हो जाती है। पथरी के कारण पेट और कमर में तेज दर्द होता है। साथ ही जिस हिस्से में पथरी है, वहां सूजन भी आ जाती है। यह समस्या पेट और पेट के निचले हिस्सों में भी हो जाती है। जिसके कारण आपको रोजमर्रा के कार्य करने में परेशानी हो सकती है।

अधिकतर मामलों में दवाईयों और पानी की मात्रा बढ़ाने से पथरी निकल जाती है। लेकिन वही कुछ मामलों में ऑपरेशन ही एकमात्र समाधान होता है। जैसे कि पित्त की थैली में पथरी होना। पित्त की थैली यानी गॉलब्लैडर में पथरी होने पर गॉलब्लैडर को ऑपरेशन के जरिए बाहर निकाल लिया जाता है। अब सवाल यह हैं कि क्योंकि गॉलब्लैडर हमारे शरीर का ही जरूरी हिस्सा है, तो क्या गॉलब्लैडर निकलने ( gallbladder removal effects) से शरीर पर कुछ असर पड़ता है?

इस विषय को गहनता से समझने के लिए हमने बात कि डॉ अमित गिरमे, कंसल्टिंग लेप्रोस्कोपिक और एंडोस्कोपी सर्जन, रूबी हॉल क्लिनिक (पुणे) से, जिन्होंने हमें इस समस्या के बारें में विस्तार से बताया।

सबसे पहले समझिए गॉलब्लैडर का शरीर में क्या काम है?

गॉलब्लैडर शरीर का जरूरी हिस्सा है, जो लीवर के ठीक नीचे होता है। इसका काम लीवर से निकलने वाले बाइल जूस को स्टोर करके रखना होता है। जिससे भोजन को पचाने के दौरान यह छोटी आंत में बाइल जूस पहुचांकर पाचन में मदद करता है।

यह भी पढ़े – प्रेगनेंसी में होती है आइसक्रीम की क्रेविंग ? तो जानिए कौन सी आइसक्रीम खाना है आपके लिए सेफ

जानिए क्या गॉलब्लैडर निकलने से सेहत पर कुछ असर पड़ता है। चित्र ; शटरस्टॉक

गॉलब्लैडर में पथरी होने का कारण और लक्षण

शुरूआत में गॉलब्लैडर में पथरी होने का पता नही चल पाता है। लेकिन पथरी का साइज बढ़ने के साथ तेज दर्द होने लगता है, जिससे अल्ट्रासाउंड द्वारा इसका पता लगाया जाता है। गॉलब्लैडर में पथरी होने के मुख्य कारणों में व्यक्ति का कोलेस्ट्रॉल लेवल हाई होना होता है।

लॉन्ग टर्म में इसका क्या प्रभाव पड़ता है?

कोलेसिस्टेक्टोमी (गॉलब्लैडर रिमूवल सर्जरी) गॉलब्लैडर में पथरी होने की समस्या में सबसे ज्यादा किया जाने वाला ऑपरेशन है। इस ऑपरेशन के बाद अक्सर बहुत लोगों को ये चिंता रहती है कि इस ऑपरेशन के बाद उनकी सेहत में बहुत ज्यादा बदलाव आएगा।

हेपाटो-पैनक्रियाटो एक्सपर्ट डॉ अमित गिरमे का कहना है कि ऐसे ऑपरेशनों हमारे शरीर पर खासकर के डायजेस्टिव सिस्टम पर कोई लॉन्ग टर्म इफेक्ट नहीं पड़ता है।

गॉलब्लैडर रिमूवल सर्जरी का शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है? 

एक्सपर्ट अमित गिरमे के मुताबिक गॉलब्लैडर रिमूवल सर्जरी के बाद कुछ जरूरी चीज़े फॉलो करने की जरुरत होती है। हालांकि इसके बाद कुछ लोगों को पाचन से जुड़ी ( gallbladder removal effects on digestion) कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन ये समस्याएं केवल थोड़े समय के लिए ही होती हैं। लंबे समय में ये समस्याएं नुकसान नहीं पहुंचाती हैं। इसलिए, गॉलब्लैडर में पथरी होने की स्थिति में गॉलब्लैडर हटाने की सलाह की जाती है, क्योंकि इसका शरीर पर बहुत ज्यादा प्रभाव नही पड़ता।

लंबे समय तक भूखे रहने या बहुत अधिक डाइटिंग करने पर गॉल स्टोन की समस्या हो सकती है| चित्र : शटरस्टॉक

गॉलब्लैडर निकलने के बाद कैसे रखें अपना ख्याल

विशेषज्ञों के मुताबिक गॉलब्लैडर निकलने के बाद आपकी पाचन क्रिया पर असर पड़ता है। इसलिए आपको ज्यादा तला-भुना और मसालेदार खाने से परहेज रखना चाहिए। इसके साथ ही अपने कैफिन के सेवन पर भी कंट्रोल रखें और एक बार में खाने के बजाय कम-कम मात्रा में खाना शुरू करें।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़े – हेल्दी और स्ट्रेस फ्री प्रेगनेंसी के लिए हमेशा याद रखें ये 4 बातें

  • 144
लेखक के बारे में

यंग कंटेंट राइटर ईशा ब्यूटी, लाइफस्टाइल और फूड से जुड़े लेख लिखती हैं। ये काम करते हुए तनावमुक्त रहने का उनका अपना अंदाज है। ...और पढ़ें

अगला लेख