वैलनेस
स्टोर

क्या घुटनों में दर्द होने पर सुरक्षित है रस्सी कूदना? जानिए इस सबसे इफैक्टिव वेट लॉस एक्सरसाइज के बारे में

Published on:22 August 2021, 08:00am IST
रस्सी कूदकर आप सिर्फ दस मिनट में दो सौ कैलोरी तक बर्न कर सकती हैं। पर क्या घुटनों में दर्द होने पर आपको रस्सी कूदनी चाहिए?
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 111 Likes
rassi koodne ke fayde
घुटनों के दर्द में रस्सी कूदना. चित्र : शटरस्टॉक

बचपन में हम सबने रस्सी कूदी है और इसमें मज़ा भी बहुत आता है! ये एक ईएसआई कार्डियो एक्सरसाइज है जिससे वज़न सबसे तेज़ी से घटता है। परन्तु, यदि आपकी उम्र थोड़ी ज्यादा है या आपके घुटने कमज़ोर हैं, तब भी क्या रस्सी कूदना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है?

स्किपिंग सबसे फास्ट कैलोरी बर्नर है और ऐसा माना जाता है कि यह जोड़ों के लिए बहुत अच्छी है! पर क्या यह आपके लिए सही है? चलिए पता करते हैं –

स्किपिंग करने से कितनी कैलोरी बर्न होती हैं?

हैरानी की बात यह है कि रस्सी कूदने से एक मिनट में 10 कैलोरी बर्न होती है और साथ ही आपके पैर, बट, कंधे, पेट और बाहों को भी मजबूती मिलती है। हर दिन 10 मिनट रस्सी कूदने से आप 200 कैलोरी तक बर्न कर सकती हैं।

रस्सी कूदने के फायदे

वजन कम करने से लेकर जड़ों को मज़बूत करने तक रस्सी कूदने के कई फायदे हैं।

1. हृदय स्वास्थ्य में सुधार होता है

रस्सी कूदना सबसे अच्छी कार्डियो एक्सरसाइज है क्योंकि यह हृदय गति को बढ़ाती है। इससे हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा काफी कम हो सकता है।

rassi koodne ke fayde
रस्सी कूदना आपकी हार्ट हेल्थ के लिए फायदेमंद है। चित्र : शटरस्टॉक

2. एकाग्रता बढ़ाती है

हर कार्डियो एक्सरसाइज आपको अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करेगी और स्किपिंग उनमें से एक है। रस्सी कूदना आपके शरीर को शांत कर सकता है और आपकी एकाग्रता को बढ़ा सकता है।

3. अपनी हड्डियों को मजबूत बनाना

रस्सी कूदने से आपकी हड्डियों को ताकत मिलेगी और हड्डियों का घनत्व बढ़ेगा, जिससे ऑस्टियोपोरोसिस की संभावना कम हो जाती है। इसके अलावा ये वज़न कम करने का सबसे अच्छा तरीका है जो ऑस्टियोपोरोसिस का एक कारण है।

4. थकान से छुटकारा दिलाती है

लगातार काम करने से आप थका हुआ महसूस कर सकती हैं। स्किपिंग आपको अपनी सहनशक्ति में सुधार करने में मदद कर सकती है। जितना अधिक आप नियमित रूप से स्किपिंग करती हैं, उतना ही आपकी सहनशक्ति बढ़ती है। लगातार रस्सी कूदने का अभ्यास थकान से छुटकारा पाने में मदद कर सकता है।

rassi koodne ke nuksaan
अगर आपके घुटनों में दर्द रहता है तो रस्सी न कूदें. चित्र : शटरस्टॉक

जानिए किन लोगों को नहीं कूदनी चाहिए रस्सी

अगर आप शारीरिक रूप से बिल्कुल स्वस्थ हैं तो, रस्सी कूदना एक बेहतरीन एक्सरसाइज है और यह आपकी हड्डियों को भी मजबूती देगी। मगर, यदि आपको ह्रदय रोग है या घुटनों से संबंधित कोई समस्या है, तो आपको रस्सी नहीं कूदनी चाहिए, क्योंकि यह आपके कमज़ोर घुटनों पर बहुत ज्यादा प्रेशर डाल सकती है।

इसलिए, जिन लोगों को हड्डी या मांसपेशियों की समस्या है, उन्हें रस्सी कूदने से दूर रहना चाहिए। साथ ही गर्भावस्था, पीरियड्स और ह्रदय रोग में आपको रस्सी नहीं कूदनी चाहिए। यह आपके स्वास्थ्य के लिए समस्या पैदा कर सकती है। ऐसी स्थिति में वॉकिंग या सैर करना आपके लिए सबसे बेहतर व्यायाम है।

यह भी पढ़ें : ब्रेस्टफीडिंग से लेकर कट मार्क तक यहां हैं ब्रेस्ट इंप्लांट के बारे में सबसे ज्यादा पूछे जाने वाले सवालों के जवाब

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।